यूपीआई क्या है कैसे काम करती है | Upi Kya Hai In Hindi

What Is Upi ID Kya Hai Meaning Uses Type In Hindi : टेक्नोलॉजी की वजह से अब पैसे भेजने और पैसे प्राप्त करने के जैसे कामों को करने के लिए हमें बैंक में जाकर के लंबी लाइन नहीं लगानी पड़ती है, ना ही अपना समय व्यर्थ करना पड़ता है, क्योंकि अब टेक्नोलॉजी ने घर बैठे ही पैसे भेजना और पैसे प्राप्त करना पॉसिबल कर दिया है।

दरअसल यूपीआई की वजह से यह सब संभव हो पाया है। यूपीआई पेमेंट सिस्टम को सामान्य व्यक्ति के अलावा दुकानदारों के द्वारा भी अपनाया गया है और आज हमारे भारत देश में अधिकतर लोगों के पास यूपीआई आईडी उपलब्ध हो गई है। इस आर्टिकल में हम जानेंगे कि “यूपीआई क्या है” और “यूपीआई काम कैसे करता है” तथा “यूपीआई का फुल फॉर्म क्या है” और “यूपीआई आईडी क्या होती है।”

यूपीआई क्या है? Upi Means In Hindi

Contents show
यूपीआई क्या है कैसे काम करती है | Upi Kya Hai In Hindi

यूपीआई अर्थात यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस हमारे देश का एक महत्वपूर्ण ऑनलाइन पेमेंट सिस्टम है। यूपीआई सर्विस इस्तेमाल करने की सुविधा आपको विभिन्न एप्लीकेशन के द्वारा दी जाती है। 

आप यूपीआई की सर्विस देने वाली एप्लीकेशन पर अकाउंट क्रिएट करके अपने बैंक अकाउंट को अटैच कर सकते हैं और उसके पश्चात यूपीआई के द्वारा किसी भी एक बैंक अकाउंट से किसी भी दूसरे व्यक्ति के बैंक अकाउंट में अथवा दूसरे व्यक्ति की यूपीआई आईडी पर पैसे सेंड कर सकते हैं। सामने वाला व्यक्ति भी यही प्रक्रिया कर सकता है।

यूपीआई के द्वारा आपको सामने वाले व्यक्ति को पैसे भेजने के लिए सिर्फ उस व्यक्ति के फोन नंबर को याद रखने की आवश्यकता होती है अथवा यूपीआई आईडी को याद रखने की जरूरत होती है।

यूपीआई का मतलब क्या है? (UPI means Kya Hota Hai)

यूपीआई पेमेंट सिस्टम के द्वारा भेजे गए पैसे सामने वाले व्यक्ति के बैंक अकाउंट में तुरंत ही चले जाते हैं। इसलिए भारत में यूपीआई ट्रांजैक्शन करने वाले लोगों की संख्या करोड़ों में पहुंच गई है।

Telegram Group Join Now

UPI पेमेंट सिस्टम का सबसे बड़ा एडवांटेज यह है कि आपको सामने वाले व्यक्ति को पैसे भेजने के लिए उसके बैंक अकाउंट, आईएफएससी कोड, उसके नाम इत्यादि जानकारियों को याद रखने की आवश्यकता नहीं होती है।

आपको बस फोन नंबर की आवश्यकता होती है। यूपीआई आईडी के द्वारा आप तभी ट्रांजैक्शन कर सकते हैं, जब आप किसी प्लेटफार्म पर यूपीआई आईडी बना कर के रखे हो। 

यूपीआई का इस्तेमाल करने के लिए यूपीआई आईडी बनाना आवश्यक है तथा जिस व्यक्ति को आप पैसे भेज रहे हैं उसके पास अगर यूपीआई आईडी होगी तभी आप पैसे भेज सकेंगे। हालांकि आज के समय में लोगों के पास यूपीआई आईडी मौजूद होती है, क्योंकि इसके द्वारा पैसे भेजना आसान होता है और पैसे तेजी से भेजे जाते हैं।

यूपीआई का फुल फॉर्म (UPI Ka full form Kya Hai)

UPI: Unified Payments Interface 

यूपीआई का फुल फॉर्म यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस होता है। हिंदी भाषा में यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस को एकीकृत भुगतान इंटरफ़ेस कहा जाता है। 

जहां पहले बैंकों में पैसे किसी दूसरे व्यक्ति के अकाउंट में भेजने के लिए लंबी भीड़ लगती थी, वही यूपीआई की सुविधा की वजह से अब लोग घर बैठे ही दूसरे व्यक्ति के खाते में पैसे भेज रहे हैं और अपने खाते में पैसे प्राप्त भी कर रहे हैं। इससे बैंक में आने-जाने का खर्च कम हुआ है और समय की भी बचत हुई है।

यूपीआई आईडी क्या होती है? (What is UPI ID In hindi)

हर व्यक्ति की यूपीआई आईडी अलग-अलग होती है। यह एक प्रकार का अलग ही यूनिक एड्रेस होता है जो किसी भी यूजर की पहचान करने का काम करता है। यूपीआई आईडी 906734****@Payment. जैसी होती है। 

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि आपका जो बैंक अकाउंट है, उसी के साथ यूपीआई आईडी लिंक होती है। इसी आईडी का इस्तेमाल करते हुए आप किसी व्यक्ति को पैसे भेज सकते हैं और सामने वाले व्यक्ति से इसी आईडी के जरिए पैसे प्राप्त भी कर सकते हैं।

यूपीआई की शुरुवात कब हुई? (When was UPI started History)

भारत की रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया तथा नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया के द्वारा संयुक्त तौर पर मिलकर के साल 2016 में 11 अप्रैल के दिन भारत देश में यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस की शुरुआत की गई थी। 

तत्कालीन गवर्नर रघुराम राजन के द्वारा पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर तकरीबन 21 सदस्य बैंक के साथ मिलकर के देश में इस सुविधा का शुभारंभ किया गया था और वर्तमान के समय में देश की अधिकतर बैंक इस सुविधा के साथ जुड़ चुकी है।

अंदाज के अनुसार देश में मौजूद 250 से भी अधिक बैंक यूपीआई सुविधा को सपोर्ट करती है। यूपीआई सर्विस लॉन्च होने के पश्चात देश में इस सुविधा के साथ काम करने के लिए कई मोबाइल एप्लीकेशन भी लांच हुई। जैसे कि गूगल पे, भीम, भारत पे, फोन पे इत्यादि।

यूपीआई कैसे काम करता है (How does UPI work In hindi)

इस बात से आप भली-भांति परिचित है कि किसी भी व्यक्ति को उसके बैंक अकाउंट में पैसे भेजने के लिए हमारे पास उस व्यक्ति के बैंक अकाउंट का नंबर, बैंक अकाउंट होल्डर का नाम, अकाउंट का आईएफएससी कोड, ब्रांच इत्यादि की जानकारी होना अति आवश्यक है परंतु यूपीआई पेमेंट सिस्टम के अंतर्गत इन सभी चीजों की आवश्यकता हमें बिल्कुल भी नहीं पड़ती है,

क्योंकि यूपीआई पेमेंट सिस्टम ने यह संभव किया हुआ है कि हम सिर्फ सामने वाले व्यक्ति के फोन नंबर के द्वारा ही उस व्यक्ति के बैंक अकाउंट में पैसे पहुंचा सकें।

दरअसल आप किसी भी व्यक्ति को उसके फोन नंबर पर यूपीआई के द्वारा तभी पैसे भेज सकते हैं जब सामने वाला व्यक्ति भी यूपीआई पेमेंट सिस्टम का इस्तेमाल करता हो।

यूपीआई पेमेंट सिस्टम के लिए व्यक्ति के द्वारा अपने स्मार्टफोन में यूपीआई सिस्टम को सपोर्ट करने वाली मोबाइल एप्लीकेशन का इस्तेमाल किया जाता है।

मोबाइल एप्लीकेशन में वह अपने बैंक के साथ यूपीआई आईडी को जोड़ देता है और बैंक यूपीआई आईडी का वेरिफिकेशन करने के लिए अपने ग्राहक के पंजीकृत फोन नंबर पर ओटीपी वेरीफिकेशन की प्रक्रिया पूरी करती है।

ओटीपी वेरीफिकेशन की प्रक्रिया पूरी हो जाने के पश्चात यूपीआई पेमेंट सिस्टम मोबाइल एप्लीकेशन के साथ अटैच हो जाता है।

अब बैंक में पंजीकृत फोन नंबर पर जब आप यूपीआई एप्लीकेशन के द्वारा पैसे भेजते हैं तो वह पैसे सामने वाले व्यक्ति की यूपीआई आईडी से होकर के उस व्यक्ति के बैंक अकाउंट में पहुंच जाते हैं। इस प्रकार से यूपीआई आईडी काम करती है। 

यूपीआई के द्वारा भेजे गए पैसे सामने वाले व्यक्ति को इंस्टेंट प्राप्त हो जाते हैं अर्थात इमरजेंसी की अवस्था में किसी व्यक्ति को पैसे की आवश्यकता है तो यूपीआई बहुत काम की चीज साबित हो सकती है।

हर व्यक्ति की यूपीआई आईडी अलग-अलग होती है। आप जरूरत पड़ने पर अपनी यूपीआई आईडी को चेंज भी कर सकते हैं। यूपीआई आईडी को वर्चुअल पेमेंट ऐड्रेस भी कहा जाता है।

यूपीआई की सेवाएँ (UPI Services)

यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस के द्वारा अपने कस्टमर को मुख्य तौर पर दो प्रकार की सर्विस उपलब्ध कराई जाती है जिनमें पहली है वित्तीय सर्विस और दूसरी है गैर वित्तीय सर्विस। इन दोनों की जानकारी नीचे प्रस्तुत की जा रही है।

यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस की वित्तीय सर्विस

  • वित्तीय सर्विस के अंतर्गत यूपीआई के द्वारा अपने कस्टमर को निम्न सुविधाएं उपलब्ध की जाती है।
  • इसके अंतर्गत कस्टमर पैसे ट्रांसफर कर सकता है।
  • पैसे प्राप्त कर सकता है।
  • अपने बैंक अकाउंट में मौजूद बैलेंस को चेक कर सकता है।
  • किसी भी प्रकार के बिल की पेमेंट कर सकता है।
  • किसी भी प्रकार का रिचार्ज ऑनलाइन कर सकता है।
  • दूसरे यूपीआई यूजर को पैसे भेजने के लिए रिक्वेस्ट कर सकता है।

यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस की गैर वित्तीय सर्विस

  • अपने कस्टमर को गैर वित्तीय सर्विस के अंतर्गत यूपीआई निम्न सुविधाएं उपलब्ध करवाती है।
  • कस्टमर को पिन बनाने की सुविधा प्राप्त होती है।
  • कस्टमर को पिन चेंज करने की सुविधा प्राप्त होती है।
  • ओटीपी जनरेट करने की सुविधा हासिल होती है।
  • सभी प्रकार के ट्रांजैक्शन की पूरी डिटेल देखने की सुविधा मिलती है।
  • कस्टमर क्यूआर कोड बना सकता है।
  • कस्टमर अपने बैंक अकाउंट को जोड़ सकता है और हटा भी सकता है।
  • ट्रांजैक्शन के दरमियान आने वाली रुकावटो के बारे में इंक्वायरी कर सकता है।

यूपीआई के फायदे (Advantages of UPI In Hindi)

किसी व्यक्ति के द्वारा जब यूपीआई का इस्तेमाल किया जाता है तब उस व्यक्ति को कई फायदे प्राप्त होते हैं, तभी तो देश में करोड़ों लोगों के द्वारा यूनिफाइड पेमेंट इंटरफ़ेस का लाभ उठाया जा रहा है। यूपीआई के प्रमुख एडवांटेज अथवा यूपीआई के प्रमुख लाभ निम्नानुसार है।

यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस के द्वारा ऑनलाइन सुरक्षित तौर पर तेज गति के साथ पैसे भेजे जा सकते हैं और पैसे प्राप्त किए जा सकते हैं।

यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस के जरिए आप सामने वाले व्यक्ति को दिन भर के दरमियान कभी भी पैसे भेज सकते हैं अर्थात यह 24 घंटे काम करती है।

आप सिर्फ एक ही एप्लीकेशन के द्वारा यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस के जरिए अलग-अलग व्यक्ति के बैंक अकाउंट में पैसे भेज सकते हैं।

अगर आप ऑनलाइन ट्रांजैक्शन करने के लिए यूपीआई का इस्तेमाल करते हैं तो इसके लिए आपको एक्स्ट्रा फीस देने की आवश्यकता नहीं होती है।

अगर आपके पास सामने वाले व्यक्ति का फोन नंबर है तो आसानी से आप फोन नंबर के द्वारा ही सामने वाले व्यक्ति के बैंक अकाउंट में पैसे पहुंचा सकते हैं।

यूपीआई का इस्तेमाल करना बहुत ही सरल है। इसका इस्तेमाल करने के लिए किसी स्पेशल टैलेंट या फिर स्किल की आवश्यकता नहीं है।

यूपीआई के नुकसान (Disadvantages of UPI In Hindi)

जिस प्रकार से यूपीआई के कुछ फायदे हैं उसी प्रकार से यूपीआई के कुछ डिसएडवांटेज भी है। नीचे आपको यूपीआई के कुछ प्रमुख हानियों की जानकारी दी गई है।

अगर आप एक साथ बड़ा फंड किसी व्यक्ति के बैंक खाते में भेजना चाहते हैं तो यूपीआई आपको निराश कर सकता है क्योंकि यूपीआई के द्वारा आप एक बार में अधिक से अधिक ₹25000 ट्रांसफर कर सकते हैं।

किसी गलत व्यक्ति के हाथ में अगर आपका यूपीआई पिन चला जाता है तो वह आपके साथ धोखाधड़ी कर सकता है अर्थात आपके पैसे का गबन कर सकता है।

यूपीआई के दरमियान पैसे भेजने पर या फिर पैसे प्राप्त करने पर कभी-कभी सर्वर डाउन होने की वजह से पैसे रास्ते में ही अटक जाते हैं।

अगर आपके स्मार्टफोन में या फिर डिवाइस में अच्छी इंटरनेट की स्पीड है तो ही आप यूपीआई से तेज पैसे ट्रांसफर कर सकेंगे।

यूपीआई आईडी कैसे बनाएं? (How to Create UPI ID In Hindi)

नीचे हमने आपको भारत में काम करने वाली 5 ऐसी प्रमुख एप्लीकेशन की यूपीआई आईडी के एग्जांपल दिए हुए हैं जो सर्वश्रेष्ठ यूपीआई पर काम करने वाली एप्लीकेशन है। आप नीचे दिए हुए उदाहरण को देखकर समझ सकते हैं कि यूपीआई आईडी कैसी होती है। आप ऐसे ही अन्य आईडी यूपीआई प्लेटफार्म पर बना सकते हैं।

  1. Google Pay: 906734****@Okbankname
  2. PhonePe: 993823****@Ybl
  3. BHIM App: 903310****@UPI
  4. Paytm : 840165****@Paytm
  5. MobiKwik: 906734****@Ikwik

यूपीआई एप कैसे इस्तेमाल करें? (how to use upi app In hindi)

नीचे स्टेप बाय स्टेप यूपीआई ऐप इस्तेमाल करने की प्रक्रिया दर्शाई गई है।

1: यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस पर आधारित एप्लीकेशन का इस्तेमाल करने के लिए सबसे पहले आपको गूगल प्ले स्टोर से किसी भी यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस को सपोर्ट करने वाली एप्लीकेशन को डाउनलोड करके इंस्टॉल कर लेना है। एप्लीकेशन का नाम आर्टिकल में प्रस्तुत किया गए हैं।

2: अब आपको एप्लीकेशन ओपन करना है और उसके पश्चात जिस बैंक में आपका खाता है आपको उस बैंक का सिलेक्शन कर लेना है। इसके बाद आपको रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया को पूरा करना है।

3: रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया का पालन करने के दरमियान आपको ऐप खोलने के लिए पासवर्ड अथवा पिन का सेटअप भी कर लेना है।

4: अब आपको अपने बैंक अकाउंट का भी सिलेक्शन कर लेना है। इसके पश्चात सिलेक्ट किए गए अकाउंट से कनेक्ट होने वाले एक वर्चुअल पेमेंट ऐड्रेस अथवा यूपीआई आईडी का निर्माण करना है।

5: अब आपको जो वर्चुअल पेमेंट ऐड्रेस आईडी प्राप्त हुई है उसी के द्वारा आपके सिलेक्ट किए गए खाते में पैसे भेजे जाएंगे।

6: अपने अकाउंट से पैसा निकालने के लिए आपको यूपीआई पिन की आवश्यकता होगी। इसलिए अगर आपने पहले से ही यूपीआई पिन बना लिया है तो आप यहां पर उसका इस्तेमाल कर सकते हैं और अगर आपने यूपीआई पिन नहीं बनाया है तो आपको अपना यूपीआई पिन अवश्य बना लेना है।

यूपीआई पिन का सेटअप करने के लिए आपको अपने डेबिट कार्ड की आवश्यकता होगी। डेबिट कार्ड में दर्ज जानकारियों को दर्ज करने के पश्चात यूपीआई पिन बन जाएगा।

इसके बाद आप अपने बैंक खाते से यूपीआई के द्वारा किसी भी दूसरे व्यक्ति के बैंक अकाउंट में या फिर फोन नंबर पर पैसे भेज सकते हैं और सामने वाला व्यक्ति भी आपको पैसे भेज सकता है।

यूपीआई सर्विस प्रोवाइडर एप की लिस्ट 2022

हमारे देश में वर्तमान के समय में विभिन्न बैंक और मोबाइल एप्लीकेशन के द्वारा ग्राहकों की सुविधा को देखते हुए यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस की सुविधा उपलब्ध करवाई गई है, जिनमें से प्रमुख प्लेटफार्म की सूची निम्नानुसार है।

  • BHIM UPI
  • PhonePe
  • SBI Pay
  • HDFC Bank Mobile Banking
  • ICICI Pockets
  • Axis Pay
  • Union Bank UPI App
  • PNB UPI
  • eMpower Canara Bank UPI
  • UCO UPI
  • Vijaya UPI
  • OBC UPI
  • PayTM App
  • Baroda MPay
  • MAHAUPI
  • KayPay
  • Yes Pay

यूपीआई सर्विस प्रोवाइडर बैंक की लिस्ट 2022

देश में वर्तमान के समय में 250 से भी अधिक अलग-अलग सेक्टर की बैंकों के द्वारा यूपीआई की सुविधा अपने ग्राहकों को दी जा रही है। नीचे हमने कुछ प्रसिद्ध यूपीआई सर्विस प्रदान करने वाले बैंक की सूची प्रस्तुत की हुई है।

  • भारतीय स्टेट बैंक
  • यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया
  • यूको बैंक
  • यूनियन बैंक ऑफ इंडिया
  • ऐक्सिस बैंक
  • बैंक ऑफ महाराष्ट्र
  • केनरा बैंक
  • डीसीबी 
  • फेडरल बैंक
  • कर्नाटक बैंक 
  • पंजाब नेशनल बैंक
  • साउथ इंडियन बैंक
  • आईडीबीआई बैंक 
  • कोटक महिंद्रा बैंक
  • आईसीआईसीआई बैंक 
  • एचडीएफसी 
  • बैंक ऑफ बड़ौदा

यूपीआई की विशेषताएं 

यूपीआई की विशेषताएं निम्नानुसार है।

  • यूपीआई का इस्तेमाल करके हम साल के 365 दिन 24 घंटे में कभी भी पैसे का आदान-प्रदान कर सकते हैं।
  • एक ही एप्लीकेशन का इस्तेमाल करके यूपीआई के द्वारा अलग-अलग बैंक अकाउंट में पैसे भेजे जा सकते हैं।
  • यूपीआई आईडी की वजह से हमें बार-बार व्यक्ति के बैंक अकाउंट को याद रखने की अथवा दर्ज करने की आवश्यकता नहीं होती है।
  • यूपीआई के द्वारा अलग-अलग प्रकार के पेमेंट की सुविधा दी जाती है।
  • यूपीआई आपको यह भी सुविधा देता है कि आप सामने वाले व्यक्ति से पैसे भेजने की रिक्वेस्ट कर सके।
  • पैसे के आदान-प्रदान से संबंधित किसी भी प्रकार की शिकायत करने की सुविधा भी यूपीआई के द्वारा दी जाती है।
  • यूपीआई गवर्नमेंट और गवर्नमेंट उपक्रमों के द्वारा विकसित पेमेंट सिस्टम है।
  • यूपीआई तेजी से और सुरक्षित तौर पर पैसे ट्रांसफर कर सकता है।
  • यूपीआई का इस्तेमाल करना बहुत ही आसान है। इसे इस्तेमाल करने के लिए किसी टेक्निकल जानकारी का होना आवश्यक नहीं है।

Upi Kya Hai FAQ: 

Q: UPI क्या है और कैसे काम करता है?

ANS: यूपीआई का मतलब क्या है और यूपीआई किस प्रकार से काम करता है, इससे संबंधित सारी जानकारी हमने आर्टिकल में उपलब्ध करवाई हुई है। इसलिए आर्टिकल को ध्यान से पढ़ें।

Q: मेरा यूपीआई क्या है?

ANSअपना यूपीआई पता करने के लिए आप जिस एप्लीकेशन का इस्तेमाल करते हैं उसे ओपन करें और अपनी प्रोफाइल वाले ऑप्शन पर जाएं, वहां पर आपको अपना यूपीआई दिखाई देगा।

Q: UPI पिन कैसे प्राप्त करें?

ANS: आप यूपीआई को समर्थन देने वाले किसी एप्लीकेशन पर यूपीआई आईडी बना सकते हैं और अपना यूपीआई पिन प्राप्त कर सकते हैं।

Q: यूपीआई कैसे इस्तेमाल करें?

ANS: यूपीआई इस्तेमाल करने का तरीका आर्टिकल में हमने आपके साथ शेयर किया हुआ है।

Q: यूपीआई को हिंदी में क्या कहते हैं?

ANS: यूपीआई अर्थात यूनिफाइड पेमेंट इंटरफ़ेस को हिंदी भाषा में एकीकृत भुगतान अन्तराफलक कहा जाता है। इसकी शुरुआत साल 2016 में 11 अप्रैल के दिन हुई थी।

यह भी पढ़े

उम्मीद करते है फ्रेड्स यूपीआई क्या है कैसे काम करती है | Upi Kya Hai In Hindi का यह आर्टिकल आपको पसंद आया होगा. यहाँ हमने सरल भाषा में यूपीआई के बारे में बेसिक डिटेल्स दी हैं.

यह लेख आपको कैसा लगा, आपके कोई सुझाव या सवाल हो तो भी कमेन्ट कर अपनी प्रतिक्रिया जरुर देवे, इस तरह के तकनीकी से जुड़े लेख पढ़ने के लिए अपने इस ब्लॉग से जुड़े रहे.

Leave a Comment