पेड़ों का महत्व पर निबंध Essay On Importance Of Trees In Hindi

नमस्कार दोस्तों आज का निबंध पेड़ों का महत्व पर निबंध Essay On Importance Of Trees In Hindi दिया गया हैं. हमारे जीवन में पेड़ का महत्व क्या है. वृक्षारोपण के फायदे, पेड़ मनुष्य का मित्र आदि विषयों पर आज का निबंध आधारित हैं. हम उम्मीद करते है यह पेड़ पर दिया निबंध बच्चों को बहुत मदद देगा.

पेड़ों का महत्व पर निबंध Essay On Trees In Hindi

पेड़ों का महत्व पर निबंध Essay On Trees In Hindi

Short Essay Trees In Hindi: trees are our best friends. पेड़ों का महत्व पर निबंध में आज हम जानेगे कि importance of trees in our life we all know that?, in this 10 lines on the importance of trees Essay In Hindi & save trees save human life.

Get Short Essay On Trees In Hindi Language For Students & Kids.

पेड़ पर निबंध Essay On Trees In Hindi In 600 Words

पेड़ हमे स्वस्थ बनाते है, अर्थात पेड़ो से मिलने वाली शुद्ध हवा और वस्तुओं से हम स्वस्थ रहते है. पेड़ हमारी थकान भी दूर कर देते है. पेड़ से हमें फल, फूल और मेवे मिलते है, जिनसे हम सम्पन्न भी बनते है.

पेड़ वास्तव में सबका हित, सबकी भलाई करते हैं. और उसके बदले में कुछ भी नही लेते है. वास्तव में पेड़ सेवा के अवतार है, जिनका एकमात्र कार्य दूसरों की सेवा करना होता है.

ये ,पेड़ हमें छाया देते है, बारिश करते है. ये बिना मुकुट के राजा है पेड़ ही धरती के श्रृंगार है. देखने में पेड़ हमें मनमोहक लगते है. वे हर तरह से हमारे लिए लाभदायक है.

अगर पेड़ नही होते तो छाया नही मिलती, हमें श्वास लेने के लिए शुद्ध हवा नही मिलती, बारिश नहीं होती, फल, फूल, मेवे, लकड़ी व दवाइयां इत्यादि चीजे हमें नही मिलती और धरती इतनी सुंदर दिखाई नही देती.

जहाँ अधिक पेड़ होते है, वहां शीतलता होती है और शीतलता बादलों को वर्षा के लिए आकर्षित करती है. बारिश होने से सभी ताल तलैया भर जाते है, सब तरफ हरियाली छा जाती है.

पेड़ हमेशा हमारे लिए सेवक की भाँती काम करते है. पेड़ स्वयं धूप-बारिश इत्यादि सहन करते हैं और बदले में हमे छाया फल फूल आदि कई चीजे उपहार में देते है. और इसके बदलें में कुछ भी लेते नही है.

इसलिए पेड़ को सेवा का अवतार भी कहा जाता है.  पेड़ों से हमें यह सीख मिलती है, कि दूसरों की सेवा करनी चाहिए और बिना स्वार्थ से लोगो की भलाई करनी चाहिए.

किसी से कुछ नही लेना चाहिए और सभी को मनचाहे फल फूल व छाया देकर सहायता करनी चाहिए. पेड़ो का महत्व हमारे जीवन में कई मायनों से महत्वपूर्ण है, पेड़ों के कई फायदे है पेड़ हमे प्राणवायु देते है, पर्यावरण को शुद्ध बनाते है.

पेड़ वर्षा कराने में और रेगिस्तान रोकने में सहायक होते है. पेड़ो से हरियाली फैलती है, पक्षियों को आसरा मिलता है और सभी को छाया मिलती है. इस तरह पेड़ का विशेष महत्व है.

पेड़ों का महत्व पर निबंध Essay On Trees In Hindi for class 5

पेड़ हमारे लिए बहुत उपयोगी होते है. पेड़ो से शुद्ध प्राणवायु मिलती है और पर्यावरण शुद्ध होता है. पेड़ो से हरियाली फैलती है पेड़ बादलों को आकर्षित करते है जिससे बारिश होती है.

पेड़ पर पक्षियों को आसरा मिलता है. पेड़ सभी को शीतल छाया देते है. पेड़ो से फल, फूल व लकड़ियाँ आदि प्राप्त होती है.

पेड़ो से अनेक उपयोगी सामान बनाया जाता है. पेड़ सदा सभी प्राणियों का उपकार करते है. पेड़ प्रकृति के बिना मुकुट के राजा माने जाते है. हमारे लिए सबसे अच्छे मित्र पेड़ होने के उपरांत भी हम निरंतर उन्हें काटते जा रहे है.

जिस कारण वनों का क्षेत्रफल निरंतर कम हो रहा है. प्रकृति का संतुलन बिगड़ रहा है. अतः हमें पेड़ों को न काटकर अधिक से अधिक संख्या में वृक्षारोपण करना चाहिए.

Essay On Trees In Hindi In 500 Words With Headings

वनों का महत्व- भारत में वन हमारी भव्य संस्कृति की पाठशाला और विकास भूमि रहे हैं. हमारे मुनि और मनीषियों ने वनों में रहकर ही मानव मंगल का चिंतन किया था.

केवल आध्यात्मिक दृष्टि से ही नहीं, जंगलों का मनुष्य के सामाजिक और आर्थिक जीवन के लिए सदा से ही विशेष महत्व रहा हैं. यह दुर्भाग्य ही कहा जाएगा कि मंगलकारी वनों का मनुष्य ने विकास के नाम पर और तुच्छ आर्थिक लाभ के लिए निर्ममता से विनाश किया हैं.

वनों से लाभ- जंगलों का हमारे जीवन में अनेक दृष्टियों से महत्वपूर्ण स्थान हैं. वनों की हरीतिमा जहाँ नयनों को प्रसन्नता प्रदान करती हैं. वही काष्ट, ईधन, औषधि एवं औद्योगिक पदार्थों द्वारा जंगल हमारे जीवन में मंगल का विधान करते हैं. जंगल बाढ़ों की तीव्रता को कम करके विनाश से रक्षा करते हैं.

जंगलों की हरियाली बादलों को बरसने के लिए प्रेरित करती हैं. जंगल भूमि के कटाव को रोकते हैं. वे कार्बन डाई ऑक्साइड जैसी हानिकारण गैसों का शोषण करके प्राणदायिनी ऑक्सीजन गैस का उत्सर्जन करते हैं.

जंगल नाना प्रकार के दुर्लभ जीवों की शरणस्थली होते हैं. जंगलों के कारण ही हमारे पर्यावरण का संतुलन बना रहता हैं. इस प्रकार जंगल मानव समाज के परम मित्र और मंगल विधाता हैं.

वन विनाश के दुष्परिणाम- जंगलों के कम होते जाने के अनेक दुष्परिणाम हमारे सामने आ रहे हैं. वन क्षेत्र घट जाने से पर्यावरण पर कु प्रभाव पड़ रहा हैं. ऋतु चक्र गडबडा गया हैं. वायु मंडल का गैसीय संगठन असंतुलित हो गया हैं. रेगिस्तानों का विस्तार हो रहा हैं.

सबसे बड़े संकट भूमंडलीय ताप वृद्दि ग्लोबल वार्मिंग की पदचाप सुनाई दे रही हैं. बाढ़ों की तीव्रता और जन धन की हानि बढ़ रही हैं.

पर्वतीय जंगलों के कटने से चट्टानें खिसकने, भूमि धसने की घटनाएं प्रायः सुनाई दे रही हैं. वनों के कटने से देश की जैव विविधता नष्ट होती जा रही हैं. जंगली जानवर बस्तियों की ओर बढ़ने लगे हैं.

वनों की सुरक्षा के उपाय- वनों से प्राप्त होने वाली उपयोगी वस्तुओं की आवश्यकता सदा ही बनी रहेगी, अत वन्य पदार्थों के उपयोग को नियमित और नियंत्रित किया जाना चाहिए.

जो भी उद्योग वनों से कच्चा माल ग्रहण करते हैं. उनके लिए वृक्षारोपण करना अनिवार्य बना देना चाहिए. वनों की सुरक्षा के लिए बनाए गये कानूनों का कड़ाई से पालन होना चाहिए.

वन महोत्सव तथा वृक्षारोपण जैसे अभियानों को प्रोत्साहित किया जाना चाहिए. यदि संसार में पेड़ पौधे न रहे तो यह धरती कितनी कुरूप हो जाएगी.

वनों के नष्ट हो जाने पर मनुष्य का जीवन ही संकट में पड़ जाएगा. अतः समाज में वन चेतना जगाने की आवश्यकता हैं. वनों की रक्षा में ही सुखी जीवन की रक्षा निहित हैं.

पेड़ों पर निबंध 800 शब्द Trees Essay In Hindi

प्रस्तावना :-

पेड़-पौधे के बिना मनुष्य का जीवन अधूरा होता है, पेड़ हमारे सच्चे मित्र होते है क्योंकि वह हमें बिना किसी स्वार्थ के हमें अनेक चीज़े प्रदान करते है। पेडो के होने से ही मनुष्य को शुद्ध हवा प्राप्त होती है,अगर धरती पर पेड़ नहीं होंगे तो जीव -जंतु और मनुष्य को शुद्ध हवा नहीं मिलेगी और लोग बीमार पड़ने लगेंगे और मनुष्य और जीव -जंतुओ की मृत्यु होने लगेगी। 

पेड़ -पौधे मनुष्य की तरह एक स्थान से  स्थान तक चल नहीं सकते है लेकिन पेड़ मनुष्य की तरह श्वास लेते है और प्रकृति से जहरीली गैस कार्बन डाई ऑक्साइड को इक्क्ठा करके मनुष्य को ऑक्सीनन प्रदान करते है।

धरती पर पेड़ों के होने से ही बारिश होती है और बारिश होने से हमारे चारो ओर हरियाली और खुशहाली नज़र आती है। बारिश का पानी मनुष्य के जीवन बहुत उपयोगी होता है, खेतों में जमा पानी से किसान उसमे जुताई करके उसमे धान का रोपकर खेती करते है और अन्न कि प्राप्ति होती है।

पेड़ों को काटने से कैसे बचाये :-

पेड़ों को काटने पर हमें रोक लगानी चाहिए, क्योंकि विकास के नाम पर आज के समय मे बहुत से लोग जंगलो की साफ -सफाई करने के चक्कर मे पेड़ों को दिन -प्रतिदिन काट रहे है। क्योंकि शुद्ध ऑक्सीजन की प्राप्ति की वजह से पृथ्वी मे हर मनुष्य का जीवन पेड़ों पर आश्रित होता है।

पेड़ों की कमी की वजह से हमारा पर्यावरण निरन्तर प्रदूषित हो रहा है, लोगो को शुद्ध ऑक्सीजन ना मिलने वजह से से वह कई बीमारियों का शिकार हो रहे है, लेकिन फिर भी पेड़ों के कटाव पर कोई ध्यान नहीं दे रहा है। 

यदि हम सभी एक साथ मिल कर लोगो को इकट्ठा कर फिर पेड़ बचाने के लिए समाज के सभी लोगों को रैली के माध्यम से जागरूक करते है तो पेड़ों के कटाव में कमी लाई जा सकती है।

हमारे जीवन मे पेड़ों का उपयोग :-

हम सभी के जीवन मे पेड़ बहुत ही उपयोगी होते है, क्योंकि पेड़ों से हमें फल,फूल ईमारती लड़कियां प्राप्त होती है। जब जंगलो मे बड़े -बड़े पेड़ सूखते है तो लोग उनकी लकड़ियों को काट लाते है और उनका उपयोग विभिन्न उपयोगों के लिए करते है। 

 बड़ी और मोटी लकड़ियों का उपयोग फ़नीचर बनाने मे, तख़्त बनाने मे, खिड़कियों को बनाने मे किया जाता है इसके अलावा और भी कई तरह के लकड़ी के खिलौने बनाने के लिये उपयोग किया जाता है। तथा आम की लकड़ियों का उपयोग हमारी भारतीय परम्परा के अनुसार कोई भी हवन होता है, अतः आम की लकड़ियों पर हवन करना शुभ मना जाता है। 

कई पेड़ -पौधो का उपयोग औषधियाँ बनाने के लिये किया जाता है जैसे -तुलसी, नीम, आँवला आदि के पेड़, पत्तियों, फल, फूल आदि का उपयोग करके औषधियाँ बनायीं जाती है। उनके द्वारा बनायीं गई औषधियाँ का उपयोग कई बीमारियों को ठीक करने के लिये किया जाता है।

इसके अलावा जंगलो मे कुछ ऐसे पेड़ -पौधे होते जिनको लाकर उनको जड़ी -बूटियाँ बनाकर उनका उपयोग प्राणियों के इलाज के लिये उपयोग मे लाया जाता है। यहाँ पर जानवरो और मनुष्यों के इलाज के लिये अलग -अलग पेड़ -पौधे का उपयोग करके अलग -अलग औषधियाँ बनायीं जाती है।

 पेड़ों का महत्व :-

 हम सभी के जीवन मे पेड़ों का बहुत महत्व होता है।हम सभी हर तरह से पेडो पर आश्रित होते है ,भारतीय परम्परा के अनुसार आज भी बहुत से लोग पेड़ों पर भगवान का वास मानकर उनकी पूजा करते है। जैसे – नीम, पीपल, बरगद, केला आदि मे भगवान का वास करते है इसलिए इन पेड़ों को पूजा जाता है। 

आज भी कोई पूजा होती है, तो केले के पत्ते को काट कर पत्ते पर प्रसाद रख कर भगवान को भोग लगाया जाता है। कहने तात्पर्य यह है कि हर एक पेड़ फल फूल से लेकर पत्ती तक हमारे जीवन मे हर तरह से इनका उपयोग किया जाता है।

पेड़ -पौधे  हमारे आस- पास का वातावरण  को शुद्ध बनाये रखने मे महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है।  आज के समय में वायु प्रदूषण, ध्वनि प्रदूषण, भूमि प्रदूषण को कम करने के लिये हमें अधिक से अधिक पेड -पौधे लगाने चाहिए ताकि फ़ैल रहे प्रदूषण को कम किया जा सके।

लगातार पेड़ो के कटाव की वजह से हमारे पर्यावरण पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ रहा है। मनुष्य को अपने जीवन मे बहुत सी प्राकृतिक आपदाओ जैसी समस्याओ का सामना करना पड़ता है।

पेड़ -पौधे के काटने से सही समय मे वर्षा नहीं हो पा रही है, मौसम का तापमान अधिक बढ़ रहा है जिससे भयानक गर्मी पड़ती है। इतनी तेज धूप और गर्मी के कारण पहाड़ों का बर्फ  पिघलने लगती है और बाढ़ आने की संभवना बढ़ने लगती है ।

निष्कर्ष :-

पेडो के बचाव के लिए हम सभी को पर्यावरण दिवस पर अपने घरो, स्कूलों, कालेजों पर एक पेड़ लगाने के लिये सभी को जागरूक करना चाहिए। हमें पेड़ों के महत्व के बारे मे बच्चो को शिक्षित करनी चाहिए ताकि वे बचपन से ही पेड़ो का महत्व जानकर उनकी देखभाल करे। 

क्योंकि जितने अधिक पेड़ -पौधे लगाएंगे हमें उतनी ही शुद्ध हवा प्राप्त होगी और हमारे आस -पास का वातावरण पूरी तरह से शुद्ध रहेगा।

(900 शब्द) पेड़ों के महत्व पर निबंध Importance Of Trees In Hindi

प्रकृति में पेड़ों का बहुत ही ज्यादा महत्व है। हम इंसानों का अस्तित्व भी पेड़ों पर ही निर्भर करता है अगर पेड़ ना हो तो हमारा अस्तित्व खत्म हो जाएगा। आज मनुष्य अंधाधुन तरीके से पेड़ों की कटाई कर रहा हैं! बढ़ती जनसंख्या के आवास की व्यवस्था करने के लिए हरे-भरे जंगलों को काट कर वहां रहने के लिए जगह बनाई जा रही है।

इन सभी कारणों से ग्लोबल वार्मिंग बढ़ती जा रही है साथ ही साथ मौसम भी बहुत अजीबो गरीब तरह से बदलने लगा हैं। पेड़ पौधे के कटाई के कारण बिन मौसम बरसात के साथ साथ आंधी तूफान आए दिन आ रहे हैं! यही कारण है कि आज लोगों को पेड़ों के महत्व को समझाना बहुत ही ज्यादा जरूरी हो गया है।

क्योंकि अगर वे पेड़ों के महत्व को नहीं समझेंगे तब तक पेड़ों को बचाने के लिए कोई प्रयास नहीं करेंगे। पेड़ पौधों के तो इतने ज्यादा लाभ हैं कि इनके द्वारा प्राप्त किए जाने वाले लाभ को उंगली में गिना तक नहीं जा सकता है।

प्रकाश संश्लेषण की क्रिया करके पेड़ पौधे अपने लिए भोजन का निर्माण तो करते ही हैं साथ ही साथ मनुष्य द्वारा छोड़े जाने वाले कार्बन डाइऑक्साइड को ग्रहण करके ऑक्सीजन प्रदान करते हैं। अगर पेड़ पौधे प्रकाश संश्लेषण की क्रिया ना करें तो मनुष्य ऑक्सीजन की कमी में मर जाएंगे।

यहीं नहीं, पेड़ों के कारण ही हमारा वातावरण हरा भरा और खूबसूरत लगता है। अगर हमारी धरती में पेड़ नहीं होते तो यह धरती भी कुछ कुछ रेगिस्तान के जैसी नजर आती हैं।

पेड़ पौधे केवल मनुष्य द्वारा छोड़े जाने वाले कार्बन डाइऑक्साइड को ही ग्रहण नहीं करते बल्कि वातावरण में मौजूद विषाक्त गैसों को भी ग्रहण करके ऑक्सीजन गैस प्रदान करते हैं जिससे वातावरण स्वच्छ रहता है।

पेड़ पौधे केवल वातावरण को स्वच्छ और सुंदर ही नहीं रखते बल्कि लोगों को खाने के लिए फल भी देते है। इतना ही नहीं पेड़ पौधों द्वारा दिए जाने वाले फूलों का उपयोग कई सारे कामों में किया जाता है। फल फूल देने के साथ-साथ पेड़ पौधे मनुष्यों के घातक बीमारियों के इलाज के लिए जड़ी बूटियां व अन्य औषधियां भी प्रदान करते हैं।

पेड़ पौधों द्वारा प्रदान की जाने वाले जड़ी बूटियों से छोटी-छोटी बीमारियों से लेकर बड़ी बड़ी बीमारियों का इलाज होता है। पेड़ की जड़ से लेकर पेड़ की छाल तक अलग-अलग कार्यों में उपयोग होते हैं।

“इस पूरी प्रकृति में पेड़ पौधे ही है जो केवल देते हैं लेकिन उसके बदले कुछ लेने की आशा नहीं रखते”

पेड़ पौधों के कारण वर्षा होती है और वर्षा के कारण हमारी प्रकृति और हरी भरी रहती है। वर्षा होने से झील नदी तालाब आदि में पानी की मात्रा कभी कम नहीं होती और शुद्ध जल का प्रवाह हमेशा होते रहता है जिससे जंगली जानवरों को भी कभी जल की समस्या नहीं होती।

जब बहुत तेज वर्षा होती है या यूं कहें कि आंधी तूफान आते हैं तब पेड़ पौधे मिट्टी को अपनी जड़ों से पकड़ लेते हैं जिससे तूफान के कारण मिट्टी की कटाई नहीं होती हैं। पेड़ पौधे कई बार बड़ी बड़ी क्षति होने से रोकते हैं। बाढ़ आने पर पेड़ पौधे बाढ़ के जल को तेजी से फैलने से रोकते हैं जिससे बाढ़ उतनी ज्यादा क्षति नहीं कर पाती है।

गर्मी के दिनों में पेड़ पौधे लोगों को‌ कड़कती धूप से बचाकर छाया प्रदान करते हैं। पेड़ पौधे मिट्टी को उपजाऊ भी बनाते हैं जिसके फलस्वरूप कृषि करने के लिए भूमि बहुत अच्छी हो जाती है और फसलों की पैदावार भी अच्छी होने लगती है।

पेड़ पौधों कई सारे छोटे एवम जंगली जानवरों के लिए आवास का कार्य करते है। यही कारण है कि पेड़ पौधों को हरा सोना भी कहा जाता है। इतना ही नहीं भारत में कई ऐसे पेड़ हैं जिनकी पूजा भगवान की तरह ही की जाती है।

पेड़ पौधों के महत्व के बारे में जितना कहा जाए उतना कम है इसीलिए लोगों को शहरीकरण के साथ-साथ जंगल के बचाव और पेड़ पौधे उगाने में विशेष ध्यान देना चाहिए।

पेड़ पृथ्वी प्रकृति द्वारा दी गई एक ऐसी देन हैं जो ना सिर्फ प्रकृति को खूबसूरत बनाए रखती है बल्कि मानव समेत पृथ्वी के अन्य प्राणियों को आश्रय देकर जीवन प्रदान करती हैं।

पेड़ पौधों से हमें जो वस्तुएं प्राप्त होती हैं उससे हमारी आधारभूत जरूरतों की पूर्ति होती है। इस धरती पर अगर पेड़ पौधे ना हो तो इसका पूरा संतुलन बिगड़ जाएगा फिर पौधे धरती पर संतुलन बनाए रखते हैं।

हम जो पेड़ लगाते हैं वह सिर्फ हम ही लाभ नहीं पहुंचाते बल्कि इनसे हमारे कई पीढ़ियों को लाभ पहुंचता है। पेड़ हमारे लिए किसी Assets से कम नहीं होते, बहुत से लोगों का रोजगार भी पेड़ पौधों के ऊपर निर्भर करता है।

हम मनुष्य इस प्रकृति के सबसे बुद्धिमान जीवो में गिने जाते हैं लेकिन विकास के नाम पर प्रकृति का नाश करना बुद्धिमानी नहीं बल्कि बेवकूफी है इसलिए विकास करने के साथ-साथ लोगों को पेड़ों को सुरक्षित रखने के लिए वृक्षारोपण भी करना चाहिए।

क्योंकि अगर इसी तरह से पेड़ पौधे पृथ्वी पर कम होते रहे तो 1 दिन ऐसा आएगा जब पृथ्वी पर कोई पेड़ नहीं बचेगा ऐसे हालात में लोगों को जिंदा रहने के लिए अपने साथ एक ऑक्सीजन टैंक लेकर घूमना होगा जो कि मुमकिन नहीं है।

इतना ही नहीं वह समय आने से पहले ही पृथ्वी वायु प्रदूषण जल प्रदूषण मिट्टी प्रदूषण जैसे समस्याओं से ग्रसित होकर पहले ही बंजर हो जाएगी। इसीलिए अगर पृथ्वी को बचाना है तो लोगों को पेड़ पौधे काटने से रोकना होगा और साथ ही साथ पेड़ पौधे भी लगाने होंगे।

पेड़ पौधों को पृथ्वी पर भगवान का दूसरा रूप माना जाता है क्योंकि यह हमें जीवन देते है। पाषाण काल में जब मनुष्य आदिमानव की तरह जीवन यापन करते थे तब से आज तक इतने ज्यादा विकास करने के बाद भी हम पेड़ पौधों पर ही आश्रित हैं। इसलिए हर किसी को यह समझना बहुत ज्यादा जरूरी है कि चाहे विकास कितनी ही तरह गति से क्यों ना हो! पेड़ पौधों का महत्व कभी कम नहीं होगा।

यह भी पढ़े

Hope you find this post about ”पेड़ों का महत्व पर निबंध Essay On Trees In Hindi useful. if you like this article please share on Facebook & Whatsapp. and for the latest update keep visit daily on hihindi.com.

Note: We try hard for correctness and accuracy. please tell us If you see something that doesn’t look correct in this article about Trees Essay and if you have more information History of an essay on the importance of trees for class 5 then help for the improvements of this article.

अपने विचार यहाँ लिखे