Sanskrit Paheliyan With Answers | संस्कृत प्रहेलिका बेहतरीन पहेलियाँ

Sanskrit Paheliyan With Answers संस्कृत प्रहेलिका बेहतरीन पहेलियाँ: देव भाषा संस्कृत वर्तमान समय में पिछड़ रही हैं. लोग तेजी से भूलते जा रहे हैं sanskrit prahelika आज हम आपके लिए लाए हैं. यहाँ दी गई sanskrit ki paheliyan स्टूडेंट्स के लिए ज्ञानवर्धन के उद्देश्य से दी गई हैं. चलिए जानते हैं कुछ फेमस पहेलियाँ.

Sanskrit Paheliyan With Answers संस्कृत पहेलियाँ

Sanskrit Paheliyan With Answers संस्कृत प्रहेलिका बेहतरीन पहेलियाँ


संस्कृत प्रहेलिका 1

नान्न फलं वा खादामि न पिबामि जलं किंचित
चलामि दिवसे रात्रौ, समय बोध्यामि च |

उत्तरम्- घटी


संस्कृत प्रहेलिका 2

Telegram Group Join Now

मुखं कृष्ण वायुः क्षीणः मंजूषाया च संस्कृतम
घर्षण में दहयत्याशु रसवत्यां वसामह्यम

उत्तरम्- अग्निपेटिका


संस्कृत प्रहेलिका 3

एकचक्षुरन काकोअय बिलमिच्च्छं पन्नग
क्षीयते वर्धते चैव, न समुद्रों न चन्द्रमा

उत्तरम्- सूचीका


संस्कृत प्रहेलिका 4

सुतोअपि नेत्रे न निमीलयामि जलस्य मध्ये निवसामि नित्यम
स्वजातिजीमा मम भोजनानि, वदन्तु मान्यः मम नामधेयम

उत्तरम्- मत्स्यः


संस्कृत प्रहेलिका 5

यानस्याड्क हरेः शस्त्रं चिहं भारतभूयते
चलंत वर्तुलाकार यो जानाति स पंडितः

उत्तरम्- मयूरः


संस्कृत प्रहेलिका 6

मेघश्यामोअस्मिन नो कृष्ण, महाकायो न पर्वतः
बलिष्ठोअस्मि भीमोअस्मि कोअस्म्यहं नासिकाकर:

उत्तरम्- गजः


संस्कृत प्रहेलिका 7

वृक्षाग्रवासी न च पक्षिराज: त्रिनेत्रधारी न च शूलपाणी:
त्वग्वस्त्रधारी न च सिद्धयोगी जलं च बीभ्न्न घटो न मेघ:

उत्तरम्- नारिकेलम


संस्कृत प्रहेलिका 8

विष्णों का बल्लभा देवी लोकत्रितयचारिणी
वर्णावाध्तिमौं दत्वा कः तुल्यवाचकः

उत्तरम्- समानम

संस्कृत प्रहेलिका 9

” न तस्यादिः न तस्यान्तः मध्ये यः तस्य तिष्ठति।
तवाप्यस्ति ममाप्यस्ति यदि जानासि तद्वद।। “

उत्तरम्- नयन

संस्कृत प्रहेलिका 10

वृक्षाग्रवासी न च पक्षिराजः
तृणं च शय्या न च राजयोगी|
सुवर्णकायो न च हेमधातुः
पुंसश्च नाम्ना न च राजपुत्रः||

उत्तरम्- आम्र

यह भी पढ़े-

दोस्तों उम्मीद करता हूँ sanskrit puzzles with answers में दी गई जानकारी आपकों अच्छी लगी होगी. यदि आपकों  Sanskrit Paheliyan पसंद आई हो तो अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे.

Leave a Comment