रवि कुमार दहिया का जीवन परिचय Ravi Kumar Dahiya Biography In Hindi

रवि कुमार दहिया का जीवन परिचय Ravi Kumar Dahiya Biography In Hindi: Tokyo ओलंपिक 2021 में रवि दहिया ने अपने शानदार प्रदर्शन के दम पर न सिर्फ अपने परिवार का नाम रोशन किया है बल्कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर संपूर्ण देश को भी गौरवान्वित किया है। आज हम हरियाणा के इस जांबाज पहलवान के जीवन से जुड़ी अनेक उपयोगी बातें आपके साथ साझा कर रहे हैं। रवि ने पुरुष फ्रीस्टाइल 57 किग्रा भार वर्ग में टोक्यो ओलंपिक 2020 ने बेहतरीन प्रदर्शन किया मगर फाइनल मुकाबले में रूस ओलंपिक समिति (आरओसी) के जायूर उगयेव के सामने 4-7 से हारने के साथ ही सिल्वर पदक ही जीत पाए. भारत के लिए यह टोक्यो ओलंपिक में दूसरा रजत पदक हैं.

रवि दहिया का जीवन परिचय Ravi Kumar Dahiya Biography In Hindi

रवि दहिया का जीवन परिचय Ravi Kumar Dahiya Biography In Hindi

पहलवान रवि दहिया की बायोग्राफी

नामरवि कुमार दहिया
जन्म12 दिसंबर 1997
आयु24 वर्ष
जन्म स्थाननहरी, सोनीपत
जातिजाट
पिता का नामराकेश दहिया
वैवाहिक स्थितिअविवाहित
पेशाकुश्ती पहलवान
लम्बाई5 फूट 6 इंच
वजन57 कि. ग्रा.
उपलब्धिओलंपिक मेडलिस्ट

दोस्तों रेसलिंग एक ऐसा करिए है जो चुनौतियों से भरा पड़ा है इसमें सफल होने के लिए लगातार मेहनत और अभ्यास की जरूरत पड़ती है। और अपनी कड़ी मेहनत से टोक्यो ओलंपिक में भारत को गोल्ड मेडल कि आस जगाने वाली रवि कुमार दहिया इन दिनों सुर्खियों में है।

यदि आप भी जानना चाहते हैं इस शक्स के बारे में, आखिर कौन है रवि? कैसे उन्होंने रेसलिंग में अपना कैरियर बनाया? तो आप पढ़ते रहे हमारे साथ रवि भैया की बायोग्राफी को

रवि दहिया की जीवनी

रवी दहिया का जन्म 12 दिसंबर 1997 में भारत के हरियाणा राज्य के सोनीपत डिस्ट्रिक्ट के नहरी गांव में हुआ था। रवी का पूरा नाम रवि कुमार दहिया है।

वे एक पेशेवर पहलवान है जो अक्सर राष्टीय और अन्तर्राष्ट्रीय खेलों में रेसलिंग करते हैं ही। लेकिन इस बार उन्होंने ओलंपिक में भाग लेकर अपनी पहलवानी का जलवा बिखेरा है।

रवी दहिया के पिता का नाम राकेश दहिया हैं। रवी दहिया 57 किलोग्राम की कैटेगरी में रेसलिंग करते हैं।

रवि कुमार दहिया की पारिवारिक जानकारी

रवि कुमार दहिया के पिता का नाम राकेश दहिया है। रवी के पिता पेशे से एक किसान है। उनकी मां का नाम रीमा देवी है। वह हरियाणा सोनीपत में अपनी एक दुकान चलाती हैं। रवी दहिया के रेसलिंग करियर में उनकी मां का बहुत बड़ा योगदान है।

शुरुआत में रवि ने रेसलिंग करना केवल अपनी मां और अपने परिवार के कहने पर ही शुरू किया था। फिर बाद में वह इनका पैशन बन गया। रवि आज भी अपनी मां और अपने परिवार के साथ रहते हैं।

रवि दहिया का प्रारंभिक जीवन (Early life stage of Ravi Dahiya)

आज हम ओलंपिक्स में खेल रहे रवी दहिया को देखकर उनकी वाहवाही करते हैं। लेकिन रवी दहिया की शुरुआत बहुत ही मुश्किल थी। जब रवी दहिया ने अपने कैरियर की शुरुआत करने की सोची, उस दौरान उनकी परिवार की आर्थिक स्थिति बहुत खराब थी।

अतः उन्हें पहलवानी शुरू करने में काफी संघर्ष का सामना करना पड़ा। उनके पिता के पास अपनी खुद की कोई जमीन नहीं थी जिसके कारण उनके परिवार को दूसरे के खेतों को भाड़े पर ले कर काम करना पड़ता था।

खबरों के मुताबिक उनके पिता रवि को ट्रेनिंग के समय दूध और फल देने के लिए रोज गांव से दिल्ली के ट्रेनिंग सेंटर में आते थे।

लेकिन कहते हैं ना! बुरा वक्त हमेशा के लिए नहीं रहता रवी दहिया के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ था। रवि में रेसलिंग को लेकर अपार प्रेम और जुनून था इसी प्रेम और जुनून के कारण वे आज रेसलिंग में इतना अच्छा कर पा रहे हैं। आज उनके परिवार की कड़ी मेहनत आज रंग लाई है।

रवि दहिया की शिक्षा (Education of Ravi Dahiya)

रवि दहिया ने अपनी शिक्षा हरियाणा के सोनीपत के छोटे से सरकारी स्कूल से पूरी की थी। 12वीं तक पढ़ाई करने के बाद रवी दहिया ने बीए की डिग्री हासिल की है। और अपना पूरा ध्यान रेसलिंग की तरफ लगाया है।

रवि कुमार दहिया की रेसलिंग में शुरुआती ट्रेनिंग

रवि कुमार दहिया में रेसलिंग के प्रति अलग जुनून और पागलपन देखने को मिलता है। रवि कुमार दहिया ने अपनी रेसलिंग ट्रेनिंग दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम से ली थी। उन्होंने बेहद कम उम्र में रेसलिंग में अपना पहला डेब्यू किया था।

रवि का पहला मैच डेब्यू वर्ल्ड चैंपियनशिप के दौरान कियांथा। उन्होंने ईरान के खिलाड़ी और एशियन चैंपियन रीज़ा अत्रीनाघारची को हराकर अपना नाम स्वर्णिम पन्नों पर लिख दिया था।

उसके बाद उन्होंने साल 2015 में जूनियर वर्ल्ड चैंपियनशिप में 55 kg freestyle category में डेब्यू किया था। ‌ इस मैच में उन्होंने Salvador de Bahia को हराकर सिल्वर मेडल जीता था।

साल 2017 में रवि भैया को काफी चोट लगी थी जिसके बाद लंबा आराम करने के बाद वह 1 साल बाद फिर रिंग में लौटे थे।

साल 2018 में आयोजित हुई अंडर 23 वर्ल्ड चैंपियनशिप में भी रवि कुमार दहिया ने सिल्वर मेडल जीतकर इंडिया को गौरवान्वित किया था।

Asian Wrestling Championships ब्रोंज मेडल खो देने के बाद रवी दहिया ने 2019 में 5th rank हासिल किया था।

रवि ने 2020 में न्यू दिल्ली में हुए Asian Wrestling Championships में और 2021 Asian Wrestling Championship Almaty में गोल्ड मेडल जीता था।

रवि दहिया की शादी व girlfriend

सूत्रों की माने तो रवि दहिया की अभी तक शादी नहीं हुई है और ना ही उनकी कोई गर्लफ्रेंड है हुए अपडेट के अनुसार रवि कुमार दहिया एक सिंगल बैचलर है।

2021 रवि कुमार दहिया ओलंपिक मैच (Ravi Kumar Dahiya Olympic match 2021)

साल 2021 में आयोजित की गई ओलंपिक जो कि इस बार टोक्यो में मनाई जा रही है उसमें रवि कुमार दहिया ने भी भाग लिया है। अभी रवि कुमार दहिया रेसलिंग यानी कुश्ती में 57 KG के कैटेगरी से फाइनल में पहुंचे हैं।

रवि ने ओलंपिक टोक्यो 2021 में 4 अगस्त के दिन क्वार्टर फाइनल में 14-4 चार से बुल्गारिया के रेसलर जॉर्डी वैंगेलोव को बड़ी मात दी।

उसके बाद 4 अगस्त के दिन रवि कुमार दहिया ने कज़ाकिस्तान के नुरिस्लाम सनायेव को भी सेमी फाइनल में हरा कर फाइनल मैच में अपनी जगह बना ली है।

जिससे यह साबित हो चुका है कि भारत इस बार टोक्यो ओलंपिक्स में सिल्वर मेडल तो हासिल कर ही लेगा लेकिन लोगों की चाहत है कि रवी दहिया रेसलिंग में गोल्ड मेडल लेकर वापस आए।

4 अगस्त के दिन टोक्यो ओलंपिक से सेमीफाइनल में बड़ी जीत हासिल करने के बाद रवी दहिया ने फाइनल में अपनी जगह बना ली है। जिसके कारण अब रवी दहिया सीधे फाइनल में नजर आएंगे।

रवि कुमार दहिया के मेडल व उपलब्धियां

उन्होंने वर्ष 2018 में आयोजित की गई 23 अंडर वर्ल्ड चैंपियनशिप या यू कहे कि जूनियर वर्ल्ड चैंपियनशिप में 57 किलोग्राम की कैटेगरी में गोल्ड मेडल जीता था।

साल 2019 में आयोजित किए गए वर्ल्ड चैंपियनशिप में 57 किलोग्राम इवेंट में रवि कुमार दहिया ने कांस्य पदक जीता था।

साल 2020 में Asian Wrestling Championships में और 2021 Asian Wrestling Championship भी अपनी जबरदस्त रेसलिंग दिखाते हुए रवि कुमार दहिया ने गोल्ड मेडल को अपने नाम किया था। हाल ही में इन्होने टोक्यो ओलम्पिक में भारत के लिए सिल्वर मेडल जीता हैं.

रवि कुमार दहिया पर विवाद

रवि कुमार दहिया की सबसे अच्छी बात यह है कि वह अपने सभी मैच में बहुत ही दमदार तरीके से लड़ते हैं। जिसके कारण उनके मूव और मारने के तरीके में उनकी मेहनत साफ झलकती है। वह आज तक किसी विवाद में नहीं घिरे हैं। रवि कुमार दहिया अपने मैच में इतनी transparency रखते हैं कि उन्हें लेकर कोई विवाद उत्पन्न नहीं होता है।

यह भी पढ़े

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *