बीबीए फुल फॉर्म एवं कोर्स की जानकारी | BBA Ki Full Form & Course Information In Hindi

बीबीए फुल फॉर्म एवं कोर्स की जानकारी BBA Ki Full Form & Course Information In Hindi: अक्सर आपने कई बार बीबीए डिग्री के बारे में बहुत बार सुना होगा. क्या आप बीबीए फुल फॉर्म (BBA full form) जानते हैं? यदि नही तो यह लेख आपकें लिए बीबीए कोर्स को जानने के लिए बेहद मददगार हो सकता हैं. यहाँ मैं आपके साथ शेयर करुगा BBA Ki Full Form इस कोर्ट की डिटेल्स, किस फिल्ड में आप इसे कर सकते है. BBA Course करने के बाद आपकों किन स्किल्स को डेवलपमेंट करनी होगी तथा इस कोर्स को करने के बाद आप किस क्षेत्र में नौकरी पा सकते हैं.

बीबीए फुल फॉर्म एवं कोर्स की जानकारी BBA Ki Full Form & Course Information

बीबीए फुल फॉर्म एवं कोर्स की जानकारी BBA Ki Full Form & Course Information In Hindi
डिग्री नामबी बी ए
स्तरस्नातक
क्षेत्रवाणिज्य
प्रशिक्षण बिजनैस मैनेजमेंट और एडमिनिस्ट्रेशन
अवधितीन अथवा चार वर्ष

बीबीए फुल फॉर्म व कोर्स की जानकारी (full form of bba & bba Course Information In Hindi)

बिजनेस Management में जाने की तमन्ना रखने वाले युवक BBA करते है और इसके बाद मास्टर बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन यानि MBA की मास्टर डिग्री को करते हैं. बीबीए का फुल फॉर्म – Bachelor of Business Administration होता है, यह वाणिज्य में ग्रेजुएट स्तर की डिग्री हैं.

B Bachelor (स्नातक)
B Business (व्यापार)
AAdministration (प्रबंधन)

जिस तरह कला व विज्ञान वर्ग में Ba, BSC, BCA और इसके बाद Ma, MSC,BED आदि करते हैं. इसी प्रकार Business  Management और Business Administration में आगे बढने के लिए BBA कोर्स की आवश्यकता रहती हैं. इसे बाहरवी (12Th) पास होने के बाद किया जा सकता हैं.

बीबीए कोर्स क्या है इसके प्रकार (What is a bba course)

  • बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन और कॉमर्स के स्टूडेंट्स के लिए यह फायदेमंद हैं. यह चार वर्ष का स्नातक स्तर का कार्यक्रम हैं. यह व्यापार के साथ साथ सामरिक प्रबंधन, लेखांकन,व्यवसाय प्रशासन जैसे क्षेत्रों में छात्रों को प्रशिक्षित करता हैं. बीबीए के स्टूडेंट्स में कुछ कौशल होने अनिवार्य है जिनमें व्यापार में निर्णय लेने की क्षमता, धैर्य, संवाद का तरीका, प्रेक्टिल नॉलेज, प्रबंधकीय कौशल, केस परियोजना, इंटर्नशिप, औद्योगिक यात्रा आदि गुण होने चाहिए.
  • ऑनलाइन बीबीए– यह बीबीए का कोर्स उन स्टूडेंट्स के लिए फायदेमंद रहता हैं जो घर बैठे अथवा किसी कैम्पस में न बैठकर ऑनलाइन तरीके से बीबीए की डिग्री प्राप्त करना चाहते हैं. वों ऑनलाइन बैचलर की डिग्री प्राप्त कर सकते हैं.
  • पार्ट टाइम बीबीए- अधिक काम अथवा समय की व्यस्तता के कारण चार वर्ष का यह लम्बा कोर्स नही करने की स्थिति में पार्ट टाइम बीबीए का विकल्प खुला हैं.

बीबीए कोर्स के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी (bba course in hindi)

  • BBA कोर्स की अवधि चार वर्ष की हैं, मगर कुछ विश्वविद्यालय इसे तीन वर्ष में ही करवाते हैं. बिजनेस मैनेजमेंट में रूचि रखने वाले स्टूडेंट्स इसके लिए फॉर्म भर सकते हैं.
  •  बीबीए एक स्नातक ‌डिग्री है, यह भारत में 2013 से ही शुरू हुई हैं, इसे बीबीएस, बीएफआईए और बीएमएस इन तीनों को मिलाकर बनाया गया हैं.
  • हर साल बीबीए प्रवेश के लिए प्रवेश परीक्षा का आयोजन होता है इसे मार्च से मई के मध्य आयोजित करवाई जाती हैं. बीबीए की प्रवेश परीक्षा का सेलेबस क्वांटिटेटिव एप्टीट्यूड, एनालिटिकल रीजनिंग और सामान्य अंग्रेजी का होता हैं.
  • कॉस्ट एस्टीमेटर, लॉस प्रिवेंशन मैनेजर, सेल्स मैनेजर, सिक्योरिटी ऑफि सर, ऑपरेशन मैनेजर और सप्लाई चेन मैनेजर इन पदों के लिए बीबीए का कोर्स किया जाता हैं. डिग्री प्राप्त करने के बाद किसी भी निजी कम्पनी में 20-25 हजार की नौकरी मिल सकती हैं. बाद में इस सैलरी को बढ़ा भी दिया जाता हैं.

बीबीए कैसे करे?

योग्यता-

अगर इस कोर्स को करने योग्य न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता की बात करें तो इसकी पहली अनिवार्यता कक्षा बाहरवीं की बोर्ड परीक्षा को कम से कम 45 प्रतिशत अंकों के साथ उत्तीर्ण करना जरुरी माना गया हैं. साथ ही अगर कोई यूनिवर्सिटी प्रवेश परीक्षा के जरिये एडमिशन प्रक्रिया चलाती है तो प्रवेश परीक्षा में निर्धारित न्यूनतम अंक अर्जित करने हैं.

कहाँ से करें

चूँकि यह कोर्स वाणिज्य से जुड़ा है इस कारण भारत में आर्ट्स और साइंस के डिग्री और डिप्लोमा कोर्स की तरह छोटे बड़े शहरों में इसके कॉलेज नहीं हैं, ऐसे में किसी बड़े शहर की कॉलेज से यह कोर्स किया जा सकता हैं.

ख़ासतौर पर सरकारी और निजी क्षेत्र के कॉलेज दोनों द्वारा इसके प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाए जाते हैं. फीस के मामले में सरकारी कॉलेज बेहद सस्ते साबित होते हैं वही निजी कॉलेज अधिक फीस वसूल करते हैं.

अगर आप यह कोर्स करने के लिए देख रहे हैं तथा आपके आस पास के शहरों में ऐसा कोई कॉलेज नहीं हैं जो BBA की डिग्री देता हैं तो ऐसी स्थिति में आप तीसरे विकल्प यानी ऑनलाइन पत्राचार डिग्री देने वाले कॉलेज में आवेदन करवा सकते हैं. दूरस्थ शिक्षा के ये कॉलेज केवल सत्रीय परीक्षा के आधार पर डिग्री जारी करते हैं.

चलिए जानते हैं की कैसे आप BBA का Course कर सकते हैं. नीचे आपको BBA के सम्बंधित सभी जानकारी प्राप्त हो जाएगी.

BBA करने के बाद क्या करें

अब तक हम यह जान चुके हैं कि BBA एक कोमर्स डिग्री कोर्स है जो स्नातक के स्तर का हैं तथा यह बारहवीं की परीक्षा देने के बाद कुछ कॉलेज में आवेदन करके किया जा सकता हैं, अगर आप इस डिग्री के प्रति इच्छुक है तो यहाँ यह जानना भी जरुरी हैं कि बीबीए करने के पश्चात आगे का फ्यूचर क्या हैं भविष्य में जॉब या पढ़ाई के क्षेत्र कौन कौनसे हैं.

इसे सरल तरीके से समझने के लिए हम तीन भागों में समझने का प्रयास करते है कि बी बी ए के बाद क्या किया जा सकता हैं.

आगे की पढ़ाई यानी उच्च शिक्षा

S.NoName of Course after BBA Course
1.MBA (Master of Business Administration)
2.MMS (Master of Management studios)
3.PGDM (Post Graduate Diploma in Management)
4.PGPM (Post Graduate Program in Management)
5.LLB (Bachelor of Law)
6.B.Ed. (Bachelor of Education)

निजी जॉब

यह डिग्री करने के बाद आप 15 से 20 हजार रु की सैलरी वाली किसी जॉब के लिए आवेदन कर सकते हैं. प्राइवेट जॉब के लिए यकीनन किसी निजी फर्म में जाना होगा, एक BBA डिग्री धारी युवक युवती किसी कम्पनी में वित्त प्रबंधक, प्रबंधक, एच.आर. मैनेजर की पोस्ट के लिए आवेदन कर सकते हैं.

सरकारी नौकरी

जाहिर है आप यह भी जानना चाहेगे कि बीबी ए पास किस सरकारी नौकरी के लिए फॉर्म भर सकता हैं. यहाँ आप 12वीं पास की योग्यता वाली सभी भर्तियो के लिए आवेदन कर ही सकते हैं साथ ही बैंक की नौकरी के लिए विभिन्न पदों में अपना करियर बना सकते हैं.

यहाँ आपको उन पदों के बारे में बता रहे हैं जिनके लिए आप BBA कोर्स करने के बाद अप्लाई करने के लिए एलिजिबल हो जाते हैं.

Marketing Executiveविपणन कार्यकारी
Finance Analystवित्त विश्लेषक
Finance Managerवित्त प्रबंधक
HR Managerमानव संसाधन प्रबंधक
Marketing research Analystविपणन अनुसंधान विश्लेषक
Business Development Executiveव्यवसाय विकास कार्यकारी
Sales Executiveबिक्री कार्यकारी
Management Traineeप्रबंधन प्रशिक्षार्थी

बीबीए में सब्जेक्ट

अब हम BBA कोर्स के दौरान पढाए जाने वाले विषयों के बारे में जानेगे. इस डिग्री की कुल अवधि को 6 सेमेस्टर में बांटा गया हैं, इस तरह तीन वर्षों में अलग अलग बहुत से सब्जेक्ट्स को पढ़ाया जाता हैं उन्हें हम एक एक सेमेस्टर के जरिये समझने का प्रयास करते हैं.

First Semester Subjects

व्यावसायिक संपर्क (Business Communication)
वित्तीय लेखांकन (Financial Accounting)
व्यावसायिक अर्थशास्त्र (Business Economics)
व्यापार कानून (Business Law)
कंप्यूटर अनुप्रयोग (Computer Application)

Second Semester Subjects

पर्यावरण प्रबंधन (Environmental Management)
संगठनात्मक व्यवहार (Organizational Behavior)
व्यापारिक वातावरण (Business Environment)
लाभ योजना और नियंत्रण (Profit Planning and Control)
व्यावसायिक गणित (Business Mathematics)
प्रबंधन लेखांकन (Management Accounting)

Third Semester Subjects

विपणन के विचार (Marketing Concept)
व्यवसाय वित्त – I (Business Finance – I)
उत्पाद विधि (Production Method)
जनशक्ति प्रबंधन (Manpower Management)
कंप्यूटर अनुप्रयोग (Computer Application)
व्यावसायिक आंकड़े (Business Statistics)

Fourth Semester Subjects

बिक्री और वितरण प्रबंधन (Sales & Distribution Management)
व्यवसाय वित्त – II (Business Finance – II)
ऑपरेशन अनुसंधान (Operation Research)
अनुसंधान क्रियाविधि (Research Methodology)
औद्योगिक कानून (Industrial Law)
कार्यालय प्रबंधन (Office Management)

Fifth Semester Subjects

बैंकिंग कानून और अभ्यास (Banking Law & Practice)
प्रबंधन सूचना प्रणाली (Management Information System)
मानव संसाधन विकास (Human Resources Development)
विज्ञापन और जनसंपर्क (Advertising & Public Relations)
भारतीय अर्थव्यवस्था (Indian Economy)
ग्रीष्मकालीन प्रशिक्षण रिपोर्ट (Summer training Report)

Sixth Semester Subjects

अंतरराष्ट्रीय विपणन (International Marketing)
वित्तीय संस्थानों और बाजार (Financial Institutions and Markets)
कॉर्पोरेट योजना और सामरिक प्रबंधन
उद्यमी विकास (Entrepreneurial Development)
मार्केटिंग सेवाएं (Marketing Services)
व्यापक स्वर- स्वर (Comprehensive viva- voice)

FAQ

विश्व में सबसे पहले बीबीए कोर्स कब और किस यूनिवसिर्टी ने शुरू किया?

1908 में हावर्ड विश्वविद्यालय में बिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन ने इस पहली बार इस कोर्स की शुरुआत की.

बैचलर ऑफ़ बिजनैस एडमिनिस्ट्रेशन कोर्स करने के बाद किन क्षेत्रों में करियर बनाया जा सकता है?

बैंकिंग, फाइनेंस, sales और marketing फिल्ड में

बीबीए कोर्स हेतु ली जाने वाली प्रवेश परीक्षाओं के नाम क्या हैं?

इस हेतु निम्न एंट्रेस एग्जाम होते हैं UGAT, DU JAT, IPMAT, NPAT UG, SAT

यह भी पढ़े

उम्मीद करता हूँ दोस्तों बीबीए फुल फॉर्म एवं कोर्स की जानकारी | BBA Ki Full Form & Course Information In Hindi यह आर्टिकल आपको पसंद आया होगा, अगर आपको इस लेख में दी गई जानकारी पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें.

Leave a Comment

Your email address will not be published.