जानवर शायरी स्टेटस | Animal Shayari Status in Hindi

नमस्कार दोस्तों Animal Shayari Status in Hindi में आज हम पशु जानवर आदि पर शायरी स्टेटस लेकर आए हैं. यहाँ हम Animal Shayari, Status, Animal, Animal Lover Quotes पढेगे. जानवर मनुष्य की तरह ही ईश्वर की एक अनुपम कृति है उसे ही प्रकृति के संसाधनों पर उतना ही अधिकार प्राप्त है जितना कि मानव को हैं. परन्तु मानव निरंतर जानवरों पशु पक्षियों तथा उनके आश्रय स्थल जंगल को समाप्त करता जा रहा हैं. जिस इंसान में दया करुणा के भाव नहीं है वह जानवर की तरह ही हैं. इन दोनों तरह के जानवर की शायरी स्टेटस हिंदी में यहाँ दिए गये हैं. हम उम्मीद करते हैं एनिमल शायरी स्टेटस कोट्स का यह कलेक्शन आपकों पसंद आएगा.

Animal Shayari Status in Hindi

Animal Shayari in Hindi

जानवर वो है जो जीवन का वरण करता है 🙏


हवस और हिंसा मेंं तो इन्शान ही आगे हैंं साहब ..जानवर तो बस भूख मिटाने के लिए मारते हैंं …


Better than humans 😘😘😘😘


ग़ुस्सा आते हुए व्यक्ति भी एक जानवर का रूप ले लेता है 🙏🏻


हमने जिसे इंसान समझा वह तो जानवर निकला


दुनिया की इस भीड़ में ,बे जुबान जानवर गुम होते जा रहे हैं😢😢😢😢


जानवर ही सही अपना बना के जिस्म से लगा लो
मोहब्बत हो मेरी अपना समझ के सीने से लगा लो


जानवर तब से जानवर हो गया,
जब से इंन्सान ने इंसानियत खो दिया।।


हर इंसान के अंदर एक जानवर होता है,
बस उसे परखने की काबिलियत होनी चाहिए।🤗


तुम इंसान जानवर कहते हो ना उसे ??💔
मगर तुम इंसानी कुत्तों से तो वो जानवर ही बेहतर है 🙏🏻


इंसान की समझ सिर्फ इतनी हैं
कि उसे “जानवर” कहो तो
नाराज हो जाता हैं और
“शेर” कहो तो खुश हो जाता हैं!
जबकि शेर भी जानवर का ही नाम है


जानवर वफादार होते हैं इंसान नही।।


Are aap janwar kahte ho ,
unme bhi dil hota hai.yaha dil logo ke paas nhi
or Janwar dukhi betha hai.dil khus kar dete hai
janwar apni piyar harkate dikha ke or insan to
dil me jahar liye firta hai


जानवरो को भी तालीम मिले …..
शायद इंसानो से बेहतर हो जाए…।


अरसा हुआ एक तलाश में सच्ची मोहब्बत कि लिय
जानवर लाया हूँ घर आज एक बेशुमार मोहब्बत के लिय


अजीब तौर है उसकी मिज़ाज़े शाही का लड़े किसी से भी आँखे मुझे दिखाता है
तुम उसका हाथ झटक कर ये क्यो नही कहती तू #Janwar है जो लड़की पर हाथ उठाता है।

Animal Status in Hindi

जब मे अकेला था भोला भाला सीम्पल था
और जब
दोस्त मिले तो सालों ने मुझे कुता कमीना जानवर बना दिया


ये कैसी हवाएं चल पड़ी हे आजकल मेरे देश में,,
जानवर मिलने लगे है आदमी के भेष में।


ये शरीफों के मुखौटे महफिलों में अदब की सलाह देते है..
खुद के गिरेबान में नहीं झांकते और ये दूसरो को जानवर कहते है..


छोटे उसके कपड़े नहीं ,
छोटी तुम्हारी सोच थी ।
कुछ तो रहम करता उस मासूम पर ,
जब जानवर बनकर तेरी हवस उसे रही नोच थी ।


सितम बनी आदत के अब घाव से साँस चलती है।
ना बोले हाँ करूँ सब ,
जो न मानूं तो मेरा नाम बिगड़े इंसानों को दिया गया।।


Janwar insan ki Tarah smjhdar ho gya…
Prr insan janwar ki Tarah wafadar na ho ska…


जानवर वो नहीं जो जंगल में रहते हैं ….
जानवर तो वो है जो शहर में रहकर
दूसरे की इज्जत को नोचकर जानवर बनते है …


इंसान जानवर है या जानवर इंसान ये
इंसानियत दिखाता है कि हैवानियत क्या है


हमसे बदतर कोई जानवर भी क्या होगा…
खुद ही को जला रहे है, खुद ही के वास्ते


हम भी बन गए उसकी फितरत में जानवर
क्यू की वो मेरी जान थी और में उसका वर ।।


जानवर शायरी स्टेटस कोट्स इन हिंदी

aj ke insaan se khood ache jaanvar h…🙏


जारा सा इश्क क्या किया हमने, जानवर सा
वफादार और इन्सान सा बेवफा कोई नापाया।


कुछ “बेओलादों” को महफूज़ लगता है मेरा मुल्क
“जानवरों” के लिए,,,,,,,कम्बक्त ये क्यू भूल जाते है
ये बेटियां ही तो “सोने” की चिड़िया होती है।


Khushiyo ka daulat se kya vaasta,
dhundhne wala to bezubaan me bhi dhundh leta h 💖


Insaan tha me samjhdar be zuban janwar ban Gaya
sochta hu sirf apne baare me fir se haiwan ban gaya


Ek roti ka b zindagi bhr karz chukaate hai…
Unhe maaro fir bhi pyar nibhate hai…
Wo nadaan janwar hai sahab Wo matlab dekh k pyar krna Nahi jaante😇


बचपन की मुस्कान,,,,,,
ख्वाब मैले निगल रहे थे,,,,
इन्सान की खाल में,,,
वहाँ जानवर पल रहे थे।


आदमी भूखा है हर जगह स्वार्थ के लिए,
जानवर अब इंसानियत निभा रहे हैं..


प्यार ही तो किया था हमने पर उसने
बेपनाह करके जानवर ही बना के रख दिया


सबको दूसरो के अंदर जानवर नज़र आता है…
कभी आयने में देखा होता खुद को तो समझ आ जाता सबको।


बेजुबान जानवर पर शायरी इन हिंदी

Kash me janwar hoti…
Kam se kam insani duniya se dur hoti..
Kiyoki ak janwar h jo insan ko samjta h
Or ak insan h jo insan ko smj ni pata. 😒


जो जानबूझकर गलत कार्य करे वो जानवर,,


वो जानवर बेहद बेहतर है हमसे,
इज़्ज़त करना वो जानता है अच्छे से।


Chote bde sb h janvr…
dil se kale yha sb h janvr..
pta tha ke kha jaege…
fir bhi na jane q pale ye janvr.


जानवर भी चुका देते है अपने एहसान का बदला
इंसान ही हर बार नमक हराम क्यों निकलता है


“कैसे भला बयां कर दुँ तुम्हें अपने लफ्जो में…
तुम्हारा नाम सुन तो मेरी कलम भी रो पड़ती है”


मासूम जानवर होना अच्छा है,
शैतान और दरिंदे तो इंसान भी होते है।


मनुष्य दुनिया का सबसे खतरनाक ‘जानवर’ है।😐


जानवर की कोख से जनते न देखा आदमी …
आदमी की नस्ल फिर क्यों जानवर होने लगी


सुनो, अपने नाखून बडे रखना,
यहाँ भेड़िये बहुत हैं,
अगर जीना चाहती हो तो जानवर बने रहना,
अपने नाखून बड़े रखना ||


भोजन में आ जाए एक बाल कभी तो उसको फेंक आते हो,
फिर क्यो बेजुबां जानवरों को मारकर अपनी भूख मिटाते हो।


यूँ तो लोग कुचल देते हैं गाडियों तले,
भूल जाते हैं जानवरो में भी “जान” होती है |


छीन कर आशियाने जानवरों के कब तक कालोनी बनाएगा,, ।
होगी एक दिन वगावत आखिर जंगल कब तक चुप रह पायेगा


किसी ने कहा कि दुनिया का सबसे खतरनाक जानवर
बताओ मैने उसके सामने आईना ला कर रख दिया


Janwar Par Shayari Animal Shayari

कैसे महफूज़ रहे मेरे मुल्क की बेटियाँ,
यहाँ इंसानों के वेश में “जानवर” जो रहते है।


तुझे भुला, कुछ ऐसा कर गया हूँ मैं,
जानवरों सी हरकतें हैं, खुद से गुजर गया हूँ मैं।


Janwar ko insaan bante nhi dekha..
lekin insaan ko janwar bante jaroor dekha hai…


कभी पैसे की भूख तो कभी जीस्म की भूख,
ये केसा जानवर बसता है ना इनसान के अंदर,
ऐक भूख मीटती नही के फीरसे भूखा हो जाता हूं,
और कभी कभी तो सोचता हूं की कहीं कीसी दीन
इस भूख को मीटाने के लीये कोइ गुनाह ना कर बैठुं…।


इन्सानों से ज्यादा अच्छे तो ये जानवर हैं आजकल,
इन्सानों से ज्यादा संवेदनशील और वफादार, प्यारे और बहुत ही भले।


काटा है जंगल, हर घर को तोड़ा है,
उजड़ी बस्ती में बसा मेरा ज़हान क्यों है।
कहने को तो, वे सभी जानवर जंगली थी,
मगर मनुष्य लग रहा हेवान क्यों है।


अंधेरा है। जरा संभल कर निकलना।
कई दिनों से इस शहर के भेड़िये भूखे है।


किसी पिंजड़े में कैद जानवर को देखकर ऐसा लगता है
जैसे
“एक जानवर ने एक बेजुबान जानवर को कैद कर रखा है।”


मत बन इतना वफादार इस जहां में
कोई तुझे पालतू जानवर कह देगा।


जंगल से बहुत दूर एक बड़े शहर मे कई जानवर रहते है,
कुछ को निर्लज तो कुछ को वहशी कहते हैं।


एक बार हम जानवर को भी जरा मासुम कह दे
ओ तो इंनसान है….अच्छे दिखावे के पिच्छे….
एक दरिंदा भेंडीया छुपाये रखते है….
जो कभी अपनो कोभी पहचान नही आते…
और हम इंनसान…….
उन दरिंदो को ही जानवर का नाम देके….
जानवर को भी बदनाम करते है…. जानवर पर कविता पोएम


Kitabo Mein #पढ़ा tha manushya Pehle #जानवर tha!!!!!!!
Lekin #अख़बार main padh kar #महसूस hua manushya aaj bhi #जानवर hai!!!!!!!!!


आदमी क्या बनेगा भला देवता,
आदमी आज कल आदमी ही नही।
जानवर हो चुका है

यह भी पढ़े

उम्मीद करता हूँ दोस्तों Animal Shayari Status in Hindi का यह आर्टिकल आपकों पसंद आया होगा, यदि आपकों जानवर शायरी, जानवर कविता, जानवर स्टेटस, जानवर कोट्स पसंद आए हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *