करण जौहर का जीवन परिचय जीवनी Karan Johar Biography In Hindi

करण जौहर का जीवन परिचय जीवनी Karan Johar Biography In Hindi: करण जौहर बॉलीवुड के जाने माने एक्टर, डायरेक्टर और प्रोडूसर हैं जो अपनी बेबाकी के लिए जाने जाते हैं।  इस बेबाकी की वजह से इन्हें बहुत सारे विवादों का भी सामना करना पड़ा है।  करण जौहर की शादी नहीं हुई है परन्तु सरोगेसी की मदद से ये दो जुड़वा बच्चों की पिता बने हैं जिनका जन्म 7 फरवरी को हुआ था। 

करण जौहर का जीवन परिचय जीवनी Karan Johar Biography In Hindi

करण जौहर का जीवन परिचय जीवनी karan johar biography in hindi

इनका करियर सदाबहार मानी जाने वाली फिल्म दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे से शुरू हुआ।  उसके बाद से ही  इन्होने अपने निर्देशन से बॉक्स ऑफिस पर धूम मचा दी।  बॉलीवुड को ये बहुत सारी हिट फ़िल्में दे चुके हैं। मनमोहन सिंह के बाद लंदन ओलंपिक्स में आमंत्रित होने वाले दूसरे भारतीय करण जौहर ने इस इंडस्ट्री से बहुत नाम कमाया है।

करण के दो बच्चों में से एक लड़की है और एक लड़का है जिनमें लड़की का नाम रूही और लड़के का नाम यश है।  दोनों बच्चों के नाम करण ने अपने माता पिता पर रखे हैं।  एक इंटरव्यू में करण ने कहा की दोनों बच्चों से पहले मेरे दोस्त माता पिता ही थे और अब ये दोनों भी मेरे दोस्त बन गए हैं।  इसके कारण मेरा जीवन पूरी तरह से बदल चूका है।

नामकरण जौहर
व्यवसायनिर्देशक, निर्माता, लेख़क और टेलीविजन होस्ट 
गृह नगरमुम्बई
शारीरिक बनावटसीना 40 इंच, कमर 34 इंच, बाइसेप्स  12 इंच  
वजन77 किलो ग्राम
ऊचाई5 फीट 9 इंच
पताकार्टर रोड, बांद्रा, मुम्बई  
सैलरी6 से 8 करोड़
कुल कमाई200 मिलियन डॉलर
धर्महिन्दू
वैवाहिक स्थितिअविवाहित
पसंदीदा अभिनेताशाहरुख़ खान, ऋषि कपूर और ह्रितिक रोशन 
पसंदीदा फ़िल्मदिलवाले दुल्हनिया ले जायेंगें
पसंदीदा खानापारसी खाना
पसंदीदा रेस्टोरेंटमुम्बई की स्टारबउस्क्स कॉफ़ी
पसंदीदा पेय पदार्थपिंक शैम्पेन और वाइन में संत एमिलिओं 

करण जौहर की शिक्षा और जन्म

करण जौहर का जन्म 25 मई 1972 में महाराष्ट्र में हुआ था।  इनके पिता का नाम यश जौहर है जो कि खुद भी निर्माता थे और माता का नाम हीरू जौहर है।  इनका कोई भी भाई-बहन नहीं जिसका अर्थ है ये अपने माता पिता के अकेले बच्चे हैं। 

शिक्षा की बात करें तो इन्होने अपनी सारी पढ़ाई महाराष्ट्र से ही पूरी की है।  मुंबई के ग्रीनवेल्स हाई स्कूल से स्कूलिंग करने के बाद इन्होने मुंबई में ही एचआर कॉलेज ऑफ कॉमर्स एंड इकोनॉमिक्स ज्वाइन कर लिया।  काफी कम लोग जानते हैं कि करण जौहर को फ्रेंच में मास्टर की डिग्री भी प्राप्त है।

करण जौहर का डेब्यू

निर्देशककुछ कुछ होता है (1998)
अभिनेतादिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे (1995)
निर्माताकल हो ना हो (2003)
टीवी अभिनेताइन्द्रधनुष (1989)

करण जौहर द्वारा किये गए कार्य

अभिनेता के रूप में किये गए कार्य 

एक अभिनेता के रूप में करण जौहर ने अपने करियर की शुरुआत 1989 में दूरदर्शन पर आने वाले सीरियल इन्द्रधनुष से की जिसमें उन्होंने श्री कांत का किरदार निभाया था।  बाद में करण ने 1995 में आयी फिल्म दिलवाले दुल्हनिया ले जायेंगे में फिल्म के लीड एक्टर शाहरुख़ खान के दोस्त के रूप में काम किया।  इस फिल्म में वो उप निर्देशक भी रह चुके हैं। 

आगे चलकर करण जौहर ने ओम शांति ओम और फैशन जैसी फिल्मों में कैमियो भी किया।  इसके बाद उन्होंने 2015 में आई फिल्म बॉम्बे वेलवेट में काम किया जो कि बॉक्स ऑफिस पर अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पायी।  हालाँकि लोग कहते हैं कि उनका क्षेत्र ना होने के बावजूद भी उन्होंने इस फिल्म में अच्छी एक्टिंग की। 

कभी ख़ुशी कभी गम में बेस्ट डायलाग के लिए करण जौहर को फिल्मफेयर अवार्ड भी नवाज़ा जा चूका है। करण जौहर कॉफ़ी विद करण नाम के शो की मेज़बानी भी करते हैं जिसमे बड़े बड़े सेलेब्रिटीज़ को बुला कर उनसे तीखे सवाल किये जाते हैं।

निर्देशक के रूप में किये गए कार्य 

करण जौहर ने निर्देशन की दुनिया में कदम 1995 में आयी दिल वाले दुल्हनिया ले जायेंगे से किया जिसमें उन्होंने आदित्य चोपड़ा के साथ सहायक निर्देशक की भूमिका निभाई।  ये फिल्म बॉक्स ऑफिस पर इतनी हिट हुई कि आज भी लोग इसको याद करते हैं। 

इसके बाद करण जोहर ने 1998  में रिलीज़ हुई फिल्म कभी कुछ कुछ होता है को पूर्ण रूप से निर्देशित किया जो की ब्लॉकबस्टर फिल्म साबित हुई।  इस फिल्म में सलमान खान, शाहरुख़ खान और काजोल जैसे बड़े बड़े कलाकारों ने काम किया। इस फिल्म को आलोचकों ने बहुत अच्छी रेटिंग्स दी। 

2001 में करण जौहर ने फिल्म कभी ख़ुशी कभी गम का निर्देशन किया जिसमें शाहरुख़ खान, ह्रितिक रोशन, अमिताभ बच्चन, काजोल और करीना कपूर जैसे बड़े बड़े कलाकारों ने अपने अभिनय से चार चाँद लगा दिए।  इस फिल्म की स्टोरी सिंपल थी पर कलाकारों की अच्छी एक्टिंग की वजह से ये फिल्म सुपर हिट साबित हुई।

निर्देशन के क्षेत्र में इस बढ़िया शुरुआत के बाद करण जौहर ने पीछे मुड़ कर नहीं देखा और बॉलीवुड को ढेर सारी हिट फिल्मों से नवाज़ा। करण जौहर को अपने निर्देशन की बदौलत बहुत सारे अवार्ड भी मिल चुके हैं। हाल  ही में उन्होंने 2016 में आई रोमांटिक फिल्म ऐ दिल है मुश्किल का निर्देशन किया है।

निर्माता के रूप में किये गए कार्य

करण जौहर शुरुआती दिनों से अपने पिता के साथ उनके कामों में हाथ बंटाते आये हैं।  लेकिन करण जौहर के पिता की मृत्यु के बाद उनके द्वारा स्थापित की गयी धर्मा प्रोडक्शंस को पूरी तरह से संभाल लिया और बहुत सारी फिल्मों में निर्देशक की भूमिका निभाई। 

ज़्यादातर करण जौहर ने निर्माता  के रूप में काम धर्मा प्रोडक्शन के अंडर ही किया है।  2012 में बनी फिल्म बॉम्बे टॉकीज़ को निर्मित वो नहीं कर पाए क्योंकि ये फिल्म एन्थोलोजी फ़िल्म ने बनाई थी।  हालांकि वो इस फिल्म के लेखक जरूर थे। 

करण जौहर ने अपने निर्माण तले बहुत सारी हिट फ़िल्में दी हैं जिनमें से कल हो न हो, 2008 में फिल्म कुर्बान और दोस्ताना, 2010 में फ़िल्म हेट लव स्टोरी को निर्मित किया और 2013 में फिल्म ‘अग्निपथ’, ‘यह जवानी है दीवानी’ और ‘गोरी तेरे प्यार में का भी करण जौहर निर्माण कर चुके हैं। 

2011 में आयी फिल्म माय नेम इज़ खान के लिए करण जौहर को बेस्ट डायरेक्टर का अवार्ड भी मिल चूका है।

कॉस्ट्यूम डिज़ाइनर के रूप में कार्य

बहुत कम लोग जानते हैं की करण जौहर ने कई फिल्मों में कॉस्ट्यूम डिज़ाइनर के रूप में भी काम किया है। शाहरुख़ खान ने भी अपनी कई फिल्मों में करण जौहर द्वारा डिज़ाइन किये गए वस्त्रों का उपयोग किया है।  इनमें से  दिलवाले दुल्हनिया ले जायेंगे, दिल तो पागल है, डुप्लीकेट, मोहब्बतें, मै हूँ ना, वीर ज़ारा और ओम शांति ओम फ़िल्में प्रमुख हैं।  

करण जौहर को 2001 में आयी मोहब्बतें फिल्म में बेहतरीन पोशाक डिज़ाइनर के लिए आईफा अवार्ड भी प्राप्त हो चूका है।

करण जौहर और उनके विवाद

करण जौहर का पहला विवाद 2012 में छिड़ा था जब उनकी फिल्म स्टूडेंट ऑफ़ दी ईयर रिलीज़ हुई थी।  इसपर रामगोपाल वर्मा ने टिप्पणी की थी जिसके बाद करण जौहर ने भी जवाब दिया था।  इसके बाद ये विवाद बढ़ गया था। 

करण जौहर की फिल्म ऐ दिल है मुश्किल के समय भी विवाद हुआ था।  उस समय अजय देवगन की फिल्म शिवाय का भी ट्रेलर आ चुका  था।  दरअसल इसपर के.आर.के ने दावा किया था कि करण जौहर ने अपनी फिल्म का अच्छा रिव्यु देने के लिए कहा है और उसे भुगतान भी किया है।  बाद में अजय देवगन ने भी दावा किया कि करण ने भुगतान किया है।

इसके अलावा करण जौहर की भाई – भतीजावाद को लेकर भी आलोचना होती रहती है।  उनपर इलज़ाम लगते रहते हैं कि वो विशेष कलाकारों के बच्चों या रिश्तेदारों को ही अपनी फिल्म में रोल देते हैं। हालाँकि इसपर करण जौहर कोई जवाब ना देना ही उचित समझते हैं। 

हाल ही में सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद करण जौहर की खूब आलोचना हुई जिसके चलते काफी समय तक वो सोशल मीडिया से दूर रहे।  सोशल मीडिया पर भी करण जौहर के आलोचकों की कमी नहीं है। पाकिस्तानी कलाकारों का समर्थन करने पर भी उन्हें राजनीतिक दल से धमकी मिल चुकी है।

करण जौहर को मिले कुछ पुरस्कार

1999कुछ कुछ होता हैबेस्ट डायरेक्टर (फ़्लीम्फेयर)
1999कुछ कुछ होता हैबेस्ट डायरेक्टर (राष्ट्रिय पुरस्कार)
2001मोहब्बतेंबेस्ट कॉस्ट्यूम डिज़ाइनर (आइफा अवार्ड्स)
2002कभी ख़ुशी कभी गमबेस्ट डायलाग (फिल्मफेयर)
2002कभी ख़ुशी कभी गमबेस्ट डायलाग (आइफा अवार्ड्स)
2004कल हो ना होबेस्ट स्टोरी (आइफा अवार्ड्स)
2011माय नेम इज़ खानबेस्ट डिरेवटर(फिल्मफेयर)
2011माय नेम इज़ खानबेस्ट डिरेवटर(आइफा अवार्ड्स)

करण जौहर के कुछ Quotes

  • सबको अपने अपने माता पिता से प्यार करना चाहिए, भाग दौड़ भरी इस ज़िंदगी में कहीं माता पिता उपेक्षित ना हो जाएँ।
  • मैं धार्मिक तो नहीं हु, पर इतना समझता हूँ कि दुनिया में धर्म को लेकर एक गलत धारणा है।
  • दो शक्तिशाली और मशहूर लोग आपस में कभी भी मित्र नहीं बन सकते।
  • मुझे ऐसा लगता है कि अपना पूरा ध्यान फिल्म बनाने में लगा देना चाहिए, बनने के बाद जितनी हो सके उतनी यात्रा तय कर ही लेता है।
  • मुझे कभी भी ऐसा नहीं लगता कि आप हर तरह से ऑडियंस को खुश रख सकते हैं।
  • मैं मिथुन राशि का हूँ जो कि वायु के बदले अनुकूल है।  अब मिथुन राशि का लाभ ये है कि मुझे एक की जगह दो मिलता है।

यह भी पढ़े

उम्मीद करते है दोस्तों

करण जौहर का जीवन परिचय जीवनी Karan Johar Biography In Hindi का यह आर्टिकल आपको पसंद आया होगा. यदि आपको करन जौहर की जीवनी के बारे में दी जानकारी पसंद आई हो तो अपने फ्रेड्स के साथ जरुर शेयर करें.

अपने विचार यहाँ लिखे