यूजीसी नेट क्या है फुल फॉर्म और कोर्स जानकारी | NET Full Form Course Details in Hindi

UGC NET का नाम आपने कई बार सुना होगा, यूजीसी नेट क्या है फुल फॉर्म और कोर्स जानकारी | NET Full Form Course Details in Hindi इस तरह के सवाल आपके जेहन में हैं, तो आपका स्वागत है Hihindi के इस एजुकेशन ब्लॉग में आज हम यूजीसी नेट के बारें में आपकों विस्तार के साथ जानकारी देने जा रहे हैं.

यूजीसी नेट क्या है फुल फॉर्म और कोर्स जानकारी | NET Full Form in Hindi

यूजीसी नेट क्या है फुल फॉर्म और कोर्स जानकारी | NET Full Form Course Details in Hindi
NETनेशनल एलिजिबिलिटी टेस्ट
प्रथम आयोजन2009
आयोजकनेशनल टेस्टिंग अकेडमी
अधिकतम आयु30 साल
आदर्श वाक्यज्ञान विज्ञान विमुक्तये
आधिकारिक वेबसाइटwww.ugc.ac.in

यदि आपके जेहन मे आ रहा है कि What Is NET In Hindi, NET Ki Full Form आपकों बता दे यह भारत में पीएसडी के लिए आयोजित की जाने वाली राष्ट्रीय परीक्षा है जिन्हे नेशनल एलिजिबिलिटी टेस्ट (NET) के नाम से जाना जाता हैं.

यह सम्पूर्ण देश में आयोजित की जाती हैं, किसी भी विषय में 55% से अधिक अंकों के साथ पोस्ट ग्रेजुएशन करने वाले अभियर्थी इस परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं.

ugc & net full form की फुल फॉर्म अथवा पूरा नाम की बात करे तो ये शब्द दोनों अलग अलग हैं. UGC का अर्थ होता हैं. यूनियन ग्रांट कमिशन University Grants Commission जिसे हिंदी में विश्वविद्यालय अनुदान आयोग कहा जाता हैं.

दूसरा शब्द NET जिसे नेशनल एलिजिबिलिटी टेस्ट National Eligibility Test अथवा हिंदी में राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा के रूप में जाना जाता हैं.

NET Kyu Kare, NET Karne Ka Fayda

भारत में आयोजित होने वाली सबसे कठिन परीक्षाओं में से NET भी एक हैं जिन्हें सीबीएसई, यूनिवर्सिटी ग्रान्ट्स कमीशन की तरफ से हर साल आयोजित करवाती हैं. नेट करने के बाद पीएचडी का मार्ग प्रशस्त हो जाता हैं तथा यह किसी भी विषय का सर्वोच्च कोर्स है जिसे करने के बाद आपके नाम के आगे डॉक्टर का मानक जुड़ जाता हैं.

Telegram Group Join Now

नेट करने के कई फायदे हैं. आप पीएचडी करने के पश्चात भारत के किसी भी राज्य में विश्वविद्यालय में शिक्षण करवाने की योग्यता प्राप्त कर सकते हैं. अर्थात आप स्कूल, कॉलेज, युनिवर्सिटी के व्याख्याता, प्रोफेसर बन सकते हैं. UGC NET में कम्पीटीशन काफी कठिन होता हैं. यहाँ से ऊपर 15 प्रतिशत लोगों को ही पीएचडी के लिए चुना जाता हैं.

यूजीसी नेट परीक्षा क्या है (What is the UGC Net Exam)

यूजीसी नेट भारत की एक राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा हैं जो मास्टर डिग्री करने के बाद की जाती हैं, इस प्रवेश परीक्षा को पास करने के बाद पीएचडी कर सकते है जो विश्वविद्यालय में अध्यापन के लिए अनिवार्य योग्यता हैं. 2009 के बाद से कोलेज में प्रोफेसर बनने के लिए भी पीएचडी को अनिवार्य कर दिया गया हैं.

UGC का मुख्यालय दिल्ली में है. जिसकी स्थापना 1955 में की गई थी. यह बोर्ड युनिवर्सिटी को मान्यता उनके संचालन तथा व्यय को वहन करता हैं, देश के छ शहरों भोपाल, पुणे, गुवाहाटी, बंगलौर, कोलकता और हेदराबाद में भी ugc के मुख्यालय हैं.

यूजीसी नेट Qualification In Hindi

  • नेट में Age Criteria के रूप में कॉलेज लेक्चरर के लिए कोई आयु सीमा नही है जबकि जूनियर फेलोशिप में सामान्य वर्ग के उम्मीदवारों के लिए अधिकतम आयु सीमा २८ वर्ष रखी गई हैं.
  • यदि UGC NET की Educational Qualification की बात करे तो मास्टर डिग्री यानी पोस्ट ग्रेजुएशन में आपके न्यूनतम 55 प्रतिशत मार्क्स होने चाहिए.
  • नेट की पहली अधिसूचना मार्च महीने में जिसकी परीक्षा जून में तथा दूसरी अधिसूचना दिसम्बर माह में आती हैं.
  • भारत ने नेट में कुल 94 विषय सम्मिलित किया गया हैं. यानी आपने इन 94 विषयों में मास्टर डिग्री प्राप्त की है तो आप उस सब्जेक्ट में पीएचडी के लिए नेट में आवेदन कर सकते हैं.

परीक्षा योजना (NET Exam Pattern)

नेट में आपकों तीन एग्जाम देने होते हैं. तीनों का प्रकार, समय अवधि तथा विषय वस्तु अलग अलग होती हैं.

  1. पहला पेपर जिसमें आपकों 60 सवाल दिए होंगे तथा 50 के जवाब देने होंगे जिसके लिए सवा घंटे का समय निर्धारित हैं. तर्क क्षमता, समझ, भिन्न सोच सामान्य जागरूकता से जुड़े सवाल पूछे जाते हैं.
  2. दूसरे पेपर में भी 50 सवाल होंगे सभी को अटेंड करना अनिवार्य हैं इस प्रश्नपत्र में भी सवा घंटे का समय निर्धारित किया गया हैं. प्रत्येक सवाल 2 अंक का होता हैं. इस पेपर के विषय का चयन करने का अधिकार अभियर्थी को होगा.
  3. तृतीय पेपर ढाई घंटे का होता है जिसमें डेढ़ सौ अंक के सवाल पूछे जाते है तथा इनके 50 प्रतिशत सवालों का जवाब देना अनिवार्य होता हैं.

यूजीसी नेट एग्जाम पैटर्न

नैशनल एलिजिबिलिटी टेस्ट का आयोजन नेशनल टेस्टिंग एजेंसी द्वारा किया जाता हैं. विश्वविद्यालयों में टीचर्स के लिए एक क्वालीफाई परीक्षा लेक्चरर शिप के लिए है. दो प्रश्न पत्रों वाली नेट परीक्षा का नोटिफिकेशन सालाना मार्च एवं सितम्बर महीने में जारी किया जाता हैं. प्रथम पेपर 50 प्रश्नों तथा 100 अंकों का होता है जबकि दूसरी पेपर 100 क्वेशन के साथ ही 200 अंक का होता हैं. वैकल्पिक पैटर्न पर आधारित इन पेपर के लिए तीन घंटे की अवधि का समय दिया जाता हैं.

भागप्रश्न स० अंकसमय
प्रथम पेपर501001 घंटा
द्वितीय पेपर1002002 घंटा
योग1503003 घंटे

यह भी जाने 

हमने आज के लेख में यूजीसी नेट क्या है फुल फॉर्म और कोर्स जानकारी | NET Full Form Course Details in Hindi नेट की योग्यताओं के बारे में आपकों विस्तार से जानकारी देने की कोशिश की हैं. हमने सम्पूर्ण रिसर्च इन्टरनेट से करके ही उसका सार रूप यहाँ प्रस्तुत किया हैं. जिसमें कोई गडबडी नजर आए तो हमें कमेंट कर जरुर बताएं.

यदि आप इस तरह के शिक्षा से जुड़े हुए फ्रेश आर्टिकल पढ़ना चाहते है तो नित्य हमारी वेबसाइट को विजिट करते रहे, हम आपकी आशाओं पर खरे उतरने का पूर्ण प्रयास करेगे.

1 thought on “यूजीसी नेट क्या है फुल फॉर्म और कोर्स जानकारी | NET Full Form Course Details in Hindi”

Leave a Comment