History

मांडलगढ़ के किले का इतिहास | Mandalgarh Fort History In Hindi

Mandalgarh Fort History In Hindi: वीर विनोद ग्रंथ के अनुसार अजमेर के चौहान शासकों ने मांडलगढ़ के गिरि दुर्ग का निर्माण करवाया. मंडलाकृति होने के कारण इसका नाम मांडलगढ़ पड़ा. जनश्रुति के अनुसार मांडिया भील के नाम पर यह किला मांडलगढ़ कहलाया. यह अरावली की उपत्यकाओं में समुद्रतल से १८५० फीट की ऊँचाई पर बना हुआ …

मांडलगढ़ के किले का इतिहास | Mandalgarh Fort History In Hindi Read More »

शेरगढ़ के किले का इतिहास | Shergarh Fort History In Hindi

Shergarh Fort History In Hindi: कोशवृद्धन पर्वत शिखर पर निर्मित इस किले को शेरशाह ने शेरगढ़ का नाम दिया. किले के निर्माताओं के बारे में प्रमाणिक जानकारी नहीं मिलती हैं. अकबर के शासनकाल से 1713 ई तक यह किला मुगलों के अधिकार में रहा. मुगल सम्राट फखरूसियर ने इसे कोटा महाराव भीमसिंह को पुरस्कार स्वरूप प्रदान …

शेरगढ़ के किले का इतिहास | Shergarh Fort History In Hindi Read More »

History Behind Bhangarh Fort In Hindi | भानगढ़ किले का इतिहास और रोचक कहानी

History Behind Bhangarh Fort In Hindi: राजस्थान राजा महाराजाओं की स्थली रही हैं. यहाँ पर आपकों कई किले एवं भव्य महल देखने को मिलेगे जिनमे bhangarh ka kila प्रमुख हैं. bhangarh fort राजस्थान के अलवर जिले में स्थित हैं. यह अपनी bhangarh fort haunted stories के कारण भूतहा किला भी कहलाता हैं. bhangarh story और bhangarh fort story in hindi …

History Behind Bhangarh Fort In Hindi | भानगढ़ किले का इतिहास और रोचक कहानी Read More »

Siwana Fort History In Hindi | सिवाणा के किले का इतिहास

Siwana Fort History In Hindi : पर्वतीय दुर्ग सिवाणा बाड़मेर जिले में अवस्थित हैं. Siwana Fort का निर्माण दसवीं शताब्दी में वीरनारायण पंवार ने करवाया था. तदन्तर इस पर जालौर के सोनगरा चौहानों का अधिकार रहा. 1305 ई में अलाउद्दीन खिलजी ने सिवाणा पर आक्रमण किया. किलेदार शीतलदेव ने अप्रितम वीरता दिखलाई, मगर भायला पंवार …

Siwana Fort History In Hindi | सिवाणा के किले का इतिहास Read More »

रिलायंस इंडस्ट्रीज का इतिहास Reliance industries history in hindi

Reliance industries history in hindi: नमस्कार दोस्तों इस आर्टिकल में आपका स्वागत करते है आज हम रिलायंस इंडस्ट्रीज का इतिहास पढेगे. भारत की सबसे बड़ी एवं विश्व की शीर्ष कम्पनियों में शुमार रिलायंस इंडस्ट्री के जन्म उत्थान और विकास के बारे में आज इस आर्टिकल में हम विस्तार से जानने का प्रयास करेंगे. रिलायंस इंडस्ट्रीज …

रिलायंस इंडस्ट्रीज का इतिहास Reliance industries history in hindi Read More »

राणी सती मंदिर झुंझुनू का इतिहास | Rani Sati Temple Jhunjhunu History In Hindi

राणी सती मंदिर झुंझुनू का इतिहास | Rani Sati Temple Jhunjhunu History In Hindi: राजस्थान के प्रसिद्ध देवी मन्दिरों में झुंझुनू शहर में स्थित दादी सती का मंदिर विशेष उल्लेखनीय हैं. माँ नारायणी इनका वास्तविक नाम हैं. भक्तों के संकट हरने वाली देवी सती के भारत में कई मंदिर हैं जिनमें मुख्य एवं सबसे बड़ा …

राणी सती मंदिर झुंझुनू का इतिहास | Rani Sati Temple Jhunjhunu History In Hindi Read More »

पाटण जिले का इतिहास | History of Patan district In Hindi

History of Patan district In Hindi: नमस्कार दोस्तों आज हम पाटण जिले का इतिहास जानेंगे, उत्तरी गुजरात का महत्वपूर्ण जिला हैं यह 1300 वर्ष प्राचीन स्थल है जिसे मुस्लिम आक्रान्ताओं ने पूरी तरह ध्वस्त कर दिया था, फिर से उसी खंडहर पर पाटण शहर की नींव रखी गई. 745 ई में इसे वनराज छावड़ा ने …

पाटण जिले का इतिहास | History of Patan district In Hindi Read More »

गीर सोमनाथ जिला गुजरात का इतिहास | History Of Gir Somnath District In Hindi

History Of Gir Somnath District In Hindi: नमस्कार दोस्तों आज हम गीर सोमनाथ जिला का इतिहास यहाँ जानेंगे, यह गुजरात का महत्वपूर्ण जिला है जो सौराष्ट्र क्षेत्र में आता है इसका मुख्यालय वेरावल में हैं. यह प्राचीन गिर वन व सोमनाथ ज्योतिर्लिंग के कारण समूचे भारत में प्रसिद्ध हैं. गीर सोमनाथ में 6 तालुका है …

गीर सोमनाथ जिला गुजरात का इतिहास | History Of Gir Somnath District In Hindi Read More »

भावनगर का इतिहास | Bhavnagar Royal Family History In Hindi

Bhavnagar Royal Family History In Hindi: आपका स्वागत है आज हम भावनगर का इतिहास, दर्शनीय स्थल आदि के बारें में जानेंगे. यह गुजरात राज्य का बड़ा शहर एवं जिला हैं. इसकी स्थापना भावसिंह जी गोहिल द्वारा 1734 में की गई थी. पूर्व जमाने में यह शहर एक बन्दरगाह के रूप में विकसित हुआ था. यहाँ विक्टोरिया …

भावनगर का इतिहास | Bhavnagar Royal Family History In Hindi Read More »