हिंदी वर्णमाला स्वर और व्यंजन | Hindi Varnamala Alphabet

यहाँ Hindi Varnamala Alphabet आपके लिए दी गई हैं. UKG & LKG के किड्स और स्टूडेंट्स सरल भाषा में हिंदी के स्वर और व्यंजन (Vowels and consonants) गीत, कविता, राइम के साथ याद कर सकते है. कक्षा 1,2,3,4,5 में पढ़ने वाले बच्चें इन चार्ट के माध्यम से हिंदी वर्णमाला ( अ, आ, इ, ई) और क से ह या क से ज्ञ (k se h tak) की वर्णमाला का उच्चारण आसानी से करके याद कर सकेगे.

हिंदी वर्णमाला – Alphabet

HINDI Alphabet

भाषा की सबसे छोटी इकाई को वर्ण कहा जाता हैं. वर्णों से मिलकर वर्णमाला बनती है हिंदी की वर्णमाला को हम मोटे तौर पर दो भागों में विभक्त कर सकते हैं. स्वर तथा व्यंजन में. इनकी संख्या कुल 48 होती हैं. इस आर्टिकल में हम पहले वर्णमाला के स्वरों को पढ़ेगे तथा इनके बाद स्वरों को जानेंगे.

हिंदी वर्णमाला के स्वर

अ से अनार है मीठा फल
हम सबकों देता है बल

आ से आम है मीठा और ताजा
कहलाता है फलों का राजा

इ से इमली कहलाती है
खट्टी मीठी मन को भाती है.

ई से ईख यानि गन्ना
इसके जैसा मीठा ही बनना.

उ से उल्लू पक्षी होता है
रात को जागे दिन में सोता है.

ऊ से ऊन, ऊन का स्वेटर
सर्दी भगाये जब हम काँपे थर थर.

ऋ से ऋषि तप करता है
राम नाम ही सदा जपता है.

ए से एड़ी कहलाती है
सारे शरीर को चलाती है.

ऐ से ऐनक साफ़ साफ़ दिखाए
धूप धूप से आँखों को बचाये

ओ से ओखली समझी जाए
धान कूटने के काम आए.

औ से औरत न्यारी सी
माँ के जैसी प्यारी सी

अं

अं से अंगूर है मोती जैसा फल
भरा रहता है इसमें मीठा फल

अ:

अ: से विसर्ग का
चिन्ह लिया जाता है
अंतःकरण, क्रमशः
मन:स्थिति में आता है

हिंदी वर्णमाला के व्यंजन

क से कमल, फूल बड़ा सुंदर
जहाँ खिले, वह महके सरोवर

ख से खरगोश दौड़ लगाएं
गाजर खाये और धूम मचाएं

ग से गमला, खूब लगाओ
तरह तरह के फूल खिलाओं

घ से घर होता है प्यारा
इसमें रहता है परिवार हमारा

ड़ तो रहता है गद्गाजल में
अडग रदग और मद्गल में

च से चरखा, लकड़ी की मशीन
यह सूत कातती, बहुत महीन

छ से छाता है कहलाता
बारिश धूप से हमें बचाता

ज से जहाज, चले सागर जल में
मछली और मोती, नीचे तल में

झ से झंडा, खूब प्यारा
विजयी विश्व तिरंगा प्यारा

ञ तो रहता है पञ्चम में
वांछित और मृत्युंजय में

ट से टमाटर होता है लाल
खाकर इसको बनो खुशहाल

ठ से ठठेरा ठक ठक करता
मनोयोग से बर्तन गढ़ता

ड से डमरू बजता डम डम
जीवन में सदा करे परिश्रम

ढ से ढक्कन, बर्तन ढकता
चीज सभी यह सुरक्षित रखता

ण होता है गुण ग्रहण में
कण, रण, क्षण और श्रवण में

त से तरबूज जो भी खाए
खटपट गर्मी दूर भगाएं

थ से थरमस में गर्म चाय
ठंडी न फिर यह होने पाये

द से दवात में होती स्याही
पैन में भरकर करो लिखाई

ध से धनुष चलता था तब
बंदूक नहीं होती थी जब

न से नल में पानी रहता
करो तुरंत बंद यदि देखो बहता

प से पतंग को ऊंची उड़ाना
लेकिन छत से गिर नहीं जाना

फ से फल धोकर खाओं
स्वाद भी लो और स्वास्थ्य बनाओ

ब से बतख पानी में रहती
कभी बैठती तो कभी तैरती

भ से भालू खेल दिखाएं
नाच दिखाकर मन बहलाएं

म से मछली है जल की रानी
जीवन उसका है बस पानी

य से यज्ञ खूब करों कराओं
पुण्य भी लो और घर महकाओ

र से राम को शींश नवाओ
इनके सारे गुण अपनाओं

ल से लट्टू घूमे गोल
बच्चों बोलो मीठे बोल

व से वक तो कहता सबसे
ध्यान लगाना मुझसे सीखों

श से शलगम हम सब खाते
मिट्टी में हम इसे उगाते

ष से षटकोण है बड़ा प्यारा
छः भुजा का यह सितारा

स से सपेरा बीन बजायें
सर्पों का यह खेल दिखाएँ

ह से हाथी कहता है आज
शाकाहार मेरी ताकत का राज

क्ष

क्ष से क्षत्रिय यौद्धा कहलायें
रणभूमि में धूम मचाएं

त्र

त्र से त्रिशूल हथियार
शत्रु पर करती है वार

ज्ञ

ज्ञ से ज्ञानी ने बात बताई
मन लगाकर करो पढ़ाई

दोस्तों यह थी Hindi Varnamala या Hindi Alphabet उम्मीद करता हूँ दोहों, छोटी कविता के साथ लिखी वर्णमाला आपकों याद करने या कराने में अवश्य मदद करेगी. यदि आपकों हिंदी स्वर व्यंजन का यह आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *