राजगढ़ मध्य प्रदेश का इतिहास History of Rajgarh Madhya Pradesh In Hindi

राजगढ़ मध्यप्रदेश इतिहास District, Geography, Soil, Area, Description Short Information History of Rajgarh Madhya Pradesh In Hindi

राजगढ़ मध्य प्रदेश: भारत के मध्यप्रदेश प्रान्त का एक महत्वपूर्ण जिला है राजगढ़ जो जिला मुख्यालय भी हैं. इतिहास में यह भील राजाओं का राजधानी शहर था. यहाँ भील शासकों ने अपनी कुलदेवी माँ जालपा की स्थापना कर पूजा अर्चना की थी. जिले की अवस्थिति इस प्रकार है इसकी सीमाएं प्राकृतिक रूप से विद्यमान हैं. उत्तरी सीमा पर मालवा का पठार तो राजगढ़ की पूर्वी सीमा पार्वती नदी बनाती है वही इसकी पश्चिमी सीमा कालीसिंध नदी बनाती हैं. जिले की मृदा प्रमुखतया काली एवं हल्के लाल रंग की है जिसकी उत्पादकता काफी अधिक हैं.

राजगढ़ का इतिहास History of Rajgarh Madhya Pradesh In Hindi

राजगढ़ का इतिहास History of Rajgarh Madhya Pradesh In Hindi

यहाँ की मिट्टी को कलमाट कहा जाता है. जो कपास के लिए उपयुक्त मानी जाती है, इसमें नमी धारण की सर्वाधिक क्षमता होती है. जिले में बिना कृत्रिम सिंचाई के भी खरीफ एवं रबी की फसलों को प्राप्त किया जा सकता हैं.   यहाँ की मुख्य फसल  गेंहूँ ज्वार और कपास हैं. जिलें में उच्च कोटि के कपास का उत्पादन भी किया जाता हैं.

इतिहास: मध्य प्रान्त के गठन के समय मई 1948 में राजगढ़ का गठन एक जिले के रूप में किया गया था.इस राजगढ़ नर सिंह गढ़, खिलचीपुर, देवास (वरिष्ठ) देवास (जूनियर) और इंदौर राज्यों में सम्मिलित कर दिया गया. राजगढ़ में उमठ राजपूतों का शासन भी रहा यहाँ परमार वंशीय राजपूतों ने भी शासन किया था. 1645 में, राजमाता की अनुमति से, दीवान अजब सिंह ने राजगढ़ के पहाड़ी क्षेत्र में भीलों को पराजित किया तथा अजब सिंह ने यहाँ सुंदर महल का निर्माण करवाया, इसके पांच द्वार थे. जिन्हें इतवारिया, भुडवारिया, सूरजपोल, पनराडिया और नया दरवाजा नाम से जाना जाता हैं. इस महल में तीन पुराने मन्दिर भी हैं. वर्तमान में राजगढ़ जिले को प्रशासनिक रूप से 5 उपखंडो एवं ९ तहसीलों में विभक्त किया गया हैं.

राजगढ़ जिले का नक्शा मानचित्र मैप

6,154 किमी² के क्षेत्रफल में बसा राजगढ़ मध्यप्रदेश का छोटा सा जिला है जो अपनी स्वच्छता एवं सुन्दरता के लिए भी जाना जाता हैं. जिले में निकलने वाली नेवज नदी को हमारे शास्त्रों में निर्विन्ध्या के नाम से जाना जाता था. जिला मुख्यालय से ५ किमी की दूरी पर स्थित माताजी जालपा का मंदिर एक महत्वपूर्ण दर्शनीय स्थल हैं. इस मंदिर के समक्ष हनुमान जी का प्राचीन मन्दिर हैं.

जिले के अन्य महत्वपूर्ण दर्शनीय स्थलों में खोयरी भी है जो जिले से उत्तरी दिशा में अवस्थित है यहाँ भगवान शिव का पुराना मन्दिर हैं. जंगल में बसे इस रमणीय स्थल में एक छोटा सरोवर भी हैं. राजगढ़ भारत का पहला जिला है जिसने सर्वप्रथम मानव विकास रिपोर्ट प्रकाशित की थी. जिले के एक एतिहासिक किले नरसिंहगढ़ को मालवा का कश्मीर भी कहा जाता हैं. राज्य में सबसे अधिक रेतीले भूभाग वाला जिला भी राजगढ़ ही हैं जिले में से राष्ट्रीय राजमार्ग 3 और 12 गुजरते है.

राजगढ़ जिले का सबसे बड़ा शहर ब्यावरा है जो एक तहसील है 20 किमी के क्षेत्रफल में फैला यह बड़ा औद्योगिक शहर है यहाँ जिले का एकमात्र रेलवे स्टेशन भी है जो इंदौर, अहमदाबाद, मथुरा, देहरादून नई, दिल्ली,कोटा, रतलाम अमृतसर आदि बड़े शहरों से जोड़ता है. देश के बड़े शहरों से ब्यावरा आ जा सकते हैं. 2011 की जनगणना के अनुसार राजगढ़ की कुल जनसंख्या 15,45,814 हैं.

नदियां

  • कालीसिन्ध- सारंगपुर
  • नेवज -राजगढ़, पचोर
  • पार्वती -नरसिंहगढ़
  • अजनार- ब्यावरा
  • गाड़गंगा -खिलचीपुर

झील

  • परसराम तालाब – नरसिंहगढ़
  • चीडिखो -नरसिंहगढ़
  • नापानेरा- ब्यावरा
  • छापीडैम- जीरापुर

राजगढ़ जिले के पडोसी जिले Neighborhood of Rajgarh district

जिले राजगढ़ की उत्तर पश्चिमी सीमा राजस्थान से मिलती हैं राजस्थान के झालावाड़ के साथ यह अपनी सीमा बनाता हैं. इस के पूर्व में राजधानी शहर भोपाल उत्तर पूर्व में गुना जिला, दक्षिण पूर्व में सीहोर और दक्षिण पश्चिमी सीमा पर शाजापुर के साथ सीमाएं बनाता हैं.

Information about Rajgarh in Hindi

नाम राजगढ़
मुख्यालय राजगढ़
प्रशासनिक प्रभाग भोपाल डिवीजन
राज्य मध्य प्रदेश
क्षेत्रफल 6,154 किमी 2 (2,376 वर्ग मील)
जनसंख्या (2011) 1,545,814
पुरुष महिला अनुपात 956
विकास 23.26%
साक्षरता दर 61.21%
जनसंख्या घनत्व 250 / किमी 2 (650 / वर्ग मील)
ऊंचाई 491 मीटर (1,611 फीट)
अक्षांश और देशांतर 24.03 ° उत्तर 76.88° पूर्व
एसटीडी कोड +91-07372′
पिन कोड 465661
संसद के सदस्य 1
विधायक 5
उपमंडल 5
तहसील 7
खंडों की संख्या 6
गांवों की संख्या 1728
रेलवे स्टेशन बिजारा राजगढ़ रेलवे स्टेशन
बस स्टेशन हाँ
एयर पोर्ट भोपाल हवाई अड्डा(114 KM)
डिग्री कॉलेजों की संख्या 7
“उच्चतर माध्यमिक विद्यालय
275
प्राथमिक विद्यालय (पूर्व-प्राथमिक को शामिल करना) 1920
मध्य विद्यालय 731
अस्पताल 11
नदी (ओं) पारबाती नदी और काली सिंध नदी
उच्च मार्ग NH-3, NH-12
आधिकारिक वेबसाइट http://rajgarh.nic.in
बैंक 99
प्रसिद्ध नेता (ओं) रोडामल नगर [भाजपा]
आरटीओ कोड MP-39
स्थानीय परिवहन बस, टैक्सी आदि

राजगढ़ जिले में विधान सभा और लोकसभा की सीटें

राजगढ़ जिले में 5 मध्यप्रदेश के विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र है, राजगढ़,खिलचीपुर, बिहोरा, सारंगपुर, नर्सिंघ्गढ़ और ये राजगढ़ लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत आते है जो जिले की एकमात्र संसदीय सीट हैं.

राजगढ़ जिले में कितने गांव है

राजगढ़ जिले में 622 पंचायतों के अंदर आने वाले 1728 गांव है,

यह भी पढ़े

दोस्तों ” History of Rajgarh Madhya Pradesh In Hindi” में दी गई जानकारी आपकों पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर जरुर करें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *