सूर्यकुमार यादव का जीवन परिचय Suryakumar Yadav Biography in Hindi

क्रिकेटर सूर्यकुमार यादव जीवन परिचय Suryakumar Yadav Biography in Hindi आज का हमारे देश का सबसे लोगप्रिय खेल क्रिकेट है. इस खेल के दीवाने लाखो है. कुछ देखना पसंद करते है, तो कुछ खेलना. इस खेल में सचिन तेंदुलकर, महेंद्रसिंह धोनी तथा विराट कोहली जैसी खिलाडी हुए है. जिन्होंने दर्शको के दिल में खुद की जगह बना ली है.

सूर्यकुमार यादव जीवन परिचय Suryakumar Yadav Biography in Hindi

सूर्यकुमार यादव जीवन परिचय Suryakumar Yadav Biography in Hindi

आज हर भारतीय क्रिकेट का जूनून रखता है, पर कुछ ही गिने चुने खिलाडी ही अन्तर्राष्ट्रीय क्रिकेट तक पहुँच पाते है, जो अपना बेहतर प्रदर्शन हमेशा जारी रखता है, उसे आगे खेलने का अवसर दिया जाता जाता है.

क्रिकेटर सूर्यकुमार यादव का जीवन परिचय, Biodata Surya Kumar Yadav Biography In Hindi

पूरा नामसूर्य कुमार अशोक यादव
उपनामSKY
जन्म14 सितंबर 1990
आयु31 वर्ष
पिता का नामअशोक कुमार यादव
माता का नामस्वप्ना यादव
पत्नीदेविषा शेट्टी
धर्महिन्दू
नागरिकताभारतीय
व्यवसायक्रिकेटर
पर्दापण2021 (अंतर्राष्ट्रीय)
आईपीएल टीममुंबई (वर्तमान)
कोचविनोद कुमार यादव, चंद्रकांत पंडित

भारतीय टीम में खिलाडियों की कोई कमी नहीं है, पर आज भारत के पास एक से बढ़कर एज युवा खिलाडी है, जो पहली गेंद से विरोधी टीम के छक्के छुड़ा सकते है. उन्ही में से एक है, स्काई नाम से प्रसिद्ध सूर्यकुमार यादव जो अपनी ताबड़तोड़ बेटिंग के लिए जाने जाते है.

सूर्य कुमार यादव का पूरा नाम सूर्यकुमार अशोक यादव है. इनके पिताजी का नाम अशोक यादव है. तथा माता का नाम स्वप्ना यादव है. सूर्यकुमार एक क्रिकेटर है.

सूर्यकुमार अशोक यादव का जन्म 14 सितंबर 1990 को वाराणसी उत्तरप्रदेश में हुआ था. कुछ समय बाद ही सूर्यकुमार का सम्पूर्ण परिवार उत्तरप्रदेश से मुंबई शहर में चले गए. सूर्यकुमार एक मध्यम परिवार से थे.

जिसका सपना बचपन से ही होता है. उसे सफलता जल्द ही मिलती है. सूर्यकुमार यादव बचपन से ही सभी खेलो में निपुण थे. हर समय खेलते रहना इनका नित्यकर्म था.

सूर्यकुमार ने मात्र 10 साल की आयु में अपना लक्ष्य निर्धारित कर लिया था. सूर्यकुमार बचपन से क्रिकेट और बैंटमिन्टन के शौक़ीन थे. पर उनके पिता समझदार थे, उन्होंने सूर्या को एक खेल का चयन के लिए कहा इस पर सूर्य ने विचार विमर्श कर क्रिकेट को अपना करियर चुना.

क्रिकेट को अपना करियर बनाने के सपने को लेकर सूर्यकुमार ने क्रिकेट का अभ्यास शुरू कर दिया. गल्ली क्रिकेट में सूर्या के अच्छे प्रदर्शन के कारण सूर्या को क्रिकेट के आगे बढ़ने के लिए प्रेरित किया.

यादव का पहला क्रिकेट कोच उनके चाचाजी विनोद यादव बने और उन्होंने सूर्या को खूब जमकर अभ्यास करवाया जिस कारण कारण सूर्या काफी प्रतिभाशाली बन चुके थे.

सूर्यकुमार की शिक्षा

सूर्यकुमार ने चाचा से अभ्यास करने के बाद वेंगसरकर क्रिकेट अकादमी में दाखिला लिया. और रात दिन को एक कर अपने इस विशाल लक्ष्य की ओर बढ़ने लगे. सूर्या ने क्रिकेट के साथ साथ पढाई को भी संभाल रखा था.

सूर्यकुमार ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा परमाणु ऊर्जा केंद्रीय विद्यालय, मुंबई से की. सूर्यकुमार ने प्रारंभिक से उच्च शिक्षा तक मुंबई से प्राप्त की. शुरूआती जीवन में ही क्रिकेट का नशा चढ़ जाने के कारण सूर्यकुमार शिक्षा में पीछे रह गए.

कुमार ने परमाणु ऊर्जा जूनियर कॉलेज (मुंबई) तथा पिल्लई कॉलेज ऑफ आर्ट्स, कॉमर्स एंड साइंस, मुंबई से अपनी शिक्षा को पूर्ण किया. और वाणिज्य में स्नातक की डिग्री को प्राप्त किया.

सूर्यकुमार विद्यालय की टीम की ओर से क्रिकेट खेलते थे. विद्यालय के लिए कई बार टूर्नामेंट जीतने में सूर्यकुमार ने अपनी अहम भूमिका निभाई थी.

बचपन से ही क्रिकेट आकादमी में जाने के कारण सूर्यकुमार ने अंडर 16, अंडर 19 तथा अंडर 23 के टूर्नामेंट में भी भाग लिया. और अपनी प्रतिभा को सबके सामने प्रस्तुत किया. सूर्यकुमार के प्रदर्शन के कारण इन्हें प्रथम श्रेणी टीम में खेलने का मौका मिला.

सूर्यकुमार यादव का क्रिकेट करियर

प्रथम श्रेणी में सूर्यकुमार मुंबई की टीम की ओर से खेले जिसमे उन्होंने एक अर्द्धशतकीय पारी भी खेली जिसमे उन्होंने 73 रन बनाए. लगातार प्रथम श्रेणी क्रिकेट में अच्छे प्रदर्शन के चलते इन्हें आईपीएल 2012 में मुंबई की टीम ने ख़रीदा था.

सूर्यकुमार का आईपीएल करियर की शुरुआत 2012 से हुई पर इन्हें मुंबई की टीम ने ख़रीदा लेकिन खिलाडियों की जरुरत नहीं होने के कारण इन्हें मैदान में नहीं उतारा गया. क्योकि उस समय सचिन,रोहित तथा युवराज जैसे धाकड़ खिलाडी मुंबई में थे.

दो साल के इन्तजार के बाद 2014 की नीलामी में कोलकता की टीम ने महंगे दामो में सूर्यकुमार को खरीदकर अपनी टीम में शामिल कर दिया. कोलकता की ओर से तीन साल आईपीएल खेलने वाले सूर्यकुमार ने अपना बेहतर प्रदर्शन दिखाया.

कोलकता की टीम की ओर से लगातार बेहतर प्रदर्शन के चलते मुंबई की टीम ने 2017 आईपीएल नीलामी में वापस सूर्यकुमार को 3 करोड़ से अधिक दामो के साथ 2017 के सबसे महंगे खिलाडी के रूप में ख़रीदा.

सूर्यकुमार ने अपने इस मूल्य को अपने प्रदर्शन से साबित किया. और लगातर 2018, 2019,2020 व् 2021 में मुंबई के लिए बेहतर प्रदर्शन किया. ओर दो बार मुंबई को आईपीएल चैम्पियन बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी.

आईपीएल में अच्छा खेल दिखाने के कारण आखिर वह समय आ ही गया, जब 14 मार्च 2021 में पहली बार इंग्लैंड के खिलाफ सूर्यकुमार यादव को अन्तर्राष्ट्रीय भारतीय टीम की ओर से मैदान में उतारा गया. इस मैच में सूर्यकुमार की बैटिंग नहीं आई और भारत जीत गया.

18 मार्च 2021 को सूर्यकुमार को बल्लेबाजी का मौका मिला. अपने डेब्यू मैच की पहली बोल पर छक्का मारने वाले बल्लेबाज बने सूर्यकुमार और पहली गेंद से ही रिकॉर्ड की बोछार कर दी. इस मैच में सूर्यकुमार ने अर्द्धशतकीय पारी खेलकर टीम को जीत दिलाई.

सूर्यकुमार के रिकॉर्ड

  • 2010-11 में अंडर -22 टूर्नामेंट में 1000 से अधिक रन बनाकर अपनी टीम को एमए चिदंबरम ट्रॉफी जीत दिलाई.
  • सूर्यकुमार यादव ने 2011-12 के सत्र में मुंबई की ओर से रणजी ट्रोपी में उड़ीसा के खिलाफ दोहरा शतक जड़ा.
  • 2011-12 में रणजी ट्रॉफी के सत्र में  754 रन बनाकर इस सत्र के सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज बनें.

सूर्यकुमार विवाह/गर्लफ्रेंड surykumar wife/love

सूर्यकुमार विवाहित है, जिन्होंने 7 जुलाई 2016 अपनी पसंदीदा दिविषा शेट्टी से विवाह किया. जो कि एक प्रसिद्ध नृत्यकार है. सूर्यकुमार और दिविषा शेट्टी का मिलन 2012 में हुआ जब सूर्यकुमार मुंबई के कॉलेज में पढ़ते थे.

पहली बार मिलन से ही सूर्यकुमार ने निश्चय कर लिया था. कि वह दिविषा शेट्टी से ही विवाह करेंगे. और उनके दिवाले हो गए. सूर्यकुमार ने 2016 में अपने इस सपने को पूरा किया. सूर्यकुमार को दिविषा शेट्टी के डांस बहुत पसंद आते थे.

यह भी पढ़े

प्रिय दर्शको उम्मीद करता हूँ, आज का हमारा लेख क्रिकेटर सूर्यकुमार यादव जीवन परिचय Suryakumar Yadav Biography in Hindi आपको पसंद आया होगा, यदि लेख अच्छा लगा तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें.

अपने विचार यहाँ लिखे