Delhi Ki Rajdhani Kya Hai Naam | दिल्ली की राजधानी | Capital Of Delhi

Delhi Ki Rajdhani Kya Hai Naam | दिल्ली की राजधानी | Capital Of Delhi: दिल्ली, भारत के सात केंद्र शासित प्रदेशों में से हैं, जिनके वर्तमान मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल हैं. दिल्ली की राजधानी क्या है इसका नाम व कहाँ है. इसकी जानकारी आपकों इस आर्टिकल में दी जा रही हैं. आपकों बता दे, दिल्ली का इतिहास महाभारत के समकालीन मिलता हैं. उस समय पांडवों का राज्य इन्द्रप्रस्थ यानि वर्तमान दिल्ली ही था. दिल्ली की राजधानी का नाम नई दिल्ली हैं. जो भारत संघ की भी राजधानी भी हैं.

दिल्ली की राजधानी Delhi Ki Rajdhani Kya Hai Naam

दिल्ली की राजधानी Delhi Ki Rajdhani Kya Hai Naam

दिल्ली के बारे में सामान्य जानकारी (Delhi ki rajdhani ke baare me jankari)

हिन्दी, पंजाबी, उर्दू और अंग्रेज़ी का अनूठा संगम भारतीय शहरों में दिल्ली में ही देखने को मिलेगा. यहाँ कई राज्यों के लोग रहते हैं. वर्तमान दिल्ली का क्षेत्र भारत की राजधानी क्षेत्र (National Capital Territory of Delhi) के अंतर्गत आता हैं. केंद्र शासित एवं महानगर दिल्ली की राजधानी नई दिल्ली ही हैं.

१४८३ वर्ग किलोमीटर क्षेत्रफल में फैला यह दिल्ली शहर मुंबई के बाद भारत का दूसरा सबसे बड़ा महानगर हैं. यहाँ की आबादी जनगणना 2011 के मुताबिक़ 1 करोड़ 90 लाख हैं.

यमुना के किनारे बसे दिल्ली शहर का ऐतिहासिक महत्व भी हैं. 1911 से पहले कलकत्ता भारत की राजधानी हुआ करती थी. मगर इसी वर्ष दिल्ली को राजधानी स्वीकार किया गया जो बाद में नई दिल्ली के नाम से प्रसिद्ध हुई.

राजधानी दिल्ली का ऐतिहासिक महत्व (Historical importance of capital Delhi)

भारत में ११ वी सदी के बाद से ही दिल्ली को भारत की राजधानी माना जाता रहा हैं. पृथ्वीराज राज चौहान दिल्ली के अंतिम हिन्दू शासक थे. इसके बाद मुगलों, तुर्कों और अंग्रेजों की राजधानी भी दिल्ली ही रही.

लम्बे समय से राजाओं की राजधानी बनने की वजह से इस शहर में कई ऐतिहासिक निर्माण कार्य भी हुए, जिनमें लाल किला, कुतुबमीनार, जामा मस्जिद, इंडिया गेट, कनॉट प्लेस, चाँदनी चौक, जंतर मंतर जैसे दर्शनीय स्थल भी यही हैं.

दिल्ली में ही वर्तमान भारत की न्यायपालिका, कार्यपालिका तथा व्यवस्थापिका के कार्यालय संचालित किये जाते हैं. समस्त देश का प्रशासन व निर्णय दिल्ली से ही किये जाते हैं. अरावली पहाड़ियों से घिरा यह शहर देशी विदेशी पर्यटकों के भी आकर्षण का केंद्र रहा हैं.

राजधानी दिल्ली का नामकरण (Name of Capital Delhi)

भारतीय इतिहास के किसी भी ग्रन्थ में इस बात का उल्लेख नही मिलता हैं, कि आखिर इस नगर का नाम दिल्ली कैसे पड़ा, सबसे पहले दिल्ली शब्द का प्रयोग किसने किया था.

कुछ लोग मानते हैं. यह देहली शब्द का रूपांतरण है, जिसका हिंदुस्थानी भाषा में अर्थ होता है दहलीज अथवा चौखट.

इस नाम के पीछे यह मान्यता है कि यह नगर गंगा यमुना मैदान के मुहाने पर स्थित होने के कारण उसे इस नाम से संबोधित किया होगा.

एक अन्य मान्यता के अनुसार माना जाता है, कि यहाँ ढिल्लु नाम का एक शासक हुआ करता था. उसने अपनी राजधानी का नाम ढिलिका/ढीली रखा, जो कालान्तर में दिल्ली हो गया.

राजधानी दिल्ली के जिले संख्या व नाम (Districts of the capital delhi)

केन्द्रशासित प्रदेश दिल्ली में वर्तमान में कुल नौ जिले हैं, जिन्हें उपजिलों में विभाजित किया गया हैं. यदि आप दिल्ली के जिलो के नाम जानना चाहते है तो यहाँ आपकों 9 जिलों एवं उनकें अंतर्गत आने वाले बड़े क्षेत्रों के नाम बता रहे हैं.

  • दरिया गंज, पहाड़ गंज, करौल बाग- मध्य दिल्ली जिला
  • सदर बाजार, दिल्ली, कोतवाली, दिल्ली, सब्जी मंडी- उत्तर दिल्ली जिला
  • कालकाजी, डिफेन्स कालोनी, हौज खास- दक्षिण दिल्ली जिला
  • गाँधी नगर, दिल्ली, प्रीत विहार, विवेक विहार, वसुंधरा एंक्लेव- पूर्वी दिल्ली जिला
  • सीलमपुर, शाहदरा, सीमा पुरी- उत्तर पूर्वी दिल्ली जिला
  • वसंत विहार, नजफगढ़, दिल्ली छावनी- दक्षिण पश्चिम दिल्ली जिला
  • कनाट प्लेस, संसद मार्ग, चाणक्य पुरी- नई दिल्ली जिला
  • सरस्वती विहार,नरेला, मॉडल टाउन- उत्तर पश्चिम दिल्ली जिला
  • पटेल नगर, राजौरी गार्डन, पंजाबी बाग- पश्चिम दिल्ली जिला

दिल्ली भारत की राजधानी कब बनी ? 

वर्तमान भारत की राजधानी दिल्ली है।  इतिहास गवाह है कि नईदिल्ली भारत का ऐसा स्थान है जिसे लोग हमेशा ही अपने कब्जे में करने की कोशिश करते रहे हैं चाहे मुगल शासकों की बात हो या फिर अंग्रेजों की सभी ने दिल्ली को ही अपना कार्यस्थल बनाया है।

लेकिन अंग्रेजों ने जब दिल्ली में कार्य करना शुरू किया था तब दिल्ली में बहुत ही ज्यादा गर्मी होती थी इसी कारण उन्होंने अपनी राजधानी बदलकर कोलकाता रख ली थी।

फिर बाद में दिल्ली को वापस भारत की राजधानी बनाया गया। 1911 में वापस दिल्ली को भारत की राजधानी बनाने का ऐलान किया गया था। लेकिन लॉर्ड इरविन की मौजूदगी में 13 फरवरी 1931 में दिल्ली को भारत की राजधानी बनाया गया 

भारत की राजधानी कोलकाता से दिल्ली कब बनी ? 

12 दिसंबर 1911 में नईदिल्ली को वापस से भारत की राजधानी बनाने की बात छेड़ी गई । लेकिन भारत की राजधानी कोलकाता से दिल्ली 13 फरवरी 1931 के दिन बनाई गई थी तब से आज तक भारत का राजधानी शहर है। 

दिल्ली में कितने नगर निगम है ? 

दिल्ली में तीन नगर नियम है – उत्तर नगर निगम, पूर्व नगर नियम और दक्षिण नगर नियम! 

दिल्ली की कुल जनसंख्या कितनी है ? 

दिल्ली शहर भी भारत की सबसे जनसंख्या वाले शहरों में गिना जाता है साल 2012 में की गई गणना की बात करें तो उसके मुताबिक दिल्ली की कुल जनसंख्या 1.9 करोड़ है।

जनसंख्या गणना करने वाले लोगों ने यह अनुमान लगाया है कि साल 2026 तक दिल्ली की जनसंख्या बढ़ कर 2.25 करोड़ हो जाएगी। 

दिल्ली का पुराना नाम क्या था? 

प्राचीन समय में दिल्ली को इंद्रप्रस्थ के नाम से पुकारा जाता था। हमारे दिव्य महाकाव्य महाभारत में इस बात का प्रमाण देखने को मिलता है। महाभारत के समय काल में इंद्रप्रस्थ पांडवों की राजधानी थी।

प्राचीन समय में ऐसा माना जाता था कि इंद्रदेव इस शहर में निवास करते हैं इसीलिए इस शहर को इंद्र देव की भूमि या यूं कहें कि इंद्रप्रस्थ के नाम से बुलाया जाता है।  

दिल्ली का क्षेत्रफल कितना है ?

यमुना नदी के किनारे स्थित राजधानी शहर दिल्ली 1,484 वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ है।

यह भी पढ़े

आशा करता हूँ दोस्तों Delhi Ki Rajdhani Kya Hai Naam के इस लेख में दी गई जानकारी आपकों अच्छी लगी होगी. यदि आपकों यहाँ से सही जानकारी मिली हैं. तो आप सोशल मिडिया पर इसे जरुर शेयर करे. Capital Of Delhi से सम्बन्धित अधिक जानकारी के लिए सम्बन्धित पोस्ट पढ़े.

कमेंट