सौंफ खाने के फायदे और नुकसान | Fennel Seeds Benefits And Side Effects In Hindi

सौंफ खाने के फायदे और नुकसान | Fennel Seeds Benefits And Side Effects In Hindi भारत में खाने के बाद सौंफ के बीज व शक्कर या मिश्री का उपयोग माउथफ्रेशर के रूप में उपयोग किया जाता है. यह बीज प्रकृति की अनुपम भेट है. जिनका उपयोग कई घरेलू इलाज व नुस्खों में किया जाता है. विशेष रूप से पाचन शक्ति बढ़ाने में सौंफ के बीज फायदेमंद है.

सौंफ खाने के फायदे और नुकसान | Fennel Seeds Benefits In Hindi

सौंफ खाने के फायदे और नुकसान | Fennel Seeds Benefits And Side Effects In Hindi

नियमित सौंफ का सेवन करने से आप कई बीमारियों से बच सकते है. प्रति 100 ग्राम सौंफ के बीज में 345 कैलोरी ऊर्जा, कार्बोहाइड्रेट, 52 ग्राम,फाइबर आहार 40 ग्राम, तर-बतर- 0.5 ग्राम, एकलअसंतृप्त 9.9 ग्राम, पॉलीअनसेचुरेटेड- 1.7 ग्राम तथा प्रोटीन 15.8 ग्राम पायी जाती है.

स्वाद तथा सुगंध के मामले में इस बारहमासी जडीबुटी का कोई जवाब नही है. इसका उपयोग सब्जियों के साथ भी किया जाता है. सौंफ के घरेलू इलाज में क्या फायदे और नुकसान है. इसके बारे में संक्षिप्त जानकारी यहाँ दी गई है.

saunf ke Fayde Aur Upyog-

1.सौंफ त्रिदोषनाशक है, इस की तासीर ठंडी है पर यह जठराग्नि को मंद नही करती है.

2. आँखों की रोशनी सौंफ का सेवन करके बढ़ाया जा सकता है. सौंफ और मिश्री समान भाग लेकर पीस ले. इसकी एक चम्मच मात्रा सुबह शाम पानी के साथ दो माह तक लीजिए इससे आँखों की रोशनी बढ़ती है.

3. सौंफ खाने से पेट और कब्ज की शिकायत नही होती है. सौंफ को मिश्री या चीनी के साथ पीसकर चूर्ण बना लीजिए, रात को सोते वक्त लगभग 5 ग्राम चूर्ण को हल्के से गुनगुने पानी के साथ सेवन कीजिए, पेट की समस्या नही होगी तथा गैस व कब्ज दूर होगी.

4. डायरिया होने पर सौंफ खाना चाहिए. सौंफ को बेल के गुंदे के साथ सुबह शाम चबाने से अजीर्ण समाप्त होता है और अतिसार में फायदा होता है.

5. खाने के बाद सौफ का सेवन करने से खाना अच्छे से पचता है. सौंफ, जीरा व काला नमक मिलाकर चूर्ण बना लीजिए, यह उत्तम पाचक चूर्ण है.

6. अगर आप चाहते है कि आपका कोलेस्ट्रोल स्तर न बढ़े तो खाने के लगभग 30 मिनट बाद एक चम्मच सौंफ खा ले.

7. आधी कच्ची सौंफ का चूर्ण और आधी भुनी हुई सौंफ के चूर्ण में हिंग और काला नमक मिलाकर 2 से 6 ग्राम मात्रा में दिन तीन चार बार प्रयोग कराए, इससे गैस व अपच दूर होती है.

8. भुनी हुई सौंफ और मिश्री समान मात्रा में पीसकर हर दो घंटे बाद ठंडे पानी के साथ फंकी लेने से मरोडदार दस्त, आँव और पेचिश में लाभ होता है, यह कब्ज को दूर करती है तथा कई स्वास्थ्य लाभ होते है.

9. बादाम सौंफ और मिश्री तीनों बराबर भाग में लेकर पीसकर भर दे और रोज दोनों टाइम भोजन के बाद 1 चाय चम्मच का सेवन करे. इससे स्मरणशक्ति बढ़ती है.

10. दो कप पानी में एक चम्मच उबली हुई सौंफ को दो या तीन बार लेने से कफ की समस्या समाप्त होती है. अस्थमा और खांसी में सौंफ सहायक है. कफ और खासी के इलाज के लिए सौंफ फायदेमंद है.

11. गुड़ के साथ सौंफ खाने से मासिक धर्म नियमित होता है.

12. सौंफ को अंजीर के साथ खाएं और खासी व ब्रान्काईटीस को दूर भगाएँ.

13. गर्मियों में सौंफ को गलाकर सेवन करने से ठंडक मिलती है. सौंफ के पाउडर को शक्कर के साथ बराबर मिलाकर लेने से हाथों और पैरों की जलन दूर होती है.

14. यह शिशुओं के पेट और उनके पेट के अफारे को दूर करने में बहुत उपयोगी है. एक चम्मच सौंफ को एक कप पानी में उबलने दे और 20 मिनट तक इसे ठंडा होने दे. इससे शिशु के कालिक का उपचार होने में मदद मिलती है. शिशु को एक या दो चम्मच से ज्यादा यह घोल नही देना चाहिए.

15. जो लोग कब्ज से परेशान है, उनकों आधा ग्राम गुलकंद और सौंफ मिलाकर दूध के साथ रात को सोते समय लेना चाहिए. कब्ज दूर हो जाएगा.

16. इसे खाने से लीवर ठीक रहता है, इससे पाचनक्रिया ठीक रहती है.

17. रोजाना सुबह शाम खाली सौंफ खाने से खून साफ़ होता है, जो कि त्वचा के लिए बहुत फायदेमंद होता है, इससे त्वचा में चमक आती है.

18. रोजाना दाल और सब्जी के तडके में सौंफ भी डाले.

19. यदि बार बार में मुंह में छाले हो तो एक गिलाश पानी में चालीस ग्राम सौंफ पानी आधा रहने तक उबाले. इसमें जरा सी भुनी हुई फिटकरी मिलाकर दिन में दो तीन बार गरारे करे.

सौंफ खाने के फायदे और नुकसान (Fennel Seeds Side Effects In Hindi)

सौंफ के नुकसान ये है.

किसी भी वस्तु के दो पहलु होते है. सौंफ के बीज खाने के असंख्य फायदे है तथा यह एक गुणकारी औषधि है. मगर इसका अधिक मात्रा में सेवन स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है. अधिक सौंफ खाने से कई साइडइफ्फेक्ट हो सकते है, जो निम्न है.

  1. इसका अधिक मात्रा में सेवन से छिके तथा पेट में दर्द की समस्या हो सकती है.
  2. तंत्रिका तन्त्र पर बुरा प्रभाव पड़ता है.
  3. सूर्य से आने वाली किरणों की सहनशीलता बढ़ने से रेशेस की समस्या हो सकती है.
  4. कई बार यह सामने आ चूका है, इसके अधिक सेवन से ब्रेस्ट कैंसर को बढ़ावा मिलता है.
  5. प्रसूता महिला को सौंफ के बीजों का सेवन करने से पूर्व चिकित्सक की सलाह लेनी चाहिए यह कई समस्याओं को उत्पन्न कर सकती है.
  6. मधुमेह के वे रोगी जो कोई दवाई का सेवन कर रहे है, उनके लिए सौंफ का सेवन स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है.

यह भी पढ़े

हरी सौंफ खाने के फायदे (Fennel Seeds Benefits And Side Effects In Hindi) मित्रों यह लेख आपकों कैसा लगा, कमेंट कर जरुर बताए. आपकों दी गई जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे अपने मित्रों के साथ जरुर शेयर करे.

Leave a Comment

Your email address will not be published.