Insult Quotes In Hindi | अपमान पर सुविचार अनमोल वचन

Insult Quotes In Hindi : अपमान दुनिया की सबसे बुरी चीज हैं. चाहे व्यक्ति गरीब  ही क्यों न  हो उसका अपना  आत्म सम्मान होता हैं. तथा उसके इसी सेल्फ रिस्पेट पर चोट करना ही अपमान कहलाता हैं. कई बार जाने अनजाने में किसी की इन्सुल्ट हो जाए तो उससे क्षमा माफी मांग लेने में कोई हर्ज नही हैं. क्योंकि अपमान व्यक्ति में बदले की भावना को जन्म देता है जिसका परिणाम अपराध के रूप में सामने आता हैं. आज हम अपमान पर सुविचार (Insult Quotes Hindi,Quotes On Insult ) में दार्शनिकों के कुछ थोट्स आपके लिए लाए हैं चलिए जानते हैं आख़िर उनका अपमान के बारे में क्या मानना हैं. Insult Quotes In Hindi | अपमान पर सुविचार अनमोल वचन

Insult Quotes In Hindi | अपमान पर सुविचार अनमोल वचन


एक अपमान की अपेक्षा एक चोट को बहुत शीघ्र भुला दिया जाता हैं.


जो व्यक्ति अपमान को सह लेता है, वह हानि को आमंत्रित करता हैं.


अपमान करके दान देना, विलंब से देना, मुख फेर के देना, कठोर वचन बोलना और देने के बाद पश्चाताप करना- ये पांच क्रियाएं दान को दूषित कर देती हैं।


जो व्यक्ति अपने को अपमानित होने देता हैं, वह इसके ही योग्य होता हैं.


अपमान का बदला लेने की अपेक्षा उसकी ओर ध्यान न देना अच्छा हैं.


यदि तुम अपमान पूर्ण शब्द कहोगे तो उनको सुनोगे भी.


इन्सल्ट शायरी | Insult Shayari | Love Insult Shayari

चुप रहता है अक्सर अपमान सहकर भी वो हैसियत से नहीं नसीयत से वाकिफ हैं.


मैं कोई चाल नही, जिसे तुम चल जाओगे
भूचाल हूँ कैसे सम्भाल पाओगे
मौन मेरा प्रेम था जो तेरे लिए दिखावा रहा
अब मुझे तुम अपमान की सूली ना चढा पाओगे.


अपमान किया उस माँ का जिसका तिरस्कार त्रिदेव ना कर सके. क्या जीके करना ओ इन्सान, जो इन्सान के रूप में भगवान को पहचान न सके.


अपमान वो घाव है जो सम्मान को चकनाचूर कर देता हैं.


तू क्या समझता है मैं मरा नहीं हूँ
मैं कई कई बार बेज्जत हुआ हूँ.


चुप बैठा गुस्से में शुरू कर देता प्रतिकार
अपमान के घुट पीता हूँ मैं बार बार
हर चीज की आदत पड़ जाती है पर
पता नही अच्छा क्यों नही लगया
बार बार पीने पर भी स्वाद में ये जहर
स्वाभिमान सोचता हैं.


अब न कोई समान की चाह है
और ना ही अपमान का भय है
अब तो लगता है मेरी बर्बादी तय है
हाँ शायद यही मेरी नियति है
अब तो इस जिन्दगी के सफर में
मैं एक ऐसा राहगीर हूँ
जिसे मंजिल की कोई ख्वाइश नही.


अक्सर हम अपने अपमान को संघर्ष समझ बैठते हैं.


ना किसी की झूठी तारीफ़ करू
ना ही किसी का अपमान
शरीर बुरा हो सकता है
पर आत्मा है भगवान


चलो एक खेल खेलते है एक दुसरे का अपमान करते और तब तक खेलेगे जब तक दोनों में से कोई एक हार नही जाता


दूसरों का अपमान करके अपनों को सम्मान देना निकृष्ट सोच को बढ़ावा देना हैं.


जरूरत नही ऐसे रिश्तों की
जो नजरअंदाज करे मेरे अपमान को
ऐसी भी क्या मोहब्ब्त की
मैं खो दू अपने आत्म सम्मान को


हर युग में नारी का अपमान हुआ हैं
क्या द्वापर, क्या सत युग हर बार पाप हुआ हैं.


एक बात हमेशा ध्यान रखों
कि समय और स्थिति कभी भी
बदल सकती है इसलिए कभी
किसी का अपमान मत करो


किसी इन्सान को जानवर कहना उस जानवर का अपमान हैं.


जिसको डर अपमान का, चिंता अपने मान की
ऐसा तो कभी नही चाहा, न ज्ञान है संसार का


जो केवल अपने और अपने पैसों का गुणगान करे, उनके साथ रहके आप खुद का अपमान न करे.


सम्मान और अपमान हम कह के हासिल नही कर सकते, हमारे कृत्य और हमारी चाल चलन ही निर्भर करता है कि समाज से पान खाने को मिलेगा या लात


आशा करता हूँ फ्रेड्स आपकों Insult Quotes In Hindi का यह लेख अच्छा लगा होगा, यदि आपकों अपमान पर सुविचार & शायरी का यह लेख पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करे. यदि आपके पास भी इस तरह के  इन्सल्ट हिंदी कोट्स हो तो प्लीज हमारे साथ शेयर करे.

Leave a Comment

Your email address will not be published.