आधार कार्ड पर निबंध Essay On Aadhar Card In Hindi

आधार कार्ड पर निबंध Essay On Aadhar Card In Hindi आज के युग में बिना पहचान के एक दिन भी गुजारना मुश्किल रहता हैं. साथ ही इतनी बड़ी जनसंख्या को एक पहचान देना बेहद जटिल काम हैं, चारों ओर अव्यवस्था का माहौल सा तैयार हो जाता हैं. दूसरी तरफ सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त पहचान के बिना कोई कार्य करना संभव नही हैं. एक व्यक्ति एक पहचान का अब तक निश्चित फौर्मुला ना होने के कारण देश में भ्रष्टाचार को बहुत बढ़ावा मिला. खासकर सरकारी योजनाओं और सुविधाओं में किसी व्यक्ति का लाभ कोई दूसरा जाली पहचान पत्र से ले जाता. इस बड़ी समस्या से निपटने का एक ही रास्ता था. एक ऐसा पहचान पत्र तैयार किया जाए, जिन्हें स्वयं के अलावा कोई दूसरा उपयोग नही कर सके. इसी क्रम में भारत के लोगों के लिए आधार कार्ड योजना (विशिष्ट पहचान संख्या) की शुरुआत की गईं.

आधार कार्ड पर निबंध Essay On Aadhar Card In Hindi

आधार कार्ड पर निबंध Essay On Aadhar Card In Hindi

आधार क्या हैं? aadhar card kya hai

यूनिक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी (unique identification authority of india government of india) uida ने भारत के सभी निवासियों के लिए 12 अंको की एक विशिष्ट पहचान संख्या जिन्हें आधार कार्ड संख्या भी कहते हैं इसे जारी की.

जारी इस पहचान पत्र में व्यक्ति की मूल जानकारी के साथ-साथ उनकी तस्वीर,फोटो उनके अंगुलियों की प्रिंट आँखों की पुतली की छाप को भी इसमे समाहित किया गया हैं.

बिना किसी जाति धर्म के यह आधार पहचान पात्र सभी भारतीयों के लिए समान होगा. यूनिक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ने हाल ही में एक एंड्राइड मोबाइल application भी जारी की हैं. इसमे अपने आधार कार्ड नंबर डालने के बाद आपकों अपने साथ आधार कार्ड लेकर कही जाने की जरुरत नही रहेगी.

aadhar card jankari

यह आधार पहचान कार्ड सभी व्यक्तियों के लिए अलग-अलग आधार संख्या के साथ बनाया जाता हैं. आधार कार्ड बनवाने के लिए अधिकतम आयु की कोई सीमा नही रखी गईं हैं,

किसी भी न्यूनम आयु के बच्चे का आधार कार्ड बनवाया जा सकता हैं. यह पहचान पत्र बनाना बिलकुल आपकी मर्जी पर आधारित हैं.

आप चाहे तो इसे बनवाएँ ना चाहे तो न बनवाएँ इस पर कोई रोक नही हैं. मगर यह एक अनुचित कार्ड न होकर आपकी दिनचर्या में प्रत्येक स्थान पर काम आने वाला हैं, इसलिए तमाम परेशानियां ना झेलकर हमे अपना आधार कार्ड बनवा लेना चाहिए.

आधार कार्ड की जानकारी

भारत के योजना आयोग द्वारा भारत के लोगों को एक नई पहचान के प्रमाण पत्र की आवश्यकता समझी इस लिहाज से निम्न वर्ग के लोगों को विभिन्न सरकारी कल्याणकारी योजनाओं का सीधा लाभ उन्हें मिल सके इसके लिए वर्ष 2006 में आधार कार्ड योजना की शुरुआत की.

भारत के योजना आयोग ने इस प्रोजेक्ट पर काम करते हुए संचार एवं सूचना प्रोद्योगिकी मंत्रालय से इस बाबत गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वालों लोगों के लिए एक विशिष्ट पहचान नंबर का फौर्मुला साझा किया.

4 नवम्बर को केबिनेट ने इसके लिए यूनिक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी (unique identification authority of india government of india) uida का गठन किया.

युआइडी कमेटी में अध्यक्ष तथा इनके सदस्य होते हैं. यह संस्था uida के कार्य और उनकी नीतियों के निरक्षण का कार्य करती हैं.

यह अथॉरिटी प्रत्येक वर्ष अपने कार्यो का मुल्यांकन करने के साथ ही प्रतिवर्ष बनाएँ जाने वाले आधार कार्ड संख्या का लक्ष्य तय करती हैं. इस लक्ष्य को पूरा करने के लिए अथॉरिटी ने भारत की मुख्य बैंक का भी सहारा लिया. जहाँ जाकर लोग अपना आधार कार्ड बनवा सके.

eaadhaar uidai gov in hindi

वर्तमान के आधार कार्ड को पहले युआईडी कहा जाता था. अब इन्हे बदलकर आधार कार्ड कर दिया गया हैं. एक जटिल और अंग्रेजी भाषा का शब्द होने के कारण लोग इनके नाम को नही समझ पाए थे, जबकि आधार एक आसान नाम होने के कारण आसानी से लोगों की समझ में आता हैं.

जो इसे आईयूडी कहता तो कोई डीयुआई प्रत्येक व्यक्ति से जुड़ा विषय होने के कारण यह नाम बेहद जटिल रहा था. तभी एक ऐसा नाम रखा गया” आधार कार्ड” जिनका शब्दिक अर्थ बुनियाद से जुड़ा हैं.

ऐसे में लोगों को यह शब्द बेहद आसानी से याद और उनकी भावनाओं के साथ बस सके. महाराष्ट्र राज्य की नंदुरबार जिले की निवासी रंजना सोनावने आधार कार्ड प्राप्त करने वाली प्रथम व्यक्ति बनी थी. इनका आधार कार्ड 29 सितम्बर 2010 को जिनकी आधार संख्या 782474317884 थी.

आदार काड कैसे बनाएँ,आधार कार्ड कैसे बनाये 

aadhaar card बनाने के लिए बस आपकों भारतीय नागरिक होना जरुरी हैं. वह प्रत्येक इंसान जो भारतीय है, अपना आधार कार्ड बनवा सकते हैं, इसके लिए आपकों स्थानीय मिडिया से यह जानकारी प्राप्त करनी होगी, कि आधार कार्ड सेंटर आपके क्षेत्र में कहाँ हैं. इसके लिए आधार आधार सेंटर अथवा कैंप में जाकर अपना आधार कार्ड बनवा सकते हैं.

यहाँ आपकों अपनी पहचान से जुड़े कुछ दस्तावेज ले जाने की भी आवश्यकता हैं. आधार ऑनलाइन बनवाते समय आपकों सभी दस अंगुलियों एवं आँख की पुतली के बायोमेट्रिक स्कैनिग करवाना पड़ता हैं.

आधार सेंटर पर आपकी तस्वीर भी ली जाएगी और बदले में आपकों आधार पंजीयन संख्या (aadhaar registration number) दिए जाएगे. aadhaar registration के एक महीने में आपके गृहपते पर डाक के द्वारा uida द्वारा आपका आधार कार्ड सुपुर्द कर दिया जाएगा.

आधार कार्ड के फायदे (benefits of Aadhar card In Hindi)

  • इस कार्ड को आप देशभर अपने अपनी आइडेंटिटी कार्ड के रूप में उपयोग कर सकते हैं.
  • बैक खाता खुलवाने,ड्राइविंग लाइसेंस और पासपोर्ट बनाने में आधार कार्ड अनिवार्य हैं.
  • आधार बनाने के बाद आपकों और कोई पहचान पत्र बनवाने की आवश्यकता नही रहेगी.
  • इससे गरीबो की पहचान का उपयोग कोई दूसरा नही कर पाएगा.
  • कल्याणकारी योजनाओं का लाभार्थी ही उसका उपयोग कर सकेगा.
  • देश से भ्रष्टाचार की नस काटने में यह मददगार साबित होगा.
  • आधार कार्ड प्रत्येक भारतीय की सुख समर्धि का भागीदार होगा.

आधार कार्ड डाउनलोड कैसे करे (How To Download Aadhar Card In Hindi)

यदि आपके पास अपने आधार नंबर हैं, तो आप आधार कार्ड चेक कर सकते हैं इसे अपने मोबाइल या कंप्यूटर से uidai की अधिकारिक वेबसाइट से डाउनलोड भी कर सकते हैं. आधार डाउनलोडिंग के लिए इन निर्देशों का पालन करे.

  • सबसे पहले इस वेबसाइट को क्रोमा ब्राउज़र में ओपन करे – http://uidai.gov.in/
  • Aadhaar Services के आप्शन पर क्लिक करे.
  • अब गेट ई-आधार के आप्शन पर क्लिक अथवा ओके करे.
  • अब आपके सामने एक रेडियों बटन होगा उस पर क्लिक करे और आने वाले फॉर्म में पूछी गयी सभी जानकारी सही सही भरे.
  • फिर अपने 12 डिजिट के आधार नंबर दर्ज करे.
  • आधार में दर्ज अपना पूरा नाम डाले.
  • सुरक्षा कैप्चा भरे
  •  get one time password यानि अपने मोबाइल नंबर पर OTP प्राप्त करे.
  • अब अगले पेज पर दिए गये रिजिस्टर मोबाइल नंबर के OTP इंटर करे.
  • अपने आधार कार्ड को मोबाइल या कंप्यूटर में डाउनलोड करने के लिए डाउनलोड बटन पर क्लिक करे.
  • यदि इसे प्रिंट के जरिए निकालना हैं तो फाइल पर क्लिक कर प्रिंट आउट निकाल सकते हैं.

How To Link Aadhar Card To Mobile घर बैठे मोबाइल नंबर को आधार से लिंक

आप सभी जानते है की आज आधार कितना अनिवार्य हो गया है. बच्चे के जन्म से लेकर उसके बड़े हो जाने तक कई सारे काम बिना आधार कार्ड के नहीं हो सकते है. ऐसे में आधार की जरूरत को देखते हुए अब मोबाइल कम्पनिया भी अपने नेटवर्क को आधार कार्ड से लिंक करवा रही है, जिससे यूजर को आगे best services मिलती रहे.

पहले आधार को मोबाइल से लिंक कराने के लिए shop पर जाना पड़ता था, लेकिन अब technology को देखते हुए घर बैठे ही आप अपनी sim को आधार से लिंक करवा सकते है और services जारी रख सकते है. आज की इस पोस्ट में, में आपको बताऊंगा की कैसे आप अपने मोबाइल network को आधार से लिंक करवा सकते है.

  1. सबसे पहले जिस sim को आधार से लिंक करवाना है उससे 14546 पर कॉल करें.
  2. इसके बाद आपसे आधार कार्ड का नंबर enter करने को कहेगा तब आप अपने आधार कार्ड के 12 अंक digit वाले नंबर enter करे. कब नंबर enter करेंगे तो वो खुद से इसकी पुष्टि करेगा और सरे नंबर जांचेगा.
  3. जब वो सारे नंबर खुद से जांच लेगा तो वह आगे आपसे 1 नंबर dial करने को कहेगा, जिससे यह clear हो जायेगा की आपके द्वारा डाला गया आधार नंबर सही है.
  4. इसके बाद आपके आधार कार्ड से लिंक नंबर पर एक OTP आएगा उसे आपको enter करना है और फिर आपको 1 नंबर टाइप करना है, जब वो कहे तब. इसके बाद call कट हो जाएगी और आपके नंबर पर एक SMS आएगा.

इसके अलावा आप चाहे तो रिटेलर के पास जाकर भी अपने मोबाइल को आधार कार्ड से लिंक करवा सकते है. उम्मीद करता हु की आपको यह ट्रिक पसंद आई होगी और इस ट्रिक से आप घर बैठे ही अपने मोबाइल नंबर को आधार से लिंक करवा सकते है.

यह भी पढ़े

उम्मीद करता हू दोस्तों आधार कार्ड पर निबंध Essay On Aadhar Card In Hindi का यह निबंध पसंद आया होगा. यदि आपको आधार कार्ड योजना स्कीम के बारे में दी जानकारी पसंद आई हो तो अपने फ्रेड्स के साथ भी शेयर करें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *