विजय रूपाणी का जीवन परिचय Vijay Rupani Biography In Hindi

विजय रूपाणी का जीवन परिचय Vijay Rupani Biography In Hindi : वर्तमान में गुजरात राज्य के मुख्यमंत्री और भारतीय जनता पार्टी के कद्दावर नेता विजय रूपाणी एक अनुभवी राजनीतिज्ञ हैं. इनका जन्म 2 अगस्त 1956 बर्मा रंगून में हुआ था. इनके माता-पिता का नाम मायाबेन और रमणिकलाल रूपाणी हैं. 1960 में ये बर्मा से राजकोट (गुजरात) में आ गये, और यही पर बस गये. वर्तमान में लगातार दूसरी बार गुजरात के मुख्यमंत्री तथा भारतीय जनता पार्टी के गुजरात प्रदेश अध्यक्ष के पद पर रूपाणी कार्यरत हैं. अपनी स्वच्छ छवि के लिए जाने जाते हैं विजय रूपाणी, को अमित शाह और नरेन्द्र मोदी के करीबियों में गिना जाता हैं, वे जैन समुदाय से आता हैं. विजय रूपाणी जीवन परिचय में रूपाणी की जाति, आयु, बेटा, बेटी, राजनितिक करियर, कांटेक्ट नंबर तथा उनसे जुड़े तमाम पहलुओं पर विस्तृत चर्चा करेगे.

विजय रूपाणी का जीवन परिचय Vijay Rupani Biography In Hindi

विजय रूपाणी का जीवन परिचय Vijay Rupani Biography In Hindi

CM रूपाणी का आरंभिक जीवन  (Early life of Vijay Roopani)

1960 को बर्मा में राजनितिक अस्थिरता के चलते रुपानी परिवार पश्चिमी राजकोट आ बसे. उस समय विजय रूपाणी मात्र चार साल के थे. यही से उनके निजी जीवन की शुरुआत हुई.

सौराट्र के इस इलाके में बड़ी संख्या में बर्मा से विस्थापित जैन बनिया जाति के लोग रहे हैं. रूपाणी ने बीए, एलएलबी तक की पढ़ाई धर्मेंद्र सिंहजी कला महाविद्यालय राजकोट तथा सौराष्ट्र विश्विद्यालय राजकोट से पूर्ण की.

ये अपने विद्यार्थी जीवन से ही राजनीती में सक्रिय थे. वर्ष 1971 में विद्यालयी शिक्षा के समय ही इन्होने भारतीय जनसंघ तथा राष्ट्रीय स्वयसेवक संघ (RSS) की विधिवत सदस्यता ग्रहण की.

कुछ समय बाद भारतीय जनता पार्टी के अस्तित्व में आने के साथ ही राजकोट से बीजेपी में शुरूआती समय में शामिल होने वाले नेताओं में विजय रूपाणी अग्रणी थे.

विजय रूपाणी का राजनितिक करियर

कई वर्षों तक निष्भाव से पार्टी के कार्यरत के रूप में पूर्ण निष्ठा के साथ कार्य करते रहे. वर्ष 2006 में पहली बार राज्यसभा के सदस्य चुने गये थे. 2012 तक रूपाणी इस पद पर बने रहे तथा 2014 से पश्चिमी राजकोट से पहली बार विधायक चुने गये.

7 अगस्त 2016 को आनंदीबेन के बाद 16वें मुख्यमंत्री में विजय रूपाणी ने शपथ ली थी. 26 दिसंबर 2017 को दूसरी बार गुजरात के मुख्‍यमंत्री पद की शपथ ली, तथा बहुमत के नेता के तौर पर चुने गये हैं तथा वर्तमान में इस पद पर कार्यरत हैं.

वर्ष 1987 में रूपाणी कॉरपोरेटर बने, राजनीति में औपचारिक तौर पर यह उनका पहला कदम था, इसके पश्चात ये राजकोट से मेयर भी चुने गये. वर्ष 2013-16 आनंदीबेन सरकार में इन्हें परिवहन, जल संसाधन व श्रम रोजगार प्रभार सौपा गया था.

विजय रूपाणी गुजरात नगर वित्त के अध्यक्ष पर रहने के अतिरिक्त लगातार चार बार राज्य बीजेपी प्रेजिडेंट चुने गये. वर्तमान रूपाणी मंत्रिमंडल में 25 मंत्री में से आठ पाटीदार (पटेल) समुदाय से हैं.

विजय रूपाणी गुजरात राजनीति का एक चर्चित नाम हैं. वर्ष 2016 के राष्ट्रपति शासन के दौरान इन्हें जेल भी जाना पड़ा था. वर्ष 2016-17 में पाटीदार आंदोलन के चलते गुजरात में बीजेपी पाँव उखड्ती नजर आ रही थी.

उस स्थति में रूपाणी को पार्टी ने मुख्यमंत्री का अहम कार्यभार दिया, जिन्होंने व केवल पाटीदार नेताओं के साथ सामजस्य बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की, बल्कि बीजेपी को भारी बहुमत से जीत दिलाने का श्रेय इन्ही को जाता हैं.

रूपाणी सरकार द्वारा पाटीदार समुदाय के लिए विशेष प्रावधान व योजनाएं प्रारम्भ की हैं, जिनमें से आर्थिक रूप से कमजोर छात्र छात्राओं को उच्च शिक्षा हेतु पचास फीसदी सरकारी अनुदान, पाटीदार नेताओं तथा युवकों के खिलाफ सभी केस वापिस ले लिए गये तथा सभी बंद किये गये व्यक्तियों को रिहा किया गया.

इसके अतिरिक्त उन्होंने समाज सेवा के क्षेत्र में निरंतर सेवाभाव का कार्य कर रहे हैं. उनकी पुत्री पूजित के आकस्मिक निधन के बाद, इन्होने उन्ही के नाम एक ट्रस्ट की शुरुआत की.

इस संस्था द्वारा निर्धन परिवार के छात्रों को विद्यालयी व उच्च शिक्षा का प्रबंध किया जाता हैं, समाज सेवा के अतिरिक्त गौसेवा में विजय रूपाणी का विशेष रुझान हैं.

यह भी पढ़े

Please Note :- अगर आपको हमारे Vijay Rupani Biography In Hindi Cast, Family, Contact Number, Son & Daughter अच्छे लगे तो जरुर हमें Facebook और Whatsapp Status पर Share कीजिये.

Note:- लेख अच्छा लगा हो तो कमेंट करना मत भूले. This Vijay Rupani Biography used on:- विजय रूपाणी का जीवन परिचय इन हिंदी, Vijay rupani biography in Hindi, Vijay rupani biography in Gujarati, vijay rupani full biography.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *