Biography of Sadhu Sitaram Das In Hindi | साधु सीताराम दास की जीवनी

Biography of Sadhu Sitaram Das In Hindi | साधु सीताराम दास की जीवनी : साधु सीताराम दास का जन्म 1884 ई में बिजौलिया में हुआ. इन्होने बिजौलिया के ठिकानों के अधीन पुस्तकालय की नौकरी की. उन्हें किसान के बीच रहकर सामन्ती शोषण और किसानों की दशा को निकट से देखने का अवसर मिला. अतः वे अपने क्षेत्र में घूम घूमकर किसानों में जाग्रति करने लगे.

Biography of Sadhu Sitaram Das In HindiBiography of Sadhu Sitaram Das In Hindi

जब बिजौलिया के राव पृथ्वीसिंह को तलवार बंधाई के रूप में महाराणा को बड़ी राशि देनी पड़ी तो उसने जनता पर तलवार बन्धी की लागत लगा दी. किसानों ने साधु सीताराम दास, फतहकरण चारण एवं ब्रह्मदेव के नेतृत्व में राव की इस कार्यवाही का विरोध किया.

फलस्वरूप राव ने साधु सीताराम दास को पुस्तकालय की नौकरी से हटा दिया. साधु सीताराम दास पूर्णरूपेण किसानों को जागृत करने के लिए समर्पित हो गये. उन्होंने हरिभाई किंकर द्वारा संचालित विद्या प्रचारणी सभा से नाता जोड़ लिया एवं उसकी एक शाखा बिजौलिया में स्थापित कर दी.

विद्या प्रचारिणी सभा के वार्षिक अधिवेशन में भाग लेने जब सीताराम चित्तोड़ पहुचे तो उनकी मुलाक़ात विजयसिंह पथिक से हुई. सीताराम ने उन्हें बिजौलिया किसान आंदोलन का नेतृत्व संभालने के लिए आमंत्रित किया, जिसे पथिकजी ने स्वीकार कर लिया. इस प्रकार साधु सीताराम दास का पूरा जीवन शोषण के विरुद्ध संघर्ष में बीता.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *