यातायात के नियम पर निबंध- Essay on Traffic Rules in Hindi

नमस्कार दोस्तों आज का निबंध यातायात के नियम पर निबंध- Essay on Traffic Rules in Hindi पर दिया गया हैं. सरल भाषा में ट्रेफिक रूल्स पर आसान निबंध यहाँ दिया गया हैं. स्कूल स्टूडेंट्स इस एस्से की अपने होमवर्क में मदद ले सकते हैं.

यातायात के नियम पर निबंध Essay on Traffic Rules in Hindi

यातायात के नियम पर निबंध- Essay on Traffic Rules in Hindi

Hello And Welcome, Here Is A Article On information about Traffic Rules in Hindi- Essay on Traffic Rules in Hindi Language. Short yatayat ke niyam par nibandh यातायात के नियम पर निबंध

यातायात नियम निबंध 1

आधुनिक समय में परिवहन की सुविधा के लिए लोग अधिकाधिक वाहनों की खरीददारी कर रहे है. जिस कारण लगातर वाहनों की निरंतर संख्या बढती जा रही है.अधिक यातयात की सुरक्षा के लिए सरकार ने यातायत के नियम बनाए है.

यातयात नियम सड़क सुरक्षा का एक महत्वपूर्ण भाग है. सड़क पर चलने वाले वाहनों के लिए बनाए गए. नियम ही यातयात के नियम है. इन नियमो के लोगो की सुरक्षा का विशेष ध्यान रखा गया है.

आज हमारे देश के अधिकांश लोग सड़क हादसों में अपने प्राण गंवा देते है. इसलिए लोगो में सड़क सुरक्षा के प्रति जागरूकता को बढ़ावा देने के लिए यातयात के नियम बनाए गए है. जो हमारी सुरक्षा सुनिश्चित करते है.

आज की युवा पीढ़ी नशे में और तेज गाडी चलाने के शोक में कई लोगो की जान का कारण बन जाते है. इसलिए आज सरकार विद्यार्थियों के पाठ्यक्रम में सड़क सुरक्षा को जोड़ा गया है. ताकि विद्यार्थी इसके प्रति जागरूक होकर अपने जीवन में प्रगति करें.

यातायत के नियमो के कई नियम पैदल यात्रियों के लिए भी है. जिसमे फुटपात का प्रयोग करना, सड़क के बायीं ओर चलना तथा सड़क पार करते समय जेब्रा क्रोसिंग का प्रयोग करना आदि पैदल यात्रियों के लिए नियम है.

दुपहिया वाहन चालाक को हमेशा हेल्मेंट का प्रयोग करना तथा निर्धारित गति में चलना आदि. और बड़े वाहनों के लिए शीट बेल्ट का प्रयोग करना हमेशा पीछे चल रहे वाहन को चेतावनी देकर अपनी गाडी को अपनी गली या मोहल्ले में जाना.

हमेशा बायीं ओर चलना, सड़क के मध्य किसी भी परस्थिति में वाहन को नहीं रोकना, हमेशा गाडी को पार्क करें. विद्यालय और अस्पताल जैसे सार्वजानिक स्थलों पर हॉर्न का प्रयोग न करें.

उपयुक्त सभी यातयात के नियमो का पालन कर हम अपने जीवन को सुरक्षित बना सकते है. इन नियमो का हमें पालन करने के साथ साथ अन्य लोगो को भी इसके लिए प्रेरित करना है. सभी की जागरूकता से सभी की

यातायात के नियम निबंध 2

हम में से हर किसी को नित्य सड़क का उपयोग आने जाने के लिए करना पड़ता हैं. टीवी और अखबारों की खबरों का एक बड़ा भाग सड़क दुर्घटनाओं से भरा होता हैं. अधिकतर सड़क दुर्घटनाओं के आम कारण होते हैं.

नशा करके वाहन चलाना, तेज गति से गाड़ी चलाना आदि के कारण बड़ी दुर्घटनाएं हो जाती हैं. जल्दी घर जाने की चाहत में छोटी सी हमारी गलती अपनी व सामने वाले की जीवन लीला को समाप्त करने का कारण बन जाती हैं.

प्रशासन द्वारा सड़क दुर्घटनाओं को रोकने तथा कम करने के लिए यातायात नियम बनाएं हैं, इन ट्रेफिक रूल्स का पालन करना प्रत्येक नागरिक का दायित्व हैं.

जब हम सड़क चौराहे से होकर गुजरते है तो हमें तीन तरह की लाइट दिखाई देती है. भिन्न भिन्न रंग की इन लाइट्स में सबसे ऊपरी लाल बत्ती का अर्थ होता हैं कि आपकों विराम लेना हैं. पीली बत्ती आपकों चलने के लिए  तैयार होने का संकेत करती  हैं

वही हरी बत्ती आपकों प्रस्थान की अनुमति देती हैं. ट्रेफिक पुलिस द्वारा सड़क चौराहों पर पैदल  पथ होता हैं  जिस  पर   पैदल व्यक्ति या साईकिल लेकर निकल सकते हैं. जब भी हम सड़क पर चले तो ध्यान रखे कि बाई तरफ चले.

यदि सड़क पार  करनी हो तो सभी लोग सड़क खाली होने पर ही आगे बढ़े तथा तेज भागने या आगे निकलने के लिए दौडभाग  कतई  न करे.

ठीक  ही कहा हैं कि दुर्घटना से देर भली अर्थात हम पैदल चले या वाहन चलाए आगे पीछे दाएं बाएँ देखकर ही ओवरटेक या यू टर्न ले.

देश के नागरिक होने के नाते हमारा कर्तव्य बनता हैं कि हम सड़क के यातायात नियमों का पालन करे. सड़क के किनारे अथवा नो पार्किंग जॉन में अपनी गाड़ी को खड़ी न करे. दुपहियां वाहन चलाते समय ध्यान रखे कि हेलमेट पहना हो.

गाड़ी चलाते समय सीट बेल्ट अवश्य पहने, इंडिकेटर का उपयोग करे तथा सड़क पर पुलिया, जेब्रा क्रोसिंग, नो पार्किंग, यू टर्न, विद्यालय आदि के संकेतों का पालन कर निर्देशानुसार ही ड्राइविंग करे.

घनी आबादी शिक्षा प्रतिष्ठान आदि के आगे से गुजरते समय गाड़ी की गति को धीमा करने के साथ ही हार्न आदि का उपयोग नहीं करना चाहिए.

यदि हम वाहन चलाते समय छोटी छोटी बातों का ध्यान रखे तो दुर्घटना के खतरें को कम कर सकते हैं जैसे भीडभाड़ में हॉर्न का प्रयोग कम करना, मुड़ने से पूर्व संकेत देना, रात्रि में हैडलाइट जलाना, सही दिशा व गति में वाहन चलाए.

माता  पिता  को भी चाहिए नाबालिग बच्चों के हाथ में गाड़ी न दे, उन्हें यातायात के नियमों से अवगत कराया जाए, स्कूलों में  सड़क सुरक्षा विषय को गम्भीरता से पढाया जाए.

ट्रेफिक पुलिस बिना लालच में सही ढंग से काम करे. बिना लाइसेंस गाड़ी चलाने वालों  कार्यवाही आदि कुछ साझी जिम्मेदारी लेकर हम यातायात के नियमों को प्रभावी ढंग से उपयोग में लाकर सड़क दुर्घटनाओं पर काबू पा सकते हैं.

यह भी पढ़े

उम्मीद करता हूँ दोस्तों यातायात के नियम पर निबंध- Essay on Traffic Rules in Hindi का यह निबंध आपकों पसंद आया होगा. यदि आपको यातायात पर दिया शोर्ट निबंध पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करें.

अपने विचार यहाँ लिखे