हैमलेट की कहानी Story of Hamlet in Hindi

हैमलेट की कहानी Story of Hamlet in Hindi: शेक्सपियर इंग्लिश लिटरेचर के शहंशाह माने जाते हैं। उन्होंने कई सारे नाटक और कहानियां लिखी है। उनके द्वारा लिखी गई हर रचना खुद में एक मास्टर पीस है। आज हम आपको शेक्सपियर द्वारा लिखी गई एक बहुत ही फेमस नाटक story of Hamlet की कहानी बताएंगे। शेक्सपियर द्वारा लिखी गई यह कहानी उनकी श्रेष्ठ रचनाओं में से एक है। भारत के बहुत से यूनिवर्सिटी और स्कूल में शेक्सपियर का ये नाटक पढ़ाया जाता हैं।

हैमलेट की कहानी Story of Hamlet in Hindi

हैमलेट की कहानी Story of Hamlet in Hindi

Hamlet एक ट्रैजिक स्टोरी हैं। जिसमे कई सारे किरदार हैं। और शेक्सपियर की कहानी बिना किरदारों को जाने समझी नहीं जा सकती है। Hamlet कहानी के Characters के नाम है –

  • Hamlet (डेनमार्क का राजकुमार)
  • Claudius (Hamlet का चाचा और इस कहानी का दुश्मन)
  • Gertrude (Hamlet की मां)
  • Polonius (राज्य का दरबारी)
  • Ophelia (Polonius की बेटी और Hamlet की प्रेमिका)
  • Laertes (Ophelia क भाई)
  • Horatio (Hamlet का दोस्त)

हैमलेट की कहानी Hamlet Story in Hindi

डेनमार्क के राजकुमार का नाम Hamlet था। डेनमार्क में यह बातें चल रही थी कि डेनमार्क के राजा और Hamlet के पिता की सांप के काटने से मृत्यु हो गई है।

डेनमार्क के राजा के मरने के बाद Hamlet की मां ने राजा के भाई Claudius से शादी कर ली।

पर कुछ दिनों बात लोगों के बीच किले के पास एक भूत भटकने की अफवाह फैलने लगी। डेनमार्क के किले पर भटकते हुए इस भूत को महल के सैनिकों ने देखा था।

सब का यही कहना था कि वह भूत महल के राजा का भूत है।

सैनिकों ने इस भूत के बारे में Horatio को बताया। Horatio एक बहुत अच्छा स्कॉलर और Hamlet का दोस्त था। Horatio किसी भी चीज पर आसानी से यकीन नहीं करता था इसलिए उन्होंने खुद जाकर तफ्तीश करने का सोचा।

Horatio महल के किले के पास गया। Horatio को भी वह भूत दिखाई दिया और भूत को देखकर वो समझ गए कि यह भूत राजा का ही भूत है।

यह बात जानने के बाद Horatio ने यह बात Hamlet को बताया और दोनो राजा के भूत से मिलने के लिए गए। पास जाकर राजा के भूत ने Hamlet को बताया कि वे सांप के काटने से नहीं मरे हैं।

बल्कि उन्हें तो उनके भाई Claudius ने विष देकर मारा था। राजा के भूत ने Hamlet को कहा कि तुम्हें मेरे मौत का बदला लेना होगा Hamlet! तुम्हें मेरे मौत का बदला लेना होगा! तुम्हें मेरे मौत का बदला लेना होगा ! यह कहते-कहते वह भूत गायब हो गया।

अपने पिता के भूत की ये बातें सुनकर Hamlet को बहुत बुरा लग रहा था और उसे बहुत तेज गुस्सा आ रहा था। गुस्से में Hamlet ने प्रण लिया कि वह अपने पिता की मौत का बदला लेगा।

लेकिन बदला लेने से पहले Hamlet भूत के द्वारा बोली गई बात को पक्का करना चाहता था। इसीलिए Hamlet ने पागल होने का नाटक शुरु कर दिया। Hamlet कहने लगा कि उसे सभी लड़कियों से नफरत है। वह किसी भी लड़की को देखना नहीं चाहता है। Hamlet ने सुसाइड करने की भी कोशिश की।

उनकी इस हालत को देखकर सभी लोग परेशान हो गए। Hamlet की मां को अपने बेटे की इस हालत को देखकर काफी बुरा लग रहा था।

Polonius को लग रहा था कि Hamlet के इस हालत की जिम्मेदार उनकी बेटी Ophelia ‌है। इसीलिए Hamlet की हालत के बारे में और जानने के लिए Polonius ने उनके ऊपर निगरानी रखना शुरू कर दिया।

Polonius के साथ-साथ राजा और रानी ने भी Hamlet के बारे में जानने के लिए उनके पीछे उनके दो दोस्तों को लगा दिया।

पागलपन का ड्रामा करते हुए Hamlet ने राजा के दरबार में एक नाटक पेश किया। इस नाटक में उन्होंने दिखाया कि किस तरह राजा के भाई ने राजा को विष देकर मारा था। लेकिन सबको यही बताया गया कि राजा सांप के जहर से मरे थे।

इस नाटक को देखकर Claudius को पछतावा हो रहा था जिसके कारण वह अपनी पत्नी के साथ दरबार छोड़ कर चले गए।

राजा को ऐसे जाते देख कर Hamlet समझ चुके थे कि जो कहानी भूत ने उन्हें बताई थी वह कहानी सच है। अपने पिता की मृत्यु की असलियत जान कर Hamlet को बहुत गुस्सा आ रहा था।

गुस्से में Hamlet डेनमार्क की रानी यानी कि अपनी मां के पास गए और उनसे बात करने लगे।

Hamlet को अपनी मां के ऊपर बहुत गुस्सा आ रहा था कि उन्होंने अपने पति के हत्यारे से ही शादी कर ली। Hamlet ने अपनी मां को बहुत खरी-खोटी सुनाई।

Hamlet इतना ज्यादा गुस्सा थे कि उनकी मां को लग रहा था कि कहीं वह उन्हें मार ही ना दें।

इस बातचीत के दौरान Hamlet को कमरे में अचानक पर्दे हिलने की आहट सुनाई दी। तो उन्हें लगा कि यह कोई और नहीं बल्कि Claudius है।

Hamlet ने बिना कुछ सोचे समझे अपने तलवार को पर्दे के पीछे छिपे व्यक्ति के आर पार कर दिया। जब पर्दे के पीछे से वह व्यक्ति बाहर आया तब Hamlet को पता चला कि वह व्यक्ति Claudius नहीं बल्कि Polonius है।

Polonius को इस हाल में देखकर Hamlet को काफी बुरा लग रहा था। लेकिन जो भी हो उनके हाथों से एक इंसान की मौत हो चुकी थी। डेनमार्क का कानून काफी सख्त था।

इसलिए Hamlet को इस सजा से बचाने के लिए Claudius ने Hamlet को इंग्लैंड भेजने का निश्चय किया।

जहां उन्होंने पहले ही अपने आदमियों को यह संदेश दे दिया था कि वे Hamlet को वहां पर मार दे। लेकिन वह चिट्ठी किसी तरह Hamlet के हाथ में पहुंच गई थी। तो Hamlet ने चिट्ठी में अपने नाम की जगह उन दोनों लड़कों का नाम डाल दिया जिन्हें क्लॉडियस Hamlet के साथ भेज रहे थे।

Hamlet को Polonius के मौत का बहुत दुख था। क्योंकि Polonius ना सिर्फ एक जांबाज सिपाही थे बल्कि Ophelia के पिता भी थे।

हमलेट को कुछ दिन बाद यह सूचना मिली कि Ophelia ने अपने पिता की मृत्यु के गम में अपनी जान दे दी हैं।

Hamlet, Ophelia के मौत का जिम्मेदार खुद को मान रहे थे। लेकिन यह बिल्कुल गलत था क्योंकि जो Hamlet से हुआ वह महज एक हादसा था। लेकिन फिर भी Hamlet Ophelia के अंतिम संस्कार में जाना चाहते थे।

इसीलिए Hamlet Ophelia के आर्ग चले गए। Hamlet को वहां देख कर Laertes को बहुत गुस्सा आया क्योंकि Hamlet ki वजह से Laertes के पिता और बहन दोनों ही इस दुनिया में नहीं रहे।

बातचीत वाले झगड़े ने जल्द ही हाथापाई का रूप ले लिया। राजा क्लॉडियस ने दोनों को रोकते हुए कहा कि अगर तुम दोनों यद्यपि लड़ना ही चाहते हो! तो असली योद्धा की तरह लड़ो।

Hamlet ने Laertes के साथ तलवारबाजी का मुकाबला स्वीकार कर लिया। Hamlet और Laertes ने अपनी अपनी तलवार ले ली।

Claudius ने Laertes को कहा कि अगर तुम Hamlet को मारना चाहते हो तो अपनी तलवार की नोक पर यह विष लगा लो। फिर जैसे ही यह तलवार Hamlet के शरीर पर कोई घाव करेगी तो Hamlet की मौत हो जाएगी।

तलवारबाजी का यह खेल शुरू हो गया। Hamlet काफी अच्छा लड़ रहा था! लड़ाई के दौरान राजा क्लॉडियस ने Hamlet को पीने के लिए drink ऑफर की। लेकिन Hamlet ने उनके इस ऑफर को यह कहकर मना कर दिया कि अब वह इस लड़ाई के बाद अपने जीतने पर ही कुछ पीएंगे।

Hamlet और Laertes के बीच काफी अच्छी लड़ाई हो रही थी। Laertes ने Hamlet के शरीर पर अपनी तलवार से घाव कर दिया। उसी समय रानी Gertrude ने विष से भरा ड्रिंक पी लिया जिसकी वजह से उनकी मौत हो गई है।

रानी को इस तरह मरते देख कर Hamlet सब समझ चुके थे और उन्होंने Laertes को उसी की तलवार से मार दिया और फिर उसी तलवार से राजा Claudius को भी मार दिया।

इस तरह Hamlet ने अपने पिता की मौत का बदला तो ले लिया था लेकिन तब तक विश उनके भी शरीर पर फैल चुका था। अपने दोस्त Hamlet को इस तरह मरते देख कर Horatio ने खुद भी मरने का फैसला किया।

लेकिन Hamlet ने उन्हें यह कहकर रोक दिया कि उसे दुनिया को बताना होगा कि Hamlet और राजा के साथ क्या हुआ था। इस तरह अपने पिता की मौत का बदला लेते हुए Hamlet की मौत हो गई।

शेक्सपियर द्वारा लिखे गए इस नाटक Hamlet का एक दुखद और ट्रैजिक अंत हुआ।

यह भी पढ़े

लेखक के शब्द

यह शेक्सपियर द्वारा लिखी गई एक और मास्टर पीस है, जिसे जितने बार पढ़ो उतना कम है! उनकी यह कहानी इतनी ज्यादा प्रसिद्ध हुई कि इस कहानी के आधार पर बॉलीवुड में “हैदर” फिल्म भी बनाई गई है।

आपको हैमलेट की कहानी Story of Hamlet in Hindi की यह कहानी कैसी लगी? नीचे कमेंट करके जरूर बताइए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *