हिल स्टेशन शिमला के बारे में जानकारी | Information About Shimla in Hindi Language

नमस्कार दोस्तों हिल स्टेशन शिमला के बारे में जानकारी Information About Shimla in Hindi लेख में आपका हार्दिक स्वागत हैं. इस आर्टिकल में हम हिल स्टेशन शिमला के बारे में जानेगे. खूबसूरत शहर शिमला का इतिहास भूगोल सौन्दर्य और पर्यटन स्थलों के बारे में जानेगे.

शिमला की जानकारी Shimla Hill Station in Hindi

हिल स्टेशन शिमला के बारे में जानकारी Information About Shimla in Hindi Language

शिमला, जिन्हें भारत के सबसे पसंदीदा हिल स्टेशन के रूप में जाना जाता है. यह भारत के हिमाचल प्रदेश राज्य की राजधानी शहर भी है. आपको पता हो तो अंग्रेजो के काल में गर्मी के मौसम में सम्पूर्ण प्रशासन इसी शहर में आ जाता था.

इस कारण शिमला को ग्रीष्मकालीन (समर कैपिटल) राजधानी के रूप में जाना जाता है.शिमला के पर्यटन स्थल में मुख्य रूप से समर हिल्स, जाखू हिल, दी स्कैंडल पॉइंट, रिज, इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ़ एडवांस्ड स्टडीज, दी शिमला स्टेट म्यूजियम, अन्नान्दाले, नालदेहरा एंड शैली पीक, चाडविक फॉल, कुफरी, चैल, दरानघाटी अभयारण्य, क्राइस्ट चर्च, तारा देवी मंदिर आदि मुख्य दर्शनीय स्थल है.

इस शहर को पहाड़ों की रानी भी कहा जाता है. यह शहर समुद्रतल से लगभग ८ हजार फीट की उंचाई पर स्थित होने के कारण विशेषकर गर्मियों के मौसम में लोगों के लिए आकर्षण का स्थल रहता है.

नवविवाहित दम्पति हनीमून के लिए इसे भारत में प्रसिद्ध स्थल के रूप में जानते है. स्नोफाल के इस मनोरम द्रश्य वाले शहर की स्थापना १८१९ में की गयी थी.

शिमला का समर फेस्टिवल यहाँ के मुख्य फेस्टिवल के रूप में जाना जाता है. इस शहर का नाम यहाँ की मुख्य देवी श्यामला के नाम पर रखा गया है.

बर्फ से सनी वादियों का यह शिमला शहर लोगों को गर्मी के मौसम में तेज लू एवं गर्मी से राहत प्रदान करता है. यहाँ दर्जन से अधिक आकर्षक पर्यटन स्थल है.

जिनमें से कुछ मुख्य स्थलों के बारे में जानकारी आपको यहाँ बता रहे है. जिन्हें आपकों शिमला की सैर के समय अवश्य विजिट करना चाहिए.

शिमला के पर्यटन स्थल बारे में जानकारी

समर हिल्स (Summer Hills)-यह शिमला शहर का ही एक उपभाग है. जो मुख्य शहर से ५ किलोमीटर दूर सात पहाड़ियों की श्रेणी में स्थित है. 1965 की स्थापित इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ एडवांस्ड स्टडी भवन जो अंग्रेजी काल में राष्ट्रपति भवन हुआ करता था. मुख्य आकर्षण का केंद्र है.

साथ ही यहाँ से महात्मा गाँधी व् प्रसिद्ध चित्रकार अमृता शेरगिल की यादे भी जुड़ी हुई है. विज्ञान कानून व् भाषा का अध्ययन करने वाले देशी विदेशी यात्रियों के लिए यह पसंदीदा हिल स्टेशन है, यह कालका शिमला रेल लाइन के पास ही पड़ता है.

कुफरी (Kufri Shimla)- शिमला शहर से २२ किमी दूर बर्फ की चादर ओढ़े हुए खूबसूरत सा यह पर्यटन स्थल हमेशा आने जाने वाली की हलचल से जीवंत रहता है.

यहाँ पर घुड़सवारी, स्लो मैंन तथा रोप क्लाइम्बिंग के गेम्स का लुफ्त उठा सकते है. खर्च के लिहाज से यह कुछ महंगा हिल स्टेशन है.

चैल Chail Shimla-शिमला शहर से ४४ किलोमीटर दूर स्थित यह चैल हिल स्टेशन कई कारणों से लोगो के आकर्षण का केंद्र रहता है. यहाँ का चाइल भवन वास्तुकला का अनुपम उदहारण है.

अंग्रेजी जमाने के पोलो मैदान को क्रिकेट मैदान के रूप में तब्दील किया गया है. तक़रीबन २३०० मीटर की उंचाई पर यह क्रिकेट का यह सबसे ऊँचा मैदान है.

तत्तापानी -सतलज नदी के किनारे बसा तट्टापानी गांव शिमला शहर से ४५ किमी दूरी पर स्थित है. यह समुद्रतल से २३०० मीटर की उंचाई पर स्थित है, इस गाँव में जादुई जल का स्रोत देश भर में प्रसिद्ध है.

जिससे कई प्रकार की बीमारियों का इलाज भी किया जाता है. दर्द, थकान, तनाव राहत, और खराब रक्त परिसंचरण,त्वचा सम्बन्धी बीमारियों में यह जल काफी फायदेमंद है. सतलज के किनारे यह पर साइक्लिंग का अनुभव सबसे अलंग अंदाज वाला होता है.

तारा देवी मंदिर- शोघी नामक गाँव जो हिमाचल की राजधानी शिमला से १३ किमी की दूरी पर स्थित है. यहाँ पर स्थित तारा देवी मन्दिर का हिन्दू व् बौद्ध धर्म में बड़ा महत्व है.

हिन्दुओं में इसे देवी दूर्गा का नौवा रूप माना जाता है. यह मनोरम द्रश्य होने के साथ साथ माना जाता है कि यहाँ आने पर महामारी चेचक, प्लेग, हैजा एवं पशुओं में खुररोग, मुँहरोग, मस्से आदि रोगों का निदान भी हो जाता है.

दरान घाटी वन्य जीव अभयारण्य– पहाड़ों की रानी यानी शिमला शहर से  तकरीबन डेढ़ सौ किलोमीटर दूर स्थित ये वाइल्ड एनिमल सेंचुरी यहाँ आने वाले पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र रहा है.

यह वन्य जीव उद्यान 168 किलोमीटर के क्षेत्र में फैला हुआ है. आजादी से पूर्व तक अंग्रेज शासक व् देशी राजा महाराजे यहाँ पर शिकार खेलने के लिए आया करते थे. १९६२ में भारत सरकार ने इसे अभ्यारण्य की श्रेणी में शामिल कर दिया.

टाउन हॉल (Town Hall)-शिमला के शहरी निकाय (नगरपालिका) भवन के रूप में स्थापित यह भवन पूर्व में टाउन हॉल के नाम से प्रसिद्ध था. इसे १९१० में बनाया गया था.

शहर के मॉल रोड पर स्थित यह ऐतिहासिक इमारत देखने के लिए बड़ी संख्या में आगन्तुक आते है. गेयटी थियेटर परियोजना के रूप में इस टाउन हॉल का जीर्णोद्धार किया जा रहा है.

सरकार इसके मूल स्वरूप में बिना कोई बदलाव किये ८ करोड़ के खर्च के साथ इसे आकर्षक रूप देने जा रही है. यदि आप शिमला की सैर पर है, तो आपको जरुर इस ऐतिहासिक इमारत का मुहायना करना चाहिए.

वाइल्ड-फ्लावर हॉल – शिमला शहर से १३ किमी व मशोबरा से ८ किमी की दूरी पर स्थित यह शिमला का महत्वपूर्ण पर्यटन स्थल है. समुद्र से इस स्थान की उंचाई २५०० मीटर है.

अंग्रेजी जमाने में यह लॉर्ड किचनर का निवास स्थान था. वर्तमान में इसे एक होटल में तब्दील कर दिया गया है. इसके आस-पास चीड व् देवदार के वृक्षों पर पक्षियों के कलरव का द्रश्य बेहद मनमोहक होता है.

 शिमला स्टेट म्यूजियम (Shimla State Museum) – शिमला की पहाड़ी पर स्थित इस लाइब्रेरी को हिमाचल स्टेट म्यूजियम लाइब्रेरी के नाम से भी जाना जाता है.

यहाँ पर अतीत भारत की व् अंग्रेजी काल की बेहतरीन पेंटिंग, हस्तकला का समान, कलाकृति, मूर्तियाँ व् कलाकृतियों का अनुपम संग्रह है.

लॉर्ड विलियम बेन्टिक का पूर्व निवास स्थान है इन्हें बाद एडवर्ड लॉ एवं कुछ समय तक भारतीय अधिकारी भी इस भवन में रहा करते थे. 26 जनवरी, 1974 को इसे हिमाचल संग्राहलय शिमला का दर्जा दे दिया गया था.

Shimla Hill Station tourist places के विषय में आपको कुछ प्रसिद्ध पर्यटन स्थलों के बारे में जानकारी दी, जिन्हें आप शिमला की यात्रा के दौरान अपने स्थलों में शामिल कर सकते है.

इसके अतिरिक्त पहाड़ों की रानी (शिमला) में सैकड़ो ऐसे स्थल है, जो यहाँ आने वाले हर पर्यटक को अपनी ओर आकर्षित करते है. तथा एक बार देखने के बाद भी आपको बार बार यहाँ आने के लिए मोहित करते है.

कैसे जाएँ – Shimla Tour & Travels Guide in Hindi

शिमला शहर भारत के बड़े शहरों में गिना जाता है. यहाँ पहुचने के मुख्य परिवहन माध्यम वायु, रेल और सड़क द्वारा अच्छी तरह जुड़ा हुआ है। जिनमें से आप अपनी सुविधा के अनुसार किसी भी माध्यम को चुनकर शिमला की यात्रा कर सकते है.

हवाई मार्ग – जुबर्हाती एयर पोर्ट शिमला का सबसे नजदीकी एयरपोर्ट है. दिल्ली तथा भारत के अन्य शहरों से आप शिमला के लिए सीधी फ्लाईट में यात्रा कर सकते है. मुख्य रूप से दिल्ली के इंदिरा गांधी एयरपोर्ट से यहाँ के लिए एयरलाइन्स उपलब्ध रहती है.

रेल मार्ग – नैरोगेज रेलवे लाइन के जरिया शिमला पहुचने के लिए सबसे नजदीकी रेलवे स्टेशन कालका है. दिल्ली, जयपुर, पटना व् भारत के अन्य शहरों से कालका के लिए सीधी गाड़ियाँ उपलब्ध रहती है.

सड़क मार्ग – शिमला आप बस के जरिये भी यात्रा कर सकते है. दिल्ली, चण्डीगढ़ तथा जयपुर के रूट से आसानी से सरकारी व् निजी बसे उपलब्ध रहती है.

उतराखंड पर्यटन विभाग की आधिकारिक वेबसाइट से आप अपने नजदीकी शहर से शिमला की यात्रा के लिए उपलब्ध गाड़ियों के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त कर सकते है. चंड़ीगढ़ से 118 व् दिल्ली से शिमला की दूरी साढ़े तीन सौ किमी दूरी है.

यह भी पढ़े

मित्रो हिल स्टेशन शिमला के बारे में जानकारी Information About Shimla in Hindi Language में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी, हमे कमेंट कर जरुर बताए. यह लेख आपको अच्छा लगा हो तो प्लीज इसे अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *