Vishwa Vigyan Divas | विश्व विज्ञान दिवस 10 नवम्बर

Vishwa Vigyan Divas हर साल 10 नवम्बर को सयुक्त राष्ट्र संघ के सभी सदस्य राष्ट्रों द्वारा विश्व विज्ञान दिवस मनाया जाता है. इस दिन विज्ञान किस तरह विश्व शान्ति और प्रगति में अहम भूमिका निभा सकती है. इस विषय को लेकर अनेक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है. विश्व विज्ञान दिवस 10 नवम्बर को ही क्यों मनाया जाता है. इसके मनाने के पीछे का मूल कारण, उद्देश्य तथा इस दिन को मनाने के लिए हर वर्ष की थीम के बारे में हम विश्व विज्ञान दिवस पर निबन्ध के इस लेख मे चर्चा करेगे.

Vishwa Vigyan Divas | विश्व विज्ञान दिवस

10 नवम्बर को ही विश्व विज्ञान दिवस मनाने की प्रथा की शुरुआत 2001 से हुई, इस दिन को पहली बार अंतराष्ट्रीय कार्यक्रम के रूप में पहली बार 1999 में हंगरी के बुडापेस्ट शहर में सयुक्त राष्ट्र संघ के तत्वाधान में इसका आयोजन हुआ था. तब से लेकर वर्ष 2017 तक इसे निरंतर मनाया जा रहा है.

वही भारत में इसी दिन की तर्ज कर 28 फरवरी को राष्ट्रीय विज्ञान दिवस दिवस महान वैज्ञानिक डॉक्टर सी वी रमन की याद में मनाया जाता है. इन्होने इसी दिन 1928 को अपने वैज्ञानिक अविष्कारों से दुनिया को अवगत करवाया था. इस दिन के ठीक दो साल बाद इन्हें विश्व के सबसे बड़े नागरिक सम्मान नोबल पुरस्कार से नवाजा गया था.

विश्व विज्ञान दिवस मनाने का उद्देश्य (Why celebrating World Science Day)

संयुक्त राष्ट्र शैक्षिक, वैज्ञानिक एवं सांस्कृतिक संगठन (यूनेस्को) द्वारा सभी वैज्ञानिक अविष्कारों को दुनिया के प्रत्येक इंसान तक उसकी महत्ता और उपयोग की जानकारी पहुचाने के लिए यह दिवस मनाया जाता है. शान्ति और विकास जैसे विषयों में कैसे विज्ञान अपनी अधिक से अधिक भूमिका अदा कर सकती है. इस अवसर पर विभिन्न देशों के विज्ञान विभाग, संस्थानों और विश्वविध्यालयों द्वारा विज्ञान से जुड़े अनेक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है.

इस प्रकार के दिवसों के जरिये न सिर्फ आमजन को विज्ञान से जुड़े विषयों पर जानकारी दी जाती है. साथ ही विज्ञान विषय में रूचि रखने वाली विद्यार्थियों का मार्गदर्शन कर उन्हें इस क्षेत्र में आगे बढ़ने के लिए प्रेरित किया जाता है. इसी हेतु की पूर्ति के लिए विद्यालयों और कॉलेजों में विश्व विज्ञान दिवस के अवसर पर विभिन्न कार्यक्रम और संगोष्ठियों का आयोजन करवाया जाता है.

विश्व विज्ञान दिवस का महत्व (Importance of World Science Day)

आज के समय में विज्ञान हमारे जीवन का अहम बन चुकी है शायद ही ऐसा कोई क्षेत्र होगा जिसमे हमे विज्ञान के आविष्कार के अविष्कारों का फायदा न मिला हो. विज्ञान के बिना हमारा जीवन एक तरह से अपूर्ण लगता है. विज्ञान दोधारी तलवार की तरह है जिसका उपयोग विनाश व सर्जन दोनों के लिए किया जा सकता है यह हम पर निर्भर है हम इसका उपयोग किस तरह करना चाहते है.

वर्ष 2015 में विश्व विज्ञान दिवस का विषय (थीम) विज्ञान की गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा रखा गया था. 14 में इसका विषय मानव जीवन के लिए सुनिश्चित भविष्य हेतु तथा 2013 में इसकी थीम साइंस फॉर वाटर कोऑपरेशन: शेयरिंग डेटा, नॉलेज एंड इन्नोवेशंस रखी गई थी.

विश्व विज्ञान दिवस पर स्लोगन/नारे (Science Day quotes in Hindi)

विज्ञान की तीन विधियाँ हैं – Theory, experimentation and simulation


साइंटिस्ट इस संसार का, जैसे है उसी रूप में अध्ययन करते हैं । इंजिनियर वह संसार बनाते हैं जो कभी था ही नहीं ।


विज्ञान की बहुत सारी मान्यताएं गलत/भ्रामक हैं ; यह पूरी तरह ठीक है । ये ही सत्य-प्राप्ति के झरोखे हैं 


बिमारी और दरिद्रता से विज्ञान निकाल सकती है मगर इसके बदले में सामाजिक अशांति को भी बदल सकने की योग्यता रखती है.


यह विज्ञान के धर्म की खास बात है कि यह तथ्य करता है।


विज्ञान पृथ्वी पर सदा से मौजूद सिद्धांतो की खोज है.

दीपावली – Deepawali
लोग देख रहे हैं 145
दिवाली या दीपावली अन्धकार पर प्रकाश...

Leave a Reply