ग्रामीण जीवन पर नारे स्लोगन कोट्स शायरी | Slogan On Village Life In Hindi

Slogan On Village Life In Hindi – नमस्कार दोस्तों हम आपका हार्दिक अभिनन्दन करते हैं. आज ग्रामीण जीवन पर नारे ( Village Life Slogan, Quotes, Shayari ) यहाँ बता रहे हैं. ग्राम्य जीवन की सादगी हर किन्ही के दिल को छू लेने वाली होती हैं. भारतीय गाँव किसान की जन्मस्थली होती है, जहाँ वे कृषि, हरे भरे खेत एवं अपने पशुओं के बीच खुशहाल जीवन जीते हैं. आज हम ग्रामीण जीवन पर कुछ कथन बता रहे हैं. इन स्लोगन को आप सोशल मिडिया पर भी शेयर कर सकते हैं.

Slogan On Village Life In Hindi

Slogan On Village Life In Hindi

हमारा भारत गाँवों के देश के रूप में जाना जाता था. देश की कुल आबादी का ७० प्रतिशत भाग गाँव ही था. मेरे गाँव के लोग कृषि एवं पशुपालन के क्रियाकलापों से अपना जीवन निर्वहन करते थे. हसंते खिलते खुशहाल एवं समृद्ध जीवन की जब भी बात आती है तो गाँव का जिक्र भी आता हैं.

जो मानवीय मूल्यों, सादगी एवं भाईचारें की बुनियाद भी हैं. आज गाँव दुदर्शा के शिकार है जहाँ रोजगार, शिक्षा, चिकित्सा की अत्याधुनिक सुविधाएं उपलब्ध नहीं हैं जिसके चलते बड़ी संख्या में लोग गाँवों से शहरों की ओर पलायन करने लगे हैं.

आज हम गाँव के जीवन को समर्पित कुछ स्लोगन, शेर, कोट्स, कविता, शायरी, थोट्स आपके साथ शेयर कर रहे हैं, यदि आप भी भारतीय गाँव और ग्रामीण जीवन से जुड़े है अथवा इसे पसंद करते है तो आपकों भी यह कलेक्शन पढ़ना चाहिए.

गांव एक ऐसी जगह होती है जहां पर सामान्य तौर पर आधुनिकता काफी कम ही होती है। जिस स्थान पर लगभग 1,000 के आसपास की आबादी होती है उसे गांव कहा जाता है। शहरों की तुलना में गांव में डेवलपमेंट काफी कम होता है परंतु इसके बावजूद भारत की बहुत बड़ी आबादी अभी भी गांव में ही निवास करती है। यहां तक कि शहरों के लोग भी छुट्टियों में गांव जाना पसंद करते हैं। 

गांव में आम के बगीचे होते हैं, वही सब्जियों की खेती होती है। इसके अलावा तिलहन, दलहन और दूसरे अनाजों की खेती भी होती है। इंडिया में 4,00000 से भी अधिक गांव हैं और सबसे ज्यादा गांव उत्तर प्रदेश राज्य में स्थित है।

गांव के विकास के लिए गवर्नमेंट के द्वारा प्रधानी के सिस्टम को काफी सालों पहले ही चालू किया है अर्थात गांव की जनता चुनाव करके अपना प्रधान चुनती है और प्रधान का कार्य गांव में डेवलपमेंट करवाना और गांव की जनता की समस्याओं का समाधान करवाना होता है।

गांव में लोग मुख्य तौर पर खेती और पशुपालन करके अपनी कमाई करते हैं। एक प्रकार से अन्नदाता जिसे कि हम किसान कहते हैं वह गांव में ही पाए जाते हैं। गांव के लोग काफी मिलनसार होते हैं और हमेशा एक दूसरे की सहायता करने के लिए तत्पर रहते हैं, जिसका अभाव शहर के लोगों में देखा जाता है। 

भारतीय गवर्नमेंट के द्वारा गांव के डेवलपमेंट के लिए लगातार प्रयास किया जा रहा है जिसके फलस्वरूप गांव में भी अब आधुनिक स्कूल ओपन हो रहे हैं साथ ही सड़कों को भी पक्का किया जा रहा है। इसके अलावा रोजगार उपलब्ध करवाने के लिए भी गवर्नमेंट लगातार प्रयास कर रही है।

गाँव का महत्व क्या है?

प्राचीन काल से ही गांव का अस्तित्व रहा है जो कि वर्तमान में भी है। गांव आज के समय में भी भारत देश की जीडीपी में महत्वपूर्ण योगदान दे रहे हैं क्योंकि भारत की जीडीपी को आगे बढ़ाने में कृषि क्षेत्र का भी काफी योगदान है जो कि अधिकतर गांव में ही होती है।

हमारा भारत देश दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी आबादी होने के कारण भारत को अत्याधिक मात्रा में अन्न की आवश्यकता होती है जिसे पैदा करने का काम देश के किसान ही करते हैं, जो कि गांव में रहते हैं। इस प्रकार से देशवासियों का पेट भरने के लिए गांव के किसान बहुत ही महत्वपूर्ण माने जाते हैं। 

इसलिए हम यह कह सकते हैं कि देश की अर्थव्यवस्था की रीढ़ की हड्डी अगर गांव को कहा जाए तो इसमें कोई बड़ी बात नहीं होगी। गांव की विशेषता यह है कि गांव में अभी भी लोग एक दूसरे की सहायता करते हैं ना कि एक दूसरे से जलन रखते हैं। इसके अलावा गांव में अभी भी आधुनिकता ज्यादा नहीं हुई है। 

इसलिए लोग लोक लाज को डरते हैं और सभी को अपनी इज्जत गांव में आज भी प्यारी है। गांव में नंगापन नहीं है। शहरों के लोग जब कभी उब जाते हैं तो वह गांव की तरफ ही अपना रुख करते हैं क्योंकि उन्हें भी यह पता है कि शांति और सुकून कहीं पर है तो वह गांव में ही है। अगर लोगों को गांव के आसपास ही रोजगार प्राप्त हो तो लोग शहर में जाए ही ना।

Indian Rural Life Slogans In Hindi

  • ग्राम्य जीवन सुखी जीवन, हरी भरी फसलों के मध्य खुशियों का जीवन
  • कल कल करती नदी एवं हरे भरे खेत देखने चलो, चलो आज गाँव का दृश्य देखने चलो
  • बंद द्वार रखने वाले शहरी क्या जाने महत्व मेहमानों का
    ग्रामीण लोग आज भी अपनी दहलीज खुली छोड़ते है.
  • गाँव के खुले आँगन में आसमा दीखता था, शहरी जीवन के इन बंद कंटेनर में घुटन होती है.
  • नगरों में कहा है वो शुकून गांवों का, वो दादी की गोदी और नीम की छाँव में था.
  • बुजुर्गों का सम्मान करते बढ़े, चलों कुछ ग्रामीण जीवन से जानते चलें.
  • जीवन में कुछ नया सीखें अपनाएं, ग्रामीण जीवन को देखे असली जीवन अपनाएँ.
  • चलो मिलकर गाँव को देखने चले, गाँव के जीवन की झलक पाने चले.
  • गाँव के पंछी घौसला छोड़ शहर न आए, क्यूंकि पंछियों को धन कमाने की भूक नहीं थी.
  • हमारे गाँव से अब निरक्षरता दूर होगी, जन जन पढ़ेगा अब शिक्षा ही शिक्षा होगी.
  • हम अपने पर्यावरण को हरा भरा बनाए चलो हम ग्रामीण जिन्दगी का लाभ उठाए.
  • उन्नत होगा ग्रामीण जीवन तभी वतन बन सकेगा जन्नत.
  • गाँव है भारत की शान, सुखी हो हर ग्रामीण नर नार
  • ग्रामीण जीवन का आधार, किसान बने तरक्की का भागीदार.
  • जब घर घर बिजली पानी शिक्षा पहुचेगी, भारत में फिर से घी दूध की गंगा निकलेगी.
  • रोता, बिलखता गरीब मजदूर किसान, कैसे बने यह भारत महान.

ग्रामीण जीवन की शायरी शेर (Village Life Shayari In Hindi)

लिखने वाली ने बड़ी गहरी बात लिखी
गाँव को गाँव में ही रहने दीजिए जनाब
उन्हें क्यों नगर बनाने पे अमादा हो
गाँव में बसोगे तो माँ बाप के नाम से
पहचाने जावेगे
और नगर में बसोगे तो
कमरा नम्बर से जाने जाओगे.


वों गाँव का बरगद का पेड़ साँसें दिया करता था
अगर पैसे देता तो हम सभी अपने गाँव में ही रहते.


कागज की जहाज व नीम की छाँव में ठहरा था
वे भाग्यशाली है हम जो बालपन गाँव में गुजरा था.


शहरों में बड़े पर्वों में चूडिया नजर नाही आती
ग्रामीण जीवन में आज भी चूड़ी की खनक सुनाई देती है.

यह भी पढ़े

आशा करता हूँ दोस्तों “Slogan On Village Life In Hindi” का यह लेख आपकों पसंद आया होगा. इस आर्टिकल में हमने ग्रामीण जीवन स्लोगन, ग्रामीण जीवन कोट्स, ग्रामीण जीवन शायरी शेयर की हैं, यदि आपकों नारों का यह कलेक्शन पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे.

Leave a Comment

Your email address will not be published.